ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसीएम योगी ने तीन जिलों के डीएम से मांगा जवाब, लापरवाही की शिकायतों पर सख्‍त हुई सरकार 

सीएम योगी ने तीन जिलों के डीएम से मांगा जवाब, लापरवाही की शिकायतों पर सख्‍त हुई सरकार 

UP में शीतलहर और ठंड के मद्देनजर योगी सरकार ने अलाव और कंबलों की मुकम्मल व्यवस्था करने के निर्देश पहले ही दिए हैं। प्रदेश के सभी 75 जिलों के लिए इस पर 29 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किये जा रहे हैं।

सीएम योगी ने तीन जिलों के डीएम से मांगा जवाब, लापरवाही की शिकायतों पर सख्‍त हुई सरकार 
Ajay Singhविशेष संवाददाता,लखनऊSat, 23 Dec 2023 08:49 AM
ऐप पर पढ़ें

CM Yogi Action: उत्तर प्रदेश में शीतलहर और ठंड के मद्देनजर योगी सरकार ने अलाव और कंबलों की मुकम्मल व्यवस्था करने के निर्देश पहले ही दिए हैं। प्रदेश के सभी 75 जिलों के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर इसके लिए 29 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किये जा रहे हैं। वहीं 72 जिलों में कंबलों की खरीद का काम पूरा कर लिया गया है, जबकि तीन जिलों कानपुर देहात, संभल और एटा में विलंब होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नाराजगी व्यक्त की है। सीएम के निर्देश पर तीनों जिलों के जिलाधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है। मुख्यमंत्री के स्पष्ट निर्देश है कि कहीं पर भी अलाव और कंबल की कमी ना होने पाए। साथ ही कंबल की गुणवत्ता से भी किसी प्रकार का समझौता नहीं होना चाहिए। उधर, आईजीआरएस पोर्टल की समीक्षा बैठक में लापरवाही बरतने वाले करीब आधा दर्जन अधिकारियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए सीएम योगी ने स्पष्टीकरण से लेकर निलंबन तक की कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

जिलों में कंबल वितरण और अलाव की व्यवस्था की निगरानी सीधे मुख्य सचिव स्तर पर की जा रही है। सरकार की ओर से प्रदेश के सभी 75 जिलों के लिए जहां कंबल की खरीद के लिए 27.27 करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं, वहीं अलाव के लिए 1.77 करोड़ की व्यवस्था की गई है। 20 दिसंबर तक प्रदेश में 3,30,794 कंबलों की खरीद पूरी कर ली गई है,45,293 कंबलों को वितरित भी किया गया है।

लापरवाही पर छह अफसर निलंबित होंगे
वहीं इंटीग्रेटेड ग्रीवांस रेड्रेसल सिस्टम (आईजीआरएस) की शिकायतों को गंभीरता से न लेने और निपटारे में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ योगी सरकार ने कड़ा रुख अपनाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आईजीआरएस पोर्टल की समीक्षा बैठक में लापरवाही बरतने वाले करीब आधा दर्जन अधिकारियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए स्पष्टीकरण से लेकर निलंबन तक की कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

एडीएम को स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए
मुख्यमंत्री के सचिव अमित सिंह ने बताया कि कानपुर नगर की तहसील नर्वल में शिकायतकर्ता की फाइल गायब होने के आठ माह बाद भी अपर जिलाधिकारी द्वारा तत्कालीन पेशकार अनुज त्रिपाठी पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस पर एडीएम को स्पष्टीकरण नोटिस देने के निर्देश दिए हैं। सुल्तानपुर के ग्राम सलाहपुर, ब्लॉक भदैया में खंड विकास अधिकारी को निलंबित कर विभागीय कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। वहीं कुशीनगर में सड़क को अधूरा छोड़ने की शिकायत पर बीडीओ को नोटिस जारी होगा।

सीतापुर और बिसवां के ईओ निलंबित होंगे
तहसील कादीपुर में जमीन पर लगे पेड़ों को काटकर बेचने की शिकायत के मामले में जयसिंहपुर सीओ और मोतीगढ़पुर थाना के एसआई द्वारा लापरवाही के साथ ही पोर्टल पर सतही आख्या दी गई। इस पर सीओ जयसिंहपुर को स्पष्टीकरण नोटिस देने के साथ मोतीगढ़ प्रभारी एसओ को निलंबित करने के निर्देश दिए गए हैं। जिलाधिकारी ने नगर पालिका बिसवां के अधिशासी अधिकारी विजयपाल सिंह और नगर पालिका सीतापुर के अधिशासी अधिकारी वैभव त्रिपाठी को निलंबित कर विभागीय कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें