ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशप्रियंका उपचुनाव लड़कर लोकसभा पहुंच जाएंगी; राहुल गांधी को रायबरेली लड़ाकर कांग्रेस का बड़ा इशारा

प्रियंका उपचुनाव लड़कर लोकसभा पहुंच जाएंगी; राहुल गांधी को रायबरेली लड़ाकर कांग्रेस का बड़ा इशारा

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेता ने राहुल गांधी के रायबरेली से लोकसभा चुनाव लड़ने को मास्टरस्ट्रोक बताते हुए कहा है कि प्रियंका गांधी तो कोई भी उपचुनाव लड़कर लोकसभा पहुंच जाएंगी।

प्रियंका उपचुनाव लड़कर लोकसभा पहुंच जाएंगी; राहुल गांधी को रायबरेली लड़ाकर कांग्रेस का बड़ा इशारा
rahul gandhi priyanka gandhi
Ritesh Vermaलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊFri, 03 May 2024 12:33 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने अमेठी के बदले सोनिया गांधी की रायबरेली सीट से राहुल गांधी के लड़ने के फैसले का बचाव करते हुए इशारा किया है कि प्रियंका गांधी तो कोई भी उप-चुनाव लड़कर लोकसभा पहुंच जाएंगी। कांग्रेस ने शुक्रवार को नामांकन के आखिरी दिन अमेठी और रायबरेली के कैंडिटेट का ऐलान किया। 2019 में बीजेपी की स्मृति ईरानी से अमेठी में हार गए राहुल गांधी को इस बार रायबरेली से लड़ाया जा रहा है। अमेठी में ईरानी से गांधी परिवार की पारंपरिक सीट वापस छीनने का काम सोनिया गांधी के प्रतिनिधि किशोरी लाल शर्मा को उम्मीदवार बनाकर सौंपा गया है। इस फैसले के बचाव में सोशल मीडिया पर कांग्रेस समर्थक ये दलील दे रहे हैं कि राहुल अगर जीतकर वायनाड के लिए अमेठी छोड़ते तो स्मृति दोबारा जीत जातीं लेकिन वो रायबरेली छोड़ते हैं तो यहां से प्रियंका गांधी उपचुनाव लड़ सकती हैं।

राहुल गांधी के अमेठी छोड़ने के फैसले की सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना हो रही है। लोग स्मृति ईरानी का अमेठी से भाग गया वाला बयान याद दिला रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने भी राहुल गांधी के डरो मत बयान का जिक्र करते हुए बंगाल में कहा कि डरो मत, भागो मत। इन आलोचनाओं के जवाब में सुप्रिया श्रीनेत ने एक्स पर लिखा है- "भूलिए मत, राहुल शतरंज के माहिर खिलाड़ी हैं। उनकी एक ही चाल से BJP और उनके चरण चुंबकों को मूर्छा आ गई है। रायबरेली सिर्फ सोनिया की नहीं, इंदिरा गांधी की सीट रही है। यह विरासत नहीं ज़िम्मेदारी है, कर्तव्य है।"

BREAKING: अमेठी को गांधी का गुडबाय, राहुल रायबरेली से लड़ेंगे, स्मृति के मुकाबले कांग्रेस से केएल शर्मा

सुप्रिया ने आगे लिखा है- "अमेठी-रायबरेली ही नहीं, उत्तर से दक्षिण तक पूरा देश गांधी परिवार का गढ़ है। राहुल तो तीन बार उत्तर प्रदेश से और एक बार केरल से सांसद बन गये, लेकिन मोदी विंध्याचल से नीचे जाकर चुनाव लड़ने की हिम्मत क्यों नहीं जुटा पाये? प्रियंका धुआंधार प्रचार कर रही हैं और अकेली नरेंद्र मोदी पर भारी पड़ रही हैं। जरूरी था कि उन्हें सिर्फ अपने चुनाव तक सीमित ना रखा जाए। प्रियंका तो कोई भी उपचुनाव लड़कर सदन पहुंच जाएंगी। आज स्मृति ईरानी की यही पहचान है कि वो राहुल के ख़िलाफ़ अमेठी से चुनाव लड़ती हैं। अब स्मृति ईरानी से वो शोहरत भी छिन गई।"

डरो मत, भागो मत; राहुल गांधी के रायबरेली से चुनाव लड़ने पर पीएम मोदी का पहला अटैक

अमेठी और रायबरेली में लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 20 मई को मतदान है। दोनों सीट पर नामांकन का आज आखिरी दिन है। केएल शर्मा के नामांकन के रोड शो में कुछ देर के लिए प्रियंका गांधी गई थीं और संक्षिप्त भाषण के बाद यह कहकर रायबरेली चली गईं कि भैया के नॉमिनेशन में जाना है। रायबरेली में राहुल के नामांकन के लिए सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खरगे, अशोक गहलोत, रेवंत रेड्डी समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता पहुंचे हैं।