DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2015 के पीसीएस अफसरों पर सीबीआई की नजर

cbi arrested cbec officers

लोक सेवा आयोग की भर्तियों में भ्रष्टाचार की शिकायतों की जांच कर रही सीबीआई पीसीएस परीक्षा-2015 में चयनित अभ्यर्थियों से एक बार फिर पूछताछ करेगी। यह पूछताछ पीसीएस-2015 में हुई अनियमितता पर सीबीआई की ओर से पांच मई को दर्ज कराई गई एफआईआर के संदर्भ में क्रिमिनल प्रोसीडिंग के तहत की जाएगी।

सीबीआई अफसरों को नोटिस भेजने की तैयारी कर रही है। यह पूछताछ पीसीएस 2015 में चयनित होकर प्रदेश के विभिन्न जिलों में एसडीएम, डिप्टी एसपी सहित अन्य पदों पर तैनात उन अफसरों से होगी जिनके मॉडरेशन में नंबर बढ़े हैं। सीबीआई उन्हें भी तलब करेगी, जिन्होंने पीसीएस-2015 की कॉपियों में यूनिक फीचर (निशान) बनाए थे। 

बता दें कि सीबीआई की ओर से पांच मई को दर्ज कराई गई एफआईआर में कहा गया है कि पीसीएस-2015 मुख्य परीक्षा के अनिवार्य विषय हिन्दी और निबंध के मॉडरेशन में अनियमितता कर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करते हुए कुछ अभ्यर्थियों के 21 से 28 नंबर तक बढ़ाए और कुछ के 15 से 20 नंबर तक कम किए गए हैं।

एफआईआर में इस बात का भी उल्लेख है कि कुछ अभ्यर्थियों ने कॉपियों में यूनिक फीचर बनाए थे। यह निशान पहचान के लिए बनाए गए थे। आरोप है कि आयोग के अफसरों और परीक्षकों ने भ्रष्टाचार की नीयत से इस पहचान को नजरअंदाज कर ऐसे अभ्यर्थियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

सीबीआई पिछले माह पीसीएस-2015 के चयनित अभ्यर्थियों से पूछताछ कर चुकी है। हर रोज दस-दस चयनित अफसरों को सीबीआई कैंप कार्यालय में बुलाकर पूछताछ हुई थी। इसके लिए सीबीआई ने बकायदा प्रश्नोत्तरी तैयार की थी। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक अप्रैल में इनसे सामान्य पूछताछ हुई थी लेकिन अब क्रिमिनल प्रोसीडिंग के तहत पूछताछ की जाएगी।

जुलाई में तैयार हो जाएंगे तीन पक्के घाट
 

गंगा और यमुना के तट पर तीन पक्के घाट जुलाई तक तैयार कर लिए जाएंगे। कुम्भ मेले के पहले शहरियों को पक्के घाट का तोहफा दिया जाएगा। सिंचाई विभाग ने घाटों के निर्माण का काम शुरू कर दिया है। 

मेले के मद्देनजर शहर में काफी काम चल रहा है। इसी क्रम में तीन जगह पक्के घाटों का निर्माण होना है। यमुना बैंक रोड पर मौजगिरि आश्रम के पास एक घाट का निर्माण होगा तो दूसरा घाट छतनाग झूंसी और तीसरा इससे एक किलोमीटर आगे नागेश्वर घाट होगा। विभाग की ओर से प्रत्येक घाट के लिए लगभग तीन करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित है जिसे शासन से मंजूरी मिल चुकी है। इसका कुछ हिस्सा सिंचाई विभाग के खाते में आ भी चुका है। सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता मनोज सिंह का कहना है कि काम शुरू कर दिया गया है। जुलाई तक सभी घाटों का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। कुम्भ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को इससे सुविधा होगी। 

सीढ़ियां और प्लेटफॉर्म बनेंगे
सभी घाटों पर सीढ़ियां और प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा। इस वक्त घाटों के समतलीकरण का काम चल रहा है। इसके बाद निर्माण का काम शुरू किया जाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CBI eyes over PCS officers of 2015