अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपीः अपने ही पैसे की मिठाई खाकर बच्चे मनाएंगे स्वतंत्रता दिवस

सांकेतिक तस्वीर

स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियों में जुटे सरकारी स्कूलों के पास बच्चों को बांटने के लिए लड्डू तक का बजट नहीं है। माध्यमिक स्कूलों में बच्चों से फीस के रूप में लिए गए रुपयों से ही लड्डू बांटा जाएगा। तो वहीं परिषदीय स्कूलों के बच्चे ग्राम प्रधान और हेडमास्टर की कृपा से बंटने वाले लड्डू खाकर जश्न-ए-आजादी मनाएंगे।

राजकीय विद्यालयों में कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों से जलपान के मद में प्रतिवर्ष 10 रुपये लिए जाते हैं। इसी पैसे से 15 अगस्त और 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व मनाया जाता है। प्रधानाचार्यों की मानें तो इस मद में मिलने वाले रुपये पूरे नहीं पड़ते। इसलिए अभिभावक शिक्षक संघ (पीटीए) फंड का इस्तेमाल कर लेते हैं। पीटीए का पैसा भी बच्चे ही देते हैं।

दुस्साहसः पहले पति को लाठी-डंडों से पीट बनाया बंधक, फिर पत्नी से किया गैंगरेप
राजकीय विद्यालयों से बदतर स्थिति तो सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों की है। वहां भी पीटीए, गेम्स, रेड क्रास आदि मद के रुपयों से हर साल मिठाई बांटी जाती है। इन सभी मदों के लिए स्कूल में कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों से पैसे लिए जाते हैं। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों के लिए राष्ट्रीय पर्व मनाने का कोई बजट नहीं है।

ग्रामीण इलाके के स्कूलों में ग्राम प्रधान या प्रधानाध्यापक अपने स्तर से मिठाई का इंतजाम करते हैं। कई हेडमास्टर राष्ट्रीय पर्व के लिए अपने जेब से रुपये खर्च करते हैं। कुछ स्कूलों में मिड-डे-मील के कर्न्वजन कास्ट के रूप में मिले रुपये से मिष्ठान वितरित की जाती है।

जिला विद्यालय निरीक्षक आरएन विश्वकर्मा के मुताबिक, राजकीय व एडेड कॉलेजों में स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस मनाने के लिए अलग से कोई बजट नहीं है। लेकिन जलपान, पीटीए, कन्टीजेंसी, गेम्स, रेड क्रास या रिक्रिएशन मद से मिष्ठान वितरण व अन्य खर्च किए जा सकते हैं। इस पर कोई रोक नहीं है।

उत्तर प्रदेशः कानपुर रूट की ट्रेनें लेट नहीं होंगी

वहीं बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा के अनुसार, परिषदीय स्कूलों में राष्ट्रीय पर्वों को मनाने के लिए अलग से कोई बजट नहीं है। लेकिन विकास मद का जो रुपया जाता है उसी से हेडमास्टर खर्च करते हैं।

पहले निकालेंगे प्रभात फेरी, फिर फहराएंगे तिरंगा
परिषदीय स्कूल के बच्चे 15 अगस्त को पहले प्रभात फेरी निकालेंगे और फिर स्कूलों में झंडारोहण होगा। बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को पत्र लिखकर भव्यता पूर्वक स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाने के निर्देश दिए हैं। आयोजन की कड़ी में सबसे पहले बच्चे सुबह 6.30 बजे प्रभात फेरी निकालेंगे। 8.20 बजे झंडारोहण के बाद देशभक्ति पर आधारित नाटक, विचार गोष्ठी, वाद-विवाद, प्रदर्शनी, निबंध लेखन, पेंटिंग आदि प्रतियोगिताएं कराई जाएंगी। 10.30 बजे सरकार की विभिन्न योजनाओं जैसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छता मिशन, नमामि गंगे आदि से जुड़े कार्यक्रम होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:children will celebrates independence day 2018 with the sweets purchased by their own money