ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशसीएम योगी ने मंच से पूछा-अपराधियों की 'छाती' पर बुल्‍डोजर चलना चाहिए कि नहीं? जानिए क्‍या मिला जवाब

सीएम योगी ने मंच से पूछा-अपराधियों की 'छाती' पर बुल्‍डोजर चलना चाहिए कि नहीं? जानिए क्‍या मिला जवाब

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपराधियों के खिलाफ अपनी सरकार की ऑपरेशन क्‍लीन नीति को लेकर सोमवार को गोरखपुर में कुछ अलग अंदाज में बात की। उन्‍होंने जनता के बीच सवाल किया कि सरकार को...

सीएम योगी ने मंच से पूछा-अपराधियों की 'छाती' पर बुल्‍डोजर चलना चाहिए कि नहीं? जानिए क्‍या मिला जवाब
मुख्‍य संवाददाता ,गोरखपुर Mon, 05 Jul 2021 06:09 PM
ऐप पर पढ़ें

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपराधियों के खिलाफ अपनी सरकार की ऑपरेशन क्‍लीन नीति को लेकर सोमवार को गोरखपुर में कुछ अलग अंदाज में बात की। उन्‍होंने जनता के बीच सवाल किया कि सरकार को अपराधियों की छाती पर बुलडोजर चलाना चाहिए कि नहीं? जनता ने हां में जवाब दिया। उन्‍होंने फिर पूछा कि सरकार की इस कार्रवाई का विरोध तो नहीं कर रहे? जनता का समर्थन तो है ना? लोगों ने हां में जवाब दिया। कुछ ने जय श्रीराम के नारे भी लगाए। इसके बाद मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सरकार अपराधियों और उपद्रवियों की संपत्ति कब्जे में लेकर उसे गरीबों में बांट रही है। सरकार का बुजडोजर अपराधियों की छाती को रौंद रहा है। हमारी सरकार में विकास भी होगा और विनाशकारी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी।

मुख्‍यमंत्री, सोमवार को राप्ती नदी के मलौनी बांध पर स्थित तरकुलानी रेगुलेटर के पास रेगुलेटर और वन निर्मित पम्पिंग स्टेशन के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने ऐलान किया कि सूबे के 50 हजार राजस्व गांवों में दिसंबर तक जल जीवन मिशन के तहत 'हर घर नल से शुद्ध पेयजल' परियोजना शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड और विंध्‍य क्षेत्र में परियोजना पर काम शुरू हो चुका है। घर-घर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी से भी निजात दिलाएगी। यह योजना गंदगी और अशुद्ध पेयजल, दोनों समस्याओं को निराकरण कर देगी।

मुख्‍यमंत्री के साथ कार्यक्रम में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। उन्‍होंने तरकुलानी में 172 करोड़ की 30 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इसके अलावा 39.65 करोड़ की 15 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया। लोकार्पित होने वाली परियोजनाओं में गोरखपुर मंडल में बाढ़ नियंत्रण की 145 करोड़ से अधिक की 10 परियोजनाएं भी शामिल रहीं। इसमें 10 सड़कें, 02 उपरगामी सेतु और 6 विद्यालय निर्माण के कार्य शामिल हैं। विकास कार्यो का उल्लेख करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कि जब डबल इंजन की सरकार होती है तो विकास कार्यो की रफ्तार कई गुना बढ़ जाती है। केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकार है। डबल इंजन की सरकार कई गुना स्पीड से लोगों के जीवन में खुशहाली ला रही है।

तरकुलानी रेगुलेटर और पम्पिंग स्टेशन से 50 परिवारों को राहत

मुख्यमंत्री ने तरकुलानी रेगुलेटर और निर्मित पंपिंग स्टेशन की आवश्यकता का उल्लेख करते हुए कहा कि 2009 में जब से यह क्षेत्र गोरखपुर संसदीय क्षेत्र में आया तब से यहां पंपिंग स्टेशन की मांग की जा रही थी। यह परियोजना 50 हजार परिवारों की 2 लाख की आबादी को बीमारी से बचाएगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज से पम्पिंग स्टेशन अपनी सेवाएं शुरू कर देगा। इसकी क्षमता यह है कि गोरखपुर के रामगढ़ताल में जितना पानी है, यह पंपिंग स्टेशन उसे एक घण्टे में उड़ेलकर फेंक देगा। तरकुलानी रेगुलेटर पर पंपिंग स्टेशन की यह परियोजना क्षेत्र में खेती को बचाने में मदद करेगी। किसान अब रबी और खरीफ दोनों फसलें ले पाएंगे। खोराबार ब्लॉक इंसेफेलाइटिस से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में शामिल रहा है। पंपिंग स्टेशन न होने से यहां जलजमाव से बीमारियां होती थीं। तरकुलानी का यह पंपिंग स्टेशन जलजमाव की समस्या का समाधान करेगा। 

अक्तूबर बाद पीएम मोदी करेंगे खाद कारखाने का लोकार्पण

सीएम योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की कि 1990 से बंद चल रहा गोरखपुर का खाद कारखाना बनकर लगभग तैयार है। अक्तूबर तक पूरी तरह बन कर तैयार हो जाएगा। उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इसका लोकार्पण कराएंगे। उन्होंने अक्तूबर में विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं वाले एम्स के भी पीएम मोदी के हाथों उद्घाटन किए जाने की जानकारी दी। गोरखपुर में विकास कार्यों को गिनाते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रामगढ़ताल कभी अपराधियों का अड्डा होता था, अब पर्यटन केंद्र बन चुका है। अपनी सुंदरता में यह मुंबई को भी फेल कर देगा। अब वहां फिल्मों की शूटिंग की जाती है।

कोरोना में मृत लोगों के प्रति संवेदना, बोले देश सुरक्षित हाथों में

सीएम ने कोरोना से अपने प्रियजनों को खोने वालों के प्रति संवेदना व्यक्त की। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश सुरक्षित स्थिति में है। 33 करोड़ की आबादी वाले विकसित देश अमेरिका में उससे चार गुना आबादी वाले भारत की तुलना में दोगुनी मौतें हुईं। सीएम ने कहा कि जीवन के साथ जीविका की रक्षा के लिए हमें जागरूकता के साथ आगे बढ़ना है। पिछला डेढ़ साल पूरी दुनिया के लिए बहुत खराब रहा। विश्व में न जाने कितने लोग कोरोना की चपेट में आए। हमने कोरोना से जीवन के साथ जीविका को भी बचाया। कोरोना काल में भी विकास पर, नौजवानों के भविष्य पर आंच नहीं आने दी।

रेगुलेटर से 47 गांवों को मिली सौगात

बाढ़ के पानी से 47 गांवों को बचाने के लिए रेगुलेटर का विस्तार और पंपिंग स्टेशन बनवाने के लिए योगी आदित्यनाथ ने सांसद रहते हुए संघर्ष किया था। 2017 में मुख्यमंत्री बने तो तीन माह बाद ही केंद्रीय जल आयोग से इसकी स्वीकृति दिलाई। 1 फरवरी 2018 से निर्माण कार्य शुरू कराया और सोमवार को करीब 85 करोड़ की लागत से बने इस पंपिंग स्टेशन का लोकार्पण कर दिया। क्षेत्र की 838 हेक्टेयर कृषि भूमि इससे लाभान्वित होगी। एक सीजन में जलमग्न रहने वाली भूमि पर किसान अब दोनों सीजन की फसलों को उगा सकेंगे। तरकुलानी रेगुलेटर प्रोजेक्ट के तहत निर्मित पंपिंग स्टेशन में 11 अदद 30 क्यूसेक पंप, 3 अदद 10 क्यूसेक पंप, 5 अदद 625 केवीए डीजल जेनरेटर सेट और सक्शन टैंक की व्यवस्था है। इसके फीडर चैनल की लंबाई 280 मीटर है।