ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में बेहतर होगी सिटी बस सेवा, जानें योगी सरकार का प्लान

यूपी में बेहतर होगी सिटी बस सेवा, जानें योगी सरकार का प्लान

यूपी में सिटी बस सेवा बेहतर होगी। योगी सरकार शहरी परिवहन सुविधा को और बेहतर बनाने के लिए ‘मेरी बस मेरी सड़क’ थीम पर काम शुरू कराने जा रही है।

यूपी में बेहतर होगी सिटी बस सेवा, जानें योगी सरकार का प्लान
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊThu, 20 Jun 2024 07:29 AM
ऐप पर पढ़ें

राज्य सरकार शहरी परिवहन सुविधा को और बेहतर बनाने के लिए ‘मेरी बस मेरी सड़क’ थीम पर काम शुरू कराने जा रही है। नगर विकास विभाग द्वारा निजी कंपनियों के सहयोग से कराए गए अध्ययन के मुताबिक प्रदेश के 26 शहरों में वर्ष 2031 तक रोजाना 60 लाख यात्रियों को सुविधा देने के लिए 12 हजार नगरीय बसों की जरूरत होगी। इनमें अधिकतर इलेक्ट्रिक बसों को चलाए जाने का सुझाव दिया गया है।

नगरीय परिवहन निदेशालय ने यूनाइटेड स्टेटस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डवलपमेंट (यूएएसएआईडी) और काउंसिल ऑन एनर्जी एनवायरमेंट एंड वॉटर (सीईईडब्ल्यू) के साथ मिलकर बुधवार को मेरी बस मेरी सड़क पहल की शुरुआत की। इसका मकसद प्रदेश में नगरीय परिवहन को प्रोत्साहित किया जाना है। नगरीय परिवहन निदेशालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान शहरी परिवहन की जरूरतों पर किए गए अध्ययन रिपोर्ट को प्रस्तुत किया गया।

निदेशक नगरीय परिवहन राजेंद्र पेंसिया ने कहा कि आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए कार्यस्थलों तक आने-जाने के लिए एक सुगम परिवहन की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश के 26 प्रमुख शहरों में 2031 तक आवश्यक बसों की संख्या, बस स्टॉप और फुटपाथ जैसे आधारभूत ढांचे की जरूरत होगी। सीएनजी बसों की तुलना में ई-बसें 23.32 प्रतिशत तक सस्ती होंगी और प्रदूषण में भी कमी आएगी। बसों की बेहतर सुविधा से 40 लाख लोग दोपहिया और तिपहिया वाहनों की जगह बसों पर सफर करना पसंद कर सकते हैं।

सौमित्र दास एनवायरनमेंट यूएसएआईडी ने कहा कि मेरी बस मेरी सड़क प्रदेश में नगरीय आवागमन को उन्नत बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। डा. हिमानी जैन ने कहा कि वर्ष 2047 तक भारत की शहरी आबादी दोगुनी होकर 80 करोड़ से ज्यादा होने का अनुमान है। जैसे-जैसे शहर आर्थिक विकास के इंजन बन रहे हैं, उन्हें  सुरक्षित और आरामदायक आवागमन की सुविधा की जरूरत होगी। इस मौके पर बरेली, शाहजहांपुर, अयोध्या, अलीगढ़ के नगर आयुक्त आदि उपस्थित रहे।