ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशदिनभर चौकी में डील, इंस्पेक्टर को पता ही नहीं; गैंगस्टर के साथ मिलकर हनी ट्रैप गिरोह चलाने वाला चौकी इंचार्ज और सिपाही सस्पेंड

दिनभर चौकी में डील, इंस्पेक्टर को पता ही नहीं; गैंगस्टर के साथ मिलकर हनी ट्रैप गिरोह चलाने वाला चौकी इंचार्ज और सिपाही सस्पेंड

बरेली में चौकी इंचार्ज और सिपाही गैंगस्टर यूट्यूबर और एक नाबालिग लड़की के साथ मिलकर हनी ट्रैप गिरोह चला रहा था। जानकारी होने पर एसपी ने रिपोर्ट दर्ज कराने का आदेश देते हुए दोनों को सस्पेंड कर दिया।

दिनभर चौकी में डील, इंस्पेक्टर को पता ही नहीं; गैंगस्टर के साथ मिलकर हनी ट्रैप गिरोह चलाने वाला चौकी इंचार्ज और सिपाही सस्पेंड
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,बरेलीMon, 26 Feb 2024 03:09 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के बरेली में पुलिस की हरकतें एक बार फिर सवालों के घेरे में हैं। दरअसल किला चौकी इंचार्ज और सिपाही, तीन यूट्यबर और एक नाबालिग लड़की के साथ मिलकर हनी ट्रैप गिरोह चला रहे थे। शनिवार शाम इस गिरोह ने रामपुर के बेकरी कारोबारी को एक होटल में बुलाकर चंगुल में फंसा लिया। फिर उसे ब्लैकमेल करने लगे और चौकी पर लाकर मामला रफादफा करने के लिए सात लाख रुपये मांगे गए। देर रात मामला खुला तो चौकी इंचार्ज, सिपाही, तीनों यूट्यूबर और लड़की के खिलाफ थाना किला में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। रविवार को एसएसपी ने चौकी इंचार्ज व सिपाही को सस्पेंड कर दिया।

परसाखेड़ा में बेकरी संचालित करने वाले मुस्तकीम मूलरूप से रामपुर में रहते हैं। मुस्तकीम ने बताया कि शनिवार को खुद को पत्रकार बताने वाले यूट्यूबर नावेद, आजाद और चांद अल्वी उनके पास आए। तीनों ने एक लड़की से मिलाने की बात कही और दो हजार रुपये ले गए। शनिवार को अपराह्न करीब साढ़े 11 बजे आरोपियों ने उन्हें मिनी बाईपास पर एक होटल में बुलाया। वहां एक नाबालिग लड़की से मुलाकात कराई। इसी बीच लड़की ने किला चौकी इंचार्ज सौरभ और सिपाही कालेंद्र को बुला लिया।

कुछ ही देर में तीनों यूट्यूबर नावेद, आजाद और चांद अल्वी पहुंच गए और ब्लैकमेल करने लगे। फिर उन्हें चौकी ले गए और धमकी देते हुए सात लाख रुपये मांगे। पूरे दिन सौदेबाजी होती रही। इंस्पेक्टर को रात में जानकारी हुई तो उन्होंने चौकी इंचार्ज सौरभ को फोन किया। इस पर सौरभ ने लड़की से रेप होने और आरोपी को पकड़ने की कहानी बताई। जब इंस्पेक्टर ने इस बारे में उन्हें न बताने पर सवाल किया तो वह कोई जवाब नहीं दे सका। इसके बाद चौकी इंचार्ज लड़की और मुस्तकीम को लेकर थाने पहुंचे।

सात लाख की डिमांड के बाद कई घंटे तक सौदेबाजी चली और ढाई लाख में बात तय हो गई। इसी बीच मौका पाकर मुस्कीम चौकी से भाग निकले। उनकी बाइक चौकी पर ही खड़ा करा ली गई। घर जाकर उन्होंने पत्नी को सच्चाई बताई। फिर रात में वह लोग थाना किला पहुंचे और इंस्पेक्टर हरेंद्र सिंह को पूरा घटनाक्रम बताया। उन्होंने उच्च अधिकारियों को जानकारी दी तो कुछ ही देर में एसपी सिटी राहुल भाटी थाने पहुंच गए और सभी के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद चौकी इंचार्ज सौरभ, सिपाही कालेंद्र, यूट्यूबर नावेद, आजाद, चांद अल्वी और लड़की के खिलाफ साजिश रचने और रंगदारी मांगने की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।

लड़की ने खोला पूरा खेल

थाने में लड़की से पूछताछ हुई उसने एक दोस्त को भाई बताकर थाने बुला लिया। खुद को इंटर पास बताकर मां-बाप से नहीं बताने को कहा। पुलिस ने सख्ती की तो उसने बताया कि नावेद ने ही मुस्तकीम को फंसाने की योजना बताई थी। वह पैसों के लालच में आकर फंस गई और उसे इस काम के बदले दो हजार रुपये दिए गए। उसने बताया कि चौकी इंचार्ज और सिपाही भी नावेद, आजाद  से मिले हुए थे। वे लोग मुस्तकीम को ब्लैकमेल करके मोटी रकम लेने की योजना बना रहे थे।

यूट्यूबर पर दर्ज है गैंगस्टर समेत कई मुकदमे

यूट्यूबर आजाद पर गैंगस्टर समेत कई मुकदमे दर्ज हैं। इज्जतनगर में एक स्कूल के प्रिंसिपल ने भी उसके खिलाफ 50 हजार की रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज कराया था। गोकशी में वांछित करणी सेना के पूर्व जिलाध्यक्ष राहुल ठाकुर का उसे साथी बताया गया था। मामले में वांछित होने के बावजूद किला चौकी इंचार्ज सौरभ उससे दोस्ती निभाकर ब्लैकमेलिंग कर रहा था।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें