ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबिजली बिल को लेकर सीएम योगी का सख्त रुख, अधिकारियों को दिए ये निर्देश, कहीं ये बातें

बिजली बिल को लेकर सीएम योगी का सख्त रुख, अधिकारियों को दिए ये निर्देश, कहीं ये बातें

बिजली बिल को लेकर सीएम योगी का सख्त रुख दिखाया है। सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि हर उपभोक्ता के घर समय से और सही बिजली का बिल पहुंचाने का इंतजाम करें।

बिजली बिल को लेकर सीएम योगी का सख्त रुख, अधिकारियों को दिए ये निर्देश, कहीं ये बातें
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊSun, 23 Jun 2024 12:42 PM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिजली महकमे के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि हर उपभोक्ता के घर समय से और सही बिजली का बिल पहुंचाने का इंतजाम करें। बिजली बिल के नाम पर उपभोक्ताओं को परेशान न किया जाए। बिल जमा करने के लिए उन्हें जागरूक करें। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में स्मार्ट मीटर लगाने की गति बढ़ाने का निर्देश देते हुए कहा कि ईज आफ लिविंग के लिए यह बहुत जरूरी है। 

क्वालिटी बिजली देने पर ध्यान केंद्रित करें अधिकारी

शनिवार को बिजली विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार लोग मोबाइल का बिल नियत समय पर जमा करते हैं उसी प्रकार बिजली का बिल भी तय समय पर जमा करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया जाए। इसके लिए बिजली विभाग एक सुदृढ़ मैकेनिज्म तैयार करे। सीएम ने प्रदेश में स्मार्ट मीटर लगाने पर विशेष जोर दिया और कहा कि जनता को इसके लिए तैयार किया जाए। स्मार्ट मीटर आज की आवश्यकता है। पहले पांच साल हमनें इंफ्रास्ट्रक्चर विकास में लगाया है अब क्वालिटी पर पूरा ध्यान दिया जाए।

सही बिल के लिए मीटर रीडर को जवाबदेह बनाएं 
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि बिजली का बिल सही समय पर और बिना गड़बड़ी के हर उपभोक्ता के घरों तक पहुंचे इसके लिए मीटर रीडर को जवाबदेह बनाना जरूरी है। उपभोक्ताओं को ओटीएस के बारे में जागरूक करें, ताकि बकाया बिजली के बिल को जमा करने में मिलने वाली सहूलियतों के बारे में उसे अच्छी तरह से पता हो। मेंटेंनेंस के कारण अगर बिजली काटी जाती है तो कब और कितनी देर तक विद्युत आपूर्ति बाधित रहेगी इसकी पूर्व सूचना उपभोक्ताओं को जरूर दें। इसके लिए सोशल मीडिया का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करें।

दो साल में 30 लाख नये कनेक्शन बढ़ें
इस मौके पर अधिकारियों ने विभाग की उपलब्धियों और योजनाओं का प्रस्तुतिकरण मुख्यमंत्री के समक्ष किया। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में बिजली सप्लाई के घंटों में बढ़ोत्तरी की गई है। भीषण गर्मी के बावजूद लोकल फॉल्ट को छोड़ दें तो बीते 15 मार्च से 24 घंटे बिजली सप्लाई की जा रही है। प्रदेश में कहीं भी बिजली की कमी नहीं हुई। इस समय प्रदेश में 3.45 करोड़ बिजली कनेक्शन हैं। दो साल में 30 लाख नये कनेक्शन बढ़े हैं। ऑनलाइन सेवाओं को सुदृढ़ करते हुए लोड बढ़ाने से लेकर नाम, पता बदलने तक की सुविधा ऐप के माध्यम से दी जा रही है। 
 
प्रचंड गर्मी में 33 से 35 हजार मेगावाट तक पहुंची बिजली की मांग
मुख्यमंत्री को बताया गया कि गर्मी के मौसम में सामान्य दिनों 27 से 28 हजार मेगावॉट बिजली की मांग होती है, जबकि इन दिनों पड़ी भीषण गर्मी में मांग 33 से 35 हजार मेगावॉट तक पहुंची। प्रदेश में 5255 मेगावाट की 10 उत्पादन इकाइयों को लगाने का कार्य तेज गति से चल रहा है। इसके अलावा 5120 मेगावाट की तीन बड़ी परियोजनाएं ओबरा डी, अनपरा ई और मेजा द्वितीय पर भी काम जारी है। प्रधानमंत्री सूर्य घर परियोजना के प्रथम चरण में यूपी में 25 लाख सोलर रूफ टॉप लगने हैं। इसके लिए अबतक 16 लाख 97 हजार रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। 
 

Advertisement