DA Image
10 अगस्त, 2020|1:48|IST

अगली स्टोरी

CAA Protest: उत्तर प्रदेश में 17 मौत, 59 पुलिसवालों को लगी गोली, 705 गिरफ्तार, 21 जिलों में इंटरनेट बाधित

photos  protests against cab  army deployed curfew imposed and flights suspended

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में शनिवार को भी कई जगह उग्र प्रदर्शन हुए। रामपुर में हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई। कानपुर में उग्र भीड़ ने भारी तोड़फोड़ और आगजनी करते हुए पुलिस चौकी फूंक दी। कानपुर में उपद्रवियों की गोली से दो सिपाही घायल हो गए। अमरोहा में हिरासत में प्रदर्शनकारी की मौत की अफवाह फैलने के बाद भीड़ ने दो बाइकों को आग के हवाले कर दिया।  

इस बीच आईजी कानून व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि हिंसक घटनाओं में गुरुवार से अब तक 15 लोगों की मौत हुई है। इसमें मेरठ के चार, फिरोजाबाद, कानपुर, संभल व बिजनौर के दो-दो तथा लखनऊ, रामपुर व मुजफ्फरनगर के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। वहीं मेरठ और फिरोजाबाद में शनिवार को एक-एक शव और बरामद हुए। इससे मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 17 हो गई है।

उपद्रवियों के हमले में 265 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। इनमें 59 को गोली लगी है। उपद्रव के सिलसिले में प्रदेश में दर्ज किए गए कुल 124 मुकदमों में 705 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रदेश के 21 जिलों में इंटरनेट सेवाएं बाधित हैं।

कानपुर में शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन के दौरान दो लोगों की मौत के बाद शनिवार को दोपहर तक शांति रही। इसके बाद माहौल अचानक तनावपूर्ण हो गया और यतीमखाना चौराहे पर जुटी हजारों की भीड़ उग्र हो गई। भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया तो जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसके बाद भीड़ ने बेकनगंज थाने की यतीमखाना पुलिस चौकी फूंक दी। स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस ने उपद्रवियों पर आंसू गैस के गोले दागे और हवाई फायरिंग की। भीड़ ने भी पुलिस पर पथराव और तमंचों से फायरिंग की। पुलिस ने सपा विधायक अमिताभ बाजपेई और हाजी इरफान सोलंकी को हिरासत में ले लिया है। 

रामपुर में शनिवार को भीड़ ने जगह-जगह पुलिस पर पथराव किया। इसमें एक दर्जन पुलिस वाले घायल हो गए। हाथीखाना इलाके में उपद्रवियों ने भोट थाने की एक जीप के साथ ही छह बाइक फूंक दी। हिंसक भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने रबर के बुलेट और आंसू गैस के गोले छोड़े। बवाल के दौरान कोतवाली निवासी 26 युवक की गोली लगने से मौत हो गई। घायलों को अस्पताल भेजा गया है। परिजन पुलिस की गोली से युवक की मौत का आरोप लगा रहे हैं जबकि पुलिस ने गोली चलाने से इनकार किया है।

अमरोहा में भी दूसरे दिन हिरासत में एक युवक की मौत की अफवाह पर जमकर बवाल हुआ। लोगों ने कई जगह पुलिस पर पथराव किया और एक दरोगा की बाइक फूंक दी। मुरादाबाद और संभल में शनिवार को तनावपूर्ण शांति रही। कई इलाकों में बाजार खुले लेकिन लोगों की आमद कम ही रही।

राजधानी लखनऊ के चौक में अकबरी गेट इलाके में लोगों ने सड़क पर आकर विरोध प्रदर्शन किया। वे लखनऊ में गुरुवार को हुए उपद्रव में एक युवक को हिरासत में लिए जाने का विरोध कर रहे थे। शनिवार को उस युवक के पकड़े जाते ही लोग दुकानें बंद करके नारेबाजी करने लगे। दो घंटे की मान-मनौवल के बाद लोगों को शांत कराया जा सका। इसी तरह शनिवार को दिन भर शांत रहा मेरठ शाम को फिर गरमा गया। सैकड़ों की भीड़ अहमदनगर कांच का पुल पर सड़क पर उतर आई और नारेबाजी करने लगी। पुलिस ने किसी तरह समझा बुझाकर उन्हें शांत कराया। 

सुलगता रहा कानपुर

कानपुर में शुक्रवार को हुए बवाल में गोली लगने से मरने वालों को मुआवजे सहित कई मांगों को लेकर शुरू हुआ प्रदर्शन शनिवार को अचानक हिंसक हो गया। यतीमखाना पर जुटी भीड़ ने परेड की ओर बढ़ने का प्रयास किया। पुलिस ने कड़ाई से उन्हें रोका तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया। अचानक पेट्रोल बमों से हमला शुरू हो गया। इसी बीच कुछ उपद्रवियों ने यतीमखाना पुलिस चौकी में आग लगा दी जिससे वहां खड़ीं पुलिस की दो कारें और दो बाइकें जल गईं। बवाल के दौरान की गई फायरिंग में जहां दो सिपाहियों को गोली लगी है वहीं एक सिपाही और सीओ पथराव में घायल हो गए। पुलिस ने किसी तरह से भीड़ को खदेड़ा और बिजली काट दी। इसके बाद भी खबर लिखे जाने तक बवाल जारी था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:citizenship amendment act protest in uttar pradesh live updates 17 killed 59 policemen shot injured 705 arrested internet disrupted in 21 districts