DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सीएम योगी ने रेहड़ी वालों के लिए चल रहे वैक्‍सीनेशन सेंटर का लिया जायजा, कंपैक्टर गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
उत्तर प्रदेश

सीएम योगी ने रेहड़ी वालों के लिए चल रहे वैक्‍सीनेशन सेंटर का लिया जायजा, कंपैक्टर गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

मुख्‍य संवाददाता ,गोरखपुर Published By: Ajay Singh
Thu, 17 Jun 2021 03:02 PM
सीएम योगी ने रेहड़ी वालों के लिए चल रहे वैक्‍सीनेशन सेंटर का लिया जायजा, कंपैक्टर गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने अपने गोरखपुर दौरे के दूसरे दिन गुरुवार को रेहड़ी-पटरी और दवा व्यापारियों के लिए लगे विशेष वैक्सीनेशन शिविर का निरीक्षण किया। इसके अलावा उन्‍होंने शहर में कूड़ा निस्तारण के लिए मंगाई गई 20 कंपैक्टर गाड़ियों को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया। 

इस दौरान महापौर सीताराम जायसवाल, डीआईजी डॉक्टर प्रीतिंदर सिंह, मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी, एसएसपी दिनेश कुमार पी, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, एसपी दक्षिणी अरुण कुमार सिंह, सीएमओ दिवाकर पांडेय, क्षेत्राधिकारी कोतवाली विमल कुमार सिंह सहित अन्य संबंधित मौजूद रहे। पार्षदों के साथ की बैठक इसके बाद सीएम योगी ने सर्किट हाउस के एनेक्सी भवन में मेयर और पार्षदों के साथ विभिन्न मुद्दों पर बैठक की। साथ ही कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए जरूरी दिशा निर्देश दिए।
 
इसके पहले मुख्यमंत्री योगी गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित हिंदू सेवाश्रम में जनता दर्शन में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने सभी फरियादियों की समस्याएं सुनी। इस मौके पर वहां मौजूद अधिकारियों को फटकार लगाते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि लोगों की समस्याओं का निस्तारण समयबद्ध तरीके से होना चाहिए। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

हर बार की तरह इस बार अधिकतर मामले कानून और जमीन से जुड़े हुए थे। फरियादी अपनी फरियाद लेकर सुबह से ही लाइन में लग गए थे। इसमें बुजुर्ग, युवा, महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। फरियादियों में कई लोगों की मुलाकात सीएम योगी से नहीं हो पाई इसलिए वे जरूर थोड़े निराश दिखे। हालांकि सभी लोगों के शिकायत पत्र ले लिए गए हैं। 

फरियादियों से मिले सीएम योगी 
इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में फरियादियों से मुलाकात की। योगी फरियादियों से मिलने जा रहे थे, इसी दौरान एक मौलवी ने उन्हें आवाज देकर रोक लिया। योगी रूके तो सुरक्षा कर्मियों ने मौलवी को घेर लिया। योगी ने मौलवी की तरफ मुखातिब होकर पूछा, बताएं क्या काम है। मौलवी ने कहा, आपसे गोपनीय बात करनी है। जिसपर सीएम ने कहा कि फिलहाल तो संभव नहीं है, अपनी बात लिखकर दे दें। जरूर सुनवाई होगी।

इसके बाद योगी हिन्दू सेवाश्रम में पहले से इंतजार कर रहे 70 फरियादियों से बारी-बारी मिले। इस दौरान देवरिया की भारती देवी ने अनिल कुमार आदि द्वारा अवैध कब्जा करने की शिकायत की। जिसपर सीएम ने तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया। गोरखनाथ क्षेत्र की गीताराज ने पुलिस द्वारा फर्जी मामले में उत्पीड़न करने की शिकायत की गई। वहीं जैतपुर निवासी अब्दुल गफ्फार ने बीमारी के इलाज को लेकर सीएम से सहायता मांगी। अब्दुल गफ्फार कैंसर से पीड़ित हैं। सीएम ने मातहतों को जरूरी कार्यवाही कर पत्रावली भेजने का निर्देश दिया। इसके पहले योगी ने गौशाला में गायों को गुड आदि खिलाकर दुलार किया। साथ ही मंदिर परिसर में हो रहे निर्माण कार्यों को भी देखा। राजकीय निर्माण निगम के इंजीनियरों को जल्द से जल्द काम पूरा करने का निर्देश भी दिया।

जिला पंचायत अध्यक्ष के दावेदार भी पहुंचे
मुख्यमंत्री ने गोरखनाथ मंदिर में 40 से अधिक ऐसे राजनीतिक लोगों से भी मिले जो जिला पंचायत अध्यक्ष या ब्लाक प्रमुख की दावेदारी कर रहे हैं। करीब 40 लोगों से योगी ने बारी-बारी अकेले में वार्ता की। गोरखपुर के साथ ही आसपास के जिला पंचायत सदस्यों ने भी मुख्यमंत्री से मुलाकात की। योगी ने इन सभी से फीडबैक लेकर जिला पंचायत से लेकर ब्लाक प्रमुख उम्मीदवारों की ताकत का अंदाजा भी लगाया।

संबंधित खबरें