DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशकश्मीरी पंडितों की पीड़ा समझने वाले ने एक झटके में हटाया अनुच्छेद 370 : सीएम योगी

कश्मीरी पंडितों की पीड़ा समझने वाले ने एक झटके में हटाया अनुच्छेद 370 : सीएम योगी

लखनऊ | प्रमुख संवाददाताDinesh Rathour
Sun, 14 Nov 2021 11:40 PM
कश्मीरी पंडितों की पीड़ा समझने वाले ने एक झटके में हटाया अनुच्छेद 370 : सीएम योगी

मुख्यमंत्री ने कहा की 500 वर्षों तक राम मंदिर का आंदोलन चला।  हुक्मरानों तक इसकी आवाज नहीं पहुंची। कश्मीरी पंडितों की पीड़ा भी हुक्मरानों ने नहीं सुनी। जिन्होंने कश्मीरी पंडितों की पीड़ा को अपना समझा उन्होंने एक झटके में 370 हटा दिया। मुख्यमंत्री ने विरोधी दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि किस दल को मौका नहीं मिला है। सीएम योगी एनजीओ ब्राह्मण परिवार के 16वें स्थापना दिवस पर लखनऊ में कानपुर रोड पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा जब हम ब्राह्मणों की बात करते हैं, तो एक अवधारणा अपने आप सबके सामने आ जाती है।

ब्राह्मण का अर्थ है संस्कार, संस्कृति और धर्म। वे खुद पीड़ित हैं लेकिन अपने धम्र पर हमले नहीं होने देते हैं। उन्होंने आगे कहा कि ब्राह्मण सनातन धर्म के आधार हैं और उन्होंने वर्षों से संस्कृति और धर्म को संरक्षित किया है। सीएम योगी राम मंदिर निर्माण का जिक्र करते हुए कहा कि, अयोध्या के लिए मौका मिला तो राम भक्तों पर गोलियां चलवा दीं। कश्मीर में मौका मिला लेकिन कुछ नहीं किया। इस सरकार को मौका मिला मंदिर निर्माण शुरू हो गया। कश्मीर से 370 हटा दिया गया। उन्होंने कहा कि भारत तब महान बना था जब चाणक्य एक नई दिशा दे रहे थे।

उन्होंने ब्राह्मणों से कहा कि वह चाणक्य के वंशज हैं। उस काल में लोग अकबर की चाटुकारिता करते थे। लेकिन तुलसीदास जी ने कहा था कि राजा अकबर नहीं, राजा राम हैं।  अपने भाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने एक बार फिर समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश पर हमला किया। कहा, पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तुलना सरदार वल्लभ भाई पटेल से करना अनुचित है। उन्होंने कहा कि वोट बैंक की राजनीति के लिए एक राष्ट्रीय नायक की तुलना जिन्ना से नहीं की जा सकती।

ऋषियों ने दिया वसुधैव कुटुंबकम का संदेश: राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वसुधैव कुटुंबकम का संदेश भारत के ऋषि मुनियों ने दिया था। रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे देश की ऋषि परंपरा कहती है कि हम श्रेष्ठ बनें और पूरे विश्व को श्रेष्ठ बनाएं। इसी भावना से हम देश ही नहीं पूरे विश्व को अपने परिवार के समान मानते हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने यह बात रविवार को कानपुर रोड के अवस्थी लान में रविवार को आयोजित ब्राह्मण परिवार के 16 वें स्थापना दिवस समारोह में कही। राजनाथ सिंह ने समारोह में भगवान राम व परशुराम के जयकारे लगवाए। उन्होंने कहा कि वह ब्राह्मण समाज के इस कार्यक्रम में आते रहते हैं। उन्होंने ब्राह्मण समाज को स्थापना दिवस समारोह के लिए हार्दिक शुभकामनाएं दीं। साथ ही इसके संस्थापक सिंह शंकर अवस्थी को कहा कि उन्होंने बड़े मनोयोग से सभी को जोड़ा है।

माफिया, अपराधी तख्ती लेकर घूम रहे-डा.दिनेश

उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि पहले जब माफिया की सवारी निकलती थी तो थाने के दरोगा अंदर चले जाते थे। पिछली सरकारों में माफिया के कार्यालय राजनीतिक दलों के कार्यालय में बन गए थे। उन्होंने कहा जो माफिया पिछली सरकारों में डरते नहीं थे वह आज उत्तर प्रदेश छोड़ कर चले गए। माफिया, अपराधी तख्ती लेकर घूम रहे हैं कि मुझे माफी दे दो। उन्होंने कहा शीर्ष पर समाज के लोग योग्यता से आते हैं। हम अपने परिवारों के बच्चों को विदेश भेज देते हैं। विदेश के लोग यहां की संस्कृति सीखने आते है। हमने व्यवस्था बनाई है कि विदेशों के स्कूल की पढ़ाई यहां होंगी। यह प्रयोग हमने किया है। बच्चों में संस्कार डालने की जरूरत है।

हाय हेलो ने हमारे संस्कार बदल दिये हैं। पहले वृद्धा आश्रम नहीं थे। यह हमारी संस्कृति नहीं थी। पश्चात संस्कृति का प्रभाव रोकें। पहले नेता चिल्लाकर कहते थे राम मंदिर की जगह अस्पलाल बना दो। अब मौसमी राम भक्त पैदा हो गए है। जो मंदिर में दोनों हाथों से घंटे बजाना सीख रहे हैं।  ब्राह्मण भारत की मजबूती चाहता है। कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक, स्वाति सिंह, सांसद रीता बहुगुणा जोशी, विधायक सुरेश तिवारी, राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी, वीरेंद्र तिवारी, महापौर संजुक्ता भाटिया सहित तमाम नेता मौजूद थे।

ब्राह्मण समाज के कुछ विद्वानों को सम्मानित किया गया

स्थापना दिवस में ब्राह्मण समाज के कुछ विशिष्ट लोगों को सम्मानित किया गया। इसमें पूर्व आईएएस दिवाकर त्रिपाठी, त्रिवेणी अलमीरा के वरुण तिवारी, कार्डियोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ भुवन चंद्र तिवारी, कैंटोनमेंट बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष प्रमोद शर्मा, अखिलेश, लोक कलाकार उत्कृष्ट नीरज, रामेश्वर प्रसाद तथा सूर्य भान पांडेय को सम्मानित किया गया।

गरीब सवर्णों को उम्र में भी छूट देने की मांग उठी

समाज के शिव शंकर अवस्थी ने मुख्यमंत्री से गरीब सवर्णों को मिलने वाले आरक्षण में उन्हें अधिकतम आयु में भी छूट देने की मांग उठाई। उन्होंने कहा जिस प्रकार अन्य आरक्षित वर्ग के लोगों को अधिकतम आयु सीमा में छूट मिलती है उसी तरह गरीब सवर्णों को उम्र में छूट दी जाए। इसी के साथ उन्होंने मुख्यमंत्री से कैंट विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का आवाहन भी किया। हालांकि मुख्यमंत्री ने इस पर कोई जवाब नहीं दिया।
 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें