ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसंवेदनशील सरकार होती है गरीब-कमजोर वर्ग की सुनवाई, जन सहयोग से खत्म हो रही कुरीतियां :सीएम योगी

संवेदनशील सरकार होती है गरीब-कमजोर वर्ग की सुनवाई, जन सहयोग से खत्म हो रही कुरीतियां :सीएम योगी

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में पहुंचे सीएम योगी ने कहा कि जब सरकार संवेदनशील होती है तभी गरीब-कमजोर लोगों की सुनवाई होती है। उन्हें बिना भेदभाव के सरका की योजनाओं का लाभ मिलता है।

संवेदनशील सरकार होती है गरीब-कमजोर वर्ग की सुनवाई, जन सहयोग से खत्म हो रही कुरीतियां :सीएम योगी
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,गोरखपुरSat, 09 Dec 2023 05:33 PM
ऐप पर पढ़ें

सीएम योगी आदित्यनाथ दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ आए हुए हैं। शनिवार को वह सीएम सामूहिव विवाह समारोह कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि जब सरकार संवेदनशील होती है तो गरीब-कमजोर लोगों की सुनवाई होती है। उन्हें बिना भेदभाव के पूरी पारदर्शिता के साथ शासन की योजनाओं का लाभ मिलता है। केंद्र व राज्य की डबल इंजन सरकार ऐसी ही संवेदनशील सरकार है। यह सरकार बिना भेदभाव शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ तो पहुंचा ही रही है, जन सहयोग से समाज की कुरीतियों को समाप्त करने का भी प्रयास कर रही है।  

सीएम योगी शनिवार को महंत दिग्विजयनाथ पार्क में 1500 जोड़ों के मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का कार्यक्रम डबल इंजन सरकार के प्रयासों और सामाजिक कुरीतियों पर प्रहार का आयोजन है। दहेज की कुरीति से कई गरीब परिवार विवाह के पवित्र यज्ञ से वंचित हो जाते थे। बाल विवाह से पूरी तरह छुटकारा पाने के साथ दहेज के अत्याचार को समाप्त करने की दिशा में यह आयोजन अभिनव प्रयास है। उन्होंने कहा कि हमें समाज में किसी भी ऐसी कुरीति को पनपने नहीं देना है जो समाज के विकास में बाधक हो। 

योजना के तहत अब तक हो चुके हैं तीन लाख बेटियों के हाथ पीले

सीएम ने बताया कि यूपी सरकार मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत साल 2017 से अब तक करीब तीन लाख शादियां करा चुकी है। 2017 के पूर्व प्रति जोड़े विवाह पर 31 हजार रुपये खर्च किए जाते थे जिसे बाद में बढ़ाकर 51 हजार रुपये कर दिया गया है। 

महिला सशक्तिकरण केंद्र व राज्य सरकार की प्रतिबद्धता

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है और इस निमित्त हर जरूरी कदम उठा रही है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ मातृ वंदना जैसे कई कार्यक्रम महिलाओं की सुरक्षा व प्रेरणा की दिशा में महत्वपूर्ण साबित हो रहे हैं। महिला सशक्तिकरण की दिशा में आगे बढ़ते हुए सरकार ने संसद में एक नया विधेयक भी पारित किया है। इसके अंतर्गत ग्राम पंचायत व नगर निकायों की तर्ज पर संसद व विधानसभाओं में भी महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण का लाभ प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के प्रयासों का ही परिणाम है कि उत्तर प्रदेश में 1करोड़ 75 लाख तथा देश में 9 करोड़ 60 लाख महिलाओं को उज्ज्वला योजना का लाभ मिल रहा है। अब तो इस योजना के तहत होली और दीपावली पर मुफ्त गैस सिलेंडर मिलना भी शुरू हो चुका है। उन्होंने गरीबों को मकान, शौचालय, आयुष्मान कार्ड देने की योजनाओं को उन्हें गरीबी से उबारने के साथ महिला सशक्तिकरण के अभियान का हिस्सा बताया। 

25 हजार रुपये होगी कन्या सुमंगला योजना की राशि

सीएम योगी ने कहा कि महिला सशक्तिकरण को और मजबूती देने के लिए उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत बेटी के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक 15000 रुपये का पैकेज उपलब्ध कराया जाता है। नए वित्तीय वर्ष में इसे बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दिया जाएगा। बेटी की पढ़ाई तो मुक्त होगी ही, उसके अन्य खर्चो के लिए भी इस योजना से राशि मिल जाएगी। 

सीएम योगी के नेतृत्व में यूपी बन रहा सर्वोत्तम प्रदेश : संजय निषाद

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में प्रदेश सरकार के मत्स्य विकास विभाग के मंत्री डॉ संजय निषाद ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पहले समाज के कमजोर वर्गों की चिंता किसी ने नहीं की थी। उनके द्वारा चलाई जा रही जनहित की योजनाओं का परिणाम प्रदेश के हर क्षेत्र में देखने को मिल रहा है। सीएम योगी के नेतृत्व में आज उत्तर प्रदेश सर्वोत्तम प्रदेश बन रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें