ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबीजेपी नेता के कंपनी ऑफिस में घुस कांग्रेसी नेता ने तानी रिवाल्वर, दीं गालियां, Video वायरल

बीजेपी नेता के कंपनी ऑफिस में घुस कांग्रेसी नेता ने तानी रिवाल्वर, दीं गालियां, Video वायरल

उत्तर प्रदेश् के कानपुर जिले में बीजेपी नेता के कंपनी ऑफिस में घुस कांग्रेसी नेता ने रिवाल्वर तानी। जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर गालियां दी। वसूली का प्रयास किया।

बीजेपी नेता के कंपनी ऑफिस में घुस कांग्रेसी नेता ने तानी रिवाल्वर, दीं गालियां, Video वायरल
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,कानपुरSat, 02 Mar 2024 11:46 AM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर के कल्याणपुर में साथियों के साथ लाइसेंसी रिवॉल्वर लेकर बिल्डर और भाजपा नेता के कार्यालय में पहुंचे कांग्रेसी नेता ने उसे सरेआम धमकी दी। जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर गालियां दी। वसूली का प्रयास किया। घटना सीसीटीवी में कैद हो गई शाम तक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। हिन्दुस्तान वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता। कल्याणपुर पुलिस ने फर्म के केयरटेकर की तहरीर पर कांग्रेसी नेता समेत आधा दर्जन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर की। एसीपी ने बताया अंबुज, सुयष, शुभम, ड्राइवर नदीम और सौरभ समेत पांच लोगों को हिरासत में लेकर लाइसेंसी रिवाल्वर भी पुलिस ने जब्त कर लिया है। बाद में थाने से सभी को छोड़ दिया गया। लाइसेंस निरस्तीकरण की रिपोर्ट भेजी जा रही है। अंबुज को निमोनिया हुआ था वह अस्पताल में भर्ती कराए गए थे। उसे ग्राउंड बनाकर जमानत दी गई है।

पक्षी बिहार सोसाइटी लखनपुर निवासी मनीष दिवाकर अथर्व कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के संचालक हैं। वह भाजपा नेता भी हैं। शुक्रवार को वह कुछ लोगों के साथ घर के बाहर खड़े थे। तभी कांग्रेसी नेता अंबुज का बेटा सुयष तेज स्कूटी लेकर गुजरा, विरोध करने पर कांग्रेसी नेता के बेटे ने गाली-गलौज की। मनीष का आरोप है कि दोपहर 156 बजे अंबुज शुक्ला पांच गुंडों संग ऑफिस पहुंचे।

ऑफिस चलाना है तो दो लाख रुपये महीना दो आरोपितों ने धमकी दी कि यहां ऑफिस चलाना है तो दो लाख रुपये महीना देना होगा। अंबुज शुक्ला यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष रह चुका है। सन 2017 में विधायक का चुनाव गोविंदनगर से लड़ा था। इससे पूर्व कल्याणपुर में अंबुज के खिलाफ फैक्ट्री कर्मी को बंधक बनाकर मारपीट का मामला दर्ज हुआ था।

डीसीपी वेस्ट विजय ढुल ने बताया कि आरोपित की रिवाल्वर पुलिस ने जब्त कर ली है। निरस्तीकरण के लिए रिपोर्ट शासन को भेजी जा रही है। मामले की जांच कर विधिक कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें