Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशश्रमिकों ने कोरोना काल में 25 करोड़ आबादी को बचाने का काम किया : सीएम योगी

श्रमिकों ने कोरोना काल में 25 करोड़ आबादी को बचाने का काम किया : सीएम योगी

लखनऊ। प्रमुख संवाददाताDinesh Rathour
Sat, 05 Jun 2021 11:46 PM
श्रमिकों ने कोरोना काल में 25 करोड़ आबादी को बचाने का काम किया : सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार श्रमिकों के हितों की रक्षा करते हुए प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है। श्रमिकों ने स्वयं के जीवन को दांव पर रखकर प्रदेश की 25 करोड़ आबादी को बचाने का काम किया है। जब प्रदेश में कोरोना का पहला मामला आया था, तब हमारे यहां जांच की सुविधा नहीं थी। श्रमिकों की मेहनत का परिणाम है कि राज्य में नई प्रयोगशालाएं स्थापित हुईं। प्रदेश में आज साढ़े तीन लाख से चार लाख कोरोना टेस्ट रोजाना किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को भारतीय मजदूर संघ के 35वें त्रैवार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन सत्र को वर्चुअल संबोधित करते हुए कहा कि दत्तोपंत ठेंगड़ी ने भारतीय मजदूर संघ की स्थापना की। भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों ने सदैव सकारात्मक सोच रखी है, जिसका परिणाम है कि भारत कोरोना कालखंड में भी सभी चुनौतियों से जूझते हुए एक नई दिशा की ओर अग्रसर हुआ।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपनों को साकार करने में भारतीय मजदूर संघ से जुड़े श्रमिकों के परिश्रम व पुरुषार्थ का उल्लेखनीय योगदान है। 

वर्ष 2020 में 25 मार्च को पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था। किसान का अहित न हो इसके लिए भारतीय मजदूर संघ ने पूरा सहयोग किया और प्रदेश की सभी 119 चीनी मिलों को सफलतापूर्वक संचालित करने में सहयोग किया।कोरोना कालखंड में एक चुनौती थी कि पीपीई किट, सेनेटाइजर और एन-95 मास्क की कमी को कैसे पूरा किया जाए। भारतीय मजदूर संघ ने इनमें रुचि लेकर काम किया। प्रदेश में नई लैब बनाना, बॉयो सेफ्टी व बॉयो वेस्ट के कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का काम श्रमिकों के परिश्रम से संभव हुआ।

उन्होंने कहा कि श्रमिकों के कल्याण व उत्थान के लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं। आंशिक कोरोना कफ्र्यू के दौरान प्रदेश सरकार ने सभी उद्योग-धंधों को संचालित कराया। पिछले साल 54 लाख श्रमिकों व कामगारों को राशन, भरण-पोषण भत्ता उपलब्ध कराया गया। दुर्भाग्यवश किसी श्रमिक की दुर्घटना में मृत्यु या दिव्यांगता होने पर दो लाख रुपये के सुरक्षा बीमा कवर और पांच लाख रुपये तक के स्वास्थ्य बीमा कवर की व्यवस्था की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रदेश के सभी जरूरतमन्दों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। प्रदेश सरकार द्वारा हर जरूरतमन्द को जून, जुलाई व अगस्त माह का मुफ्त राशन उपलब्ध करा रही है। श्रमिक, कामगार, स्ट्रीट वेंडर जैसे रोजाना कमाकर जीविका चलाने वाले लोगों को इस वर्ष भी भरण-पोषण भत्ता दिया जा रहा है।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें