ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशआगरा यूनिवर्सिटी में जमकर हुआ बवाल, पुलिस के सामने ही कर्मचारी और छात्रों के बीच चले लाठी-डंडे

आगरा यूनिवर्सिटी में जमकर हुआ बवाल, पुलिस के सामने ही कर्मचारी और छात्रों के बीच चले लाठी-डंडे

डॉ. भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी आगरा में बुधवार को जमकर बवाल हुआ। छात्र और कर्मचारी आपस में भिड़ गए। विश्वविद्यालय के एक कर्मचारी को छात्रों के एक गुट ने लाठी-डंडों से पीट दिया।

आगरा यूनिवर्सिटी में जमकर हुआ बवाल, पुलिस के सामने ही कर्मचारी और छात्रों के बीच चले लाठी-डंडे
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,आगराThu, 25 Jan 2024 08:11 PM
ऐप पर पढ़ें

आगरा के डॉ. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी जमकर बवाल होने के मामला सामने आया है। बुधवार को छात्र और कर्मचारी आपस में भिड़ गए। विश्वविद्यालय के एक कर्मचारी को छात्रों के एक गुट ने लाठी-डंडों से पीट दिया। इसके अलावा एक छात्र की भी बेरहमी से पिटाई की गई जिससे वह घायल हो गया। घटना के बाद छात्र की ओर से विवि के कर्मचारियों पर मुकदमा दर्ज करा दिया गया। इसमें पांच कर्मचारियों को नामजद किया गया है। 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मुकदमा लिखा गया है। वहीं, घटना के बाद विवि प्रशासन ने चुप्पी साध ली है। कैंपस के अंदर हुई घटना पर कोई बोलने के लिए तैयार नहीं हुआ। 

विश्वविद्यालय कर्मचारी आशीष कुमार के अनुसार पटल पर काम कर रहा था। इसी दौरान प्रशांत और योगेंद्र नाम के छात्र मार्क्सशीट बनवाने आए। छात्रों से थोड़ा इंतजार करने के लिए कहा गया, तो वह अभद्रता करने लगे। इसकी शिकायत करने जब उप कुलसचिव कार्यालय में गया, तो वहां पर पहले से 15-20 लडके मौजूद थे। उन्होंने फिर से उसके साथ मारपीट की। कुछ समय के बाद जब विवि के बाहर निकला तो वहां घेर लिया। बचने के लिए अंदर भागा तो छात्र लाठी-डंडों के साथ कैंपस में आ गए। वहां पर बुरी तरह से पीटने लगे।

इस घटना की सूचना मिलने पर विवि में भारी संख्या में पुलिस पहुंच गयी। कुलसचिव कार्यालय में डीसीपी सिटी सूरज राय भी पहुंच गए। इस दौरान कर्मचारियों ने कैंपस के अंदर आशीष कुमार पर हुए हमले का विरोध दर्ज कराया। 

मार्क्सशीट लेने गए तो कर्मचारियों ने घेर का पीटा
 
राजा की मंडी के रहने वाले प्रशांत यादव की ओर से दी गयी तहरीर में कहा गया है कि वह बड़े भाई योगेंद्र वर्मा के साथ एलएलबी तृतीय वर्ष की मार्क्सशीट लेने गया था। पटल पर मौजूद आशीष ने इंतजार करने को कहा। काफी देर इंतजार के बाद जब मार्क्सशीट नहीं मिली तो इसकी शिकायत डिप्टी रजिस्ट्रार पवन कुमार से किया गया। इस पर उन्होंने भी कर्मचारी को जल्दी मार्क्सशीट देने के लिए कहा। लगभग चार बजे जब फिर आशीष से अंकतालिका मांगी गई तो उसने अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर जानलेवा हमला कर दिया। लाठी-डंडे और लोहे की रोड से बुरी तरह मारा। जिससे दो छात्रों को चोटे आई।

 प्रशांत ने बताया कि उसने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी। कुछ देर में पुलिस आ गई और फिर विवि के कर्मचारियों ने पुलिस के साथ भी उलझने लगे। किसी तरह पुलिस वालों ने उनकी जान बचाई। वह सभी लोगों ने जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि अब अगर दोबारा विवि परिसर के अंदर आए तो जिंदा यहीं गाड़ दिये जाओगे। 

कर्मचारी को लाठी-डंडों से पीटने का वीडियो वायरल 

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में हुई घटना का एक वीडियो वायरल हो गया। वीडियो में दर्जनों छात्रों के द्वारा एक व्यक्ति को पीटा जा रहा है। विवि कर्मचारियों के अनुसार एक छात्र संगठन के पदाधिकारियों की ओर से कर्मचारी आशीष को पीटा गया है। वीडियो में छात्र कर्मचारी को लाठी-डंडों से पीटते हुए नजर आ रहे हैं। कर्मचारी पर दो छात्र डंडे चला रहे हैं और उसे लात-घूंसों से पीटा जा रहा है। इस दौरान कुछ कर्मचारी आशीष को बचाने की कोशिश भी करते नजर आ रहे हैं।

पुलिसकर्मियों के सामने पीटा गया कर्मचारी 

वायरल हुए वीडियों में कर्मचारी को पीटते हुए छात्र दिखायी दे रहे हैं। इस दौरान दो पुलिसकर्मी भी वहां मौजूद दिखायी दे रहे है। पुलिसकर्मी घटना की वीडियो बना रहा है। वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि छात्रों का गुट पुलिसकर्मी के साथ भी धक्कामुक्की करता है। इसके बाद वीडियो ना बनाने के लिए कुछ छात्र कहते दिख रहे हैं और इसके साथ ही फोन पर हाथ मारते भी देखे जा सकते हैं। घटना के बाद विवि कर्मचारियों का भी आरोप था की उनके साथी को पुलिस की मौजूदगी में लाठी-डंडों से पीटा गया है। 

इस मामले में इंस्पेक्टर देवेंद्र दुबे ने बताया कि छात्र प्रशांत यादव की ओर से तहरीर दी गयी है। तहरीर के आधार पर विवि कर्मचारी आशीष, आनंद टाइटलर, विशालदीप, निखिल चौधरी, अमित चौधरी गार्ड, आसू और 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा लिखा गया है। मुकदमे के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। विवि या फिर किसी कर्मचारी की ओर से कोई तहरीर नहीं दी गयी है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें