DA Image
25 दिसंबर, 2020|2:27|IST

अगली स्टोरी

CM योगी ने बेटी के आंसू पर लिया संज्ञान, पटाखा विक्रेता पिता को पुलिस ने छोड़ा, अफसरों ने घर जाकर दी मिठाई

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के खुर्जा मुंडाखेड़ा में गिरफ्तार किए गए पटाखा विक्रेता के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद संज्ञान लिया है। सीएम योगी के आदेश के बाद दुकानदार को छोड़ दिया गया है। इस साथ ही सीएम योगी पटाखा विक्रेता के मासूम बच्चों को सीनियर अफसरों के हाथों दिवाली का गिफ्त और मिठाई भेजवाया।

साथ ही आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है। उप-विभागीय मजिस्ट्रेट खुर्जा का कहना है कि हम नहीं चाहते थे कि बच्चे में पुलिस के प्रति आक्रोश की भावना पैदा हो। हम यह संदेश भी देना चाहते हैं कि दिवाली सिर्फ पटाखे फोड़ने के बजाय किसी के परिवार के साथ मनाई जा सकती है। वहीं मामले में एसएसपी ने संज्ञान लेते हुए पुलिसकर्मी को लाइन हाजिर किया है। 

शुक्रवार की शाम पुलिस को सूचना मिली के गांव मूड़ाखेड़ा में कुछ लोग प्रतिबंध होने के बाद भी पटाखा बेच रहे हैं। जिसके बाद पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंचकर सभी पटाखा विक्रेताओं को चेतावनी देते हुए दुकानों को बंद कराया। साथ ही पटाखा बेचने वाले 6 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इस दौरान हिरासत में लिए गए देवेंद्र उर्फ डब्बू निवासी मूडाखेड़ा की मासूम बेटी डिम्पी अपने पिता को छुड़वाने का आग्रह करने लगी। साथ ही उसने पुलिस जीप पर सिर पटक कर अपने पिता को छोड़ने की मांग की।

आरोप है कि मौके पर मौजूद हैड कांस्टेबल ब्रजवीर ने मासूम और उसके परिजनों से अभद्रता की, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। पुलिस ने पटाखा विक्रेता छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। बेटी के आग्रह पर पटाखा बेचने वाले देवेंद्र और उसके अन्य साथियों को रात में ही जमानत दे दी गई। वहीं अभद्रता का वीडियो वायरल होने के बाद एसएसपी संतोष कुमार ने हैड कांस्टेबल ब्रजवीर को लाइन हाजिर कर दिया। जिसके बाद शुक्रवार की रात दिवाली की शुभकामनाएं देने के  के लिए एसडीएम लवी त्रिपाठी और सीओ सुरेश कुमार मासूम डिम्पी के घर पहुंचे। अपने पिता को पुलिस हिरासत से मुक्त और अधिकारियों को घर देख मासूम का चेहरा खुशी से खिल गया।

इस घटना का वीडियो वायरल होते ही आला अधिकारी हरकत में आए और पटाखा बेच रहे युवक को तुरंत छोड़ने का आदेश दिया। मामला मुख्यमंत्री योगी तक पहुंचा और उन्होंने तुरंत अधिकारिकों को मिठाई लेकर उस युवक के घर जाने का आदेश दिया। मुख्यमंत्री योगी के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने ट्वीट कर जानकारी दी कि मुख्यमंत्री योगीजी बुलंदशहर की घटना को बेहद संवेदनशीलता से लेते हुए ना सिर्फ पटाखा कारोबारी को तत्काल रिहा कराया बल्कि वरिष्ठ अधिकारियों के हाथों उनके व उनकी मासूम बेटी के लिए दीपावली के उपहार व मिठाइयां भी भिजवाईं, दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ सख़्त कार्रवाई कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री का स्पष्ट निर्देश है कि पुलिस हर किसी से संवेदनशीलता से पेश आए, मुख्यमंत्री जी ने सभी वरिष्ठ अधिकारियों को रात में ही पटाखा कारोबारी के परिवार के बीच जाने के आदेश दिए,मुख्यमंत्री जी की पहल से इस परिवार की दीपावली खुशहाल और यादगार हो गई।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CM Yogi took cognizance of daughter tears police left cracker seller father officers went home and gave sweets