ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबदलती अयोध्या: रामजन्म भूमि के बाद अब थाना हनुमानगढ़ी भी बनेगा, क्या है तैयारी

बदलती अयोध्या: रामजन्म भूमि के बाद अब थाना हनुमानगढ़ी भी बनेगा, क्या है तैयारी

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के पहले जुड़वां शहरों में पांच नए पुलिस थाना स्थापित करने की योजना पर शासन में मंथन जारी है। इन थानों में सबसे प्रमुख हनुमानगढ़ी थाना है।

बदलती अयोध्या: रामजन्म भूमि के बाद अब थाना हनुमानगढ़ी भी बनेगा, क्या है तैयारी
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,अयोध्याTue, 28 Nov 2023 06:34 AM
ऐप पर पढ़ें

रामलला के नवीन विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा के पहले जुड़वां शहरों में पांच नए पुलिस थाना स्थापित करने की योजना पर शासन में मंथन जारी है। श्रीरामजन्म भूमि की स्थाई सुरक्षा समिति ने जिला स्तरीय समिति की संस्तुति को अनुमोदित कर शासन को प्रेषित कर दिया है। इन थानों में सबसे प्रमुख हनुमानगढ़ी थाना है। इसके पहले यहां श्रीरामजन्म भूमि थाना पहले से कार्यरत हैं। इस थाना के अन्तर्गत कटरा पुलिस चौकी पर ही हनुमानगढ़ी व कनक भवन समेत रामकोट के अन्य मंदिरों की सुरक्षा व्यवस्था का भार है। वह भी तब जबकि अयोध्या आने वाले लाखों श्रद्धालु हर साप्ताहिक, पाक्षिक व मासिक पर्वों पर यहां अनिवार्य रूप से दर्शन करते हैं।

 इस बारे में आईजी प्रवीण कुमार का कहना है कि एक थाना के लिए 50 हजार की आबादी का मानक निर्धारित है। वहीं हनुमानगढ़ी की धार्मिक मान्यता के लिहाज से देखें तो हनुमानगढ़ी के आसपास की आबादी से अलग हनुमानगढ़ी में दर्शनार्थियों की संख्या ही दो लाख है।  इसके दृष्टिगत सुझाव दिया गया है।  हनुमानगढ़ी थाना अयोध्या कोतवाली की जगह खोला जाएगा जबकि कोतवाली यलो जोन कंट्रोल रूम के बगल नये भवन में शिफ्ट होगा जो कि सरयू तट पर कोरियाई महारानी हो के स्मारक के बगल निर्माणाधीन है। उधर कोतवाली नगर का भी दायरा बढ़ा है । उसके चलते सुरक्षा व्यवस्था को रिव्यू करना जरूरी हो गया है। 

अयोध्या कोतवाली व दर्शन नगर के बीच सीमा का बंटवारे में रेलवे लाइन होगा आधार:
कोतवाली नगर पर सुरक्षा व्यवस्था का बढ़ते दबाव को कम करने और अपराध पर अंकुश के साथ आबादी के मानक के साथ समन्वय के लिए बड़ी देवकाली व सहादतगंज को थाना बनाने का प्रस्ताव किया गया है। सहादतगंज थाना बन जाने पर कैण्ट थाना का भार कम होगा और ट्रैफिक की सबसे बड़ी समस्या का भी निवारण होगा। उधर अयोध्या कोतवाली और दर्शन नगर थाना के बीच सीमा निर्धारण के लिए रेलवे लाइन को आधार बनाने का भी प्रस्ताव है जिससे आकस्मिक घटना के दौरान फोर्स के आवागमन में बांधा न हो। इसी तरह से भविष्य में तकनीक आधारित अपराध नियंत्रण के लिए साइबर थाना की भी भूमिका महत्वपूर्ण होगी।