DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुन्देलखण्ड देश के विकास का केंद्र बनेगा : योगी

झांसी में सोमवार को रक्षा मंत्री निर्मला सातारमण का स्वागत करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्

महारानी लक्ष्मीबाई के किले की तलहटी से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुन्देलखण्ड के विकास की नई इबारत लिखी। उन्होंने ऐलान किया बुन्देलखण्ड प्रदेश ही नहीं केंद्र की प्राथमिकता में भी है। डिफेंस कॉरीडोर, फूड प्रोसेसिंग पार्क और रेल कारखाना लगते ही यहां का परिदृश्य बदल जाएगा। विकास के साथ-साथ बुन्देलखंडियों को अपने घर में ही रोजगार मिलेगा। क्राफ्ट मेला ग्राउंड में आयोजित जनसभा के बाद सीएम ने 116.56 करोड़ रुपये की 37 परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया। सभा को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ ही केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भी संबोधित किया। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड में ऊर्जा एवं प्रतिभा की कमी नहीं है। पिछले 14 सालों की सरकारों ने यहां की ऊर्जा एवं प्रतिभा पर ध्यान दिया होता तो शायद युवाओं का पलायन न होता। उनके एजेंडे विकास, गरीबी, किसान, नवजवान के अलावा महिला सुरक्षा था ही नहीं। मोदी सरकार ने देश में विकास एवं सुशासन का नजरिया दिया है। किसान शासन सत्ता के एजेंडे का हिस्सा बन गया है।उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड के विकास को लेकर यूपी इन्वेस्टर समिटि में 4,068 लाख करोड़ के निवेश के प्रस्तावों पर हस्ताक्षर हुए हैं। पहली बार 55 हजार करोड़ के प्रस्तावों पर क्रियान्वयन भी शुरू हो गया है। इससे 135 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे का काम अंतिम चरण में है। औद्योगिक गलियारा बनने से बुन्देलखण्ड में विकास को गति मिलेगी तो फूड प्रोसेसिंग पार्क से किसानों की आय दोगनी होगी।
रक्षा मंत्री बोलीं, खाली हाथ नहीं आई हूं
इससे पूर्व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि वह बुन्देलखण्ड खाली हाथ नहीं आई हूं। यहां प्रधानमंत्री की सौगात डिफेंस कॉरिडोर आपके सुपुर्द करने आयी हूं। इस कॉरिडोर से बुन्देलखण्ड के विकास को नई दिशा मिलेगी। छोटे-छोटे उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और नवजवानों को रोजगार। उन्होंने माह के अंदर इस के अंतर्गत आयोजित होने वाली प्रतियोगिता के जरिए एक प्रश्न के जबाव पर अवार्ड दिए जाएंगे और जनता के सुझाव भी आमंत्रित किए जाएंगे। लोग स्वयं उत्पादन करेंगे और उत्पादित सामान खरीदने के लिए डिफ्रेंस कॉरीडोर प्लेटफार्म बनेगा। 
उमा बोलीं, बुन्देलखण्ड तरक्की करेगा
केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा, आने वाले तीन सालों में बुन्देलखण्ड पिछड़ों में नहीं, बल्कि प्रदेश के अग्रणी हिस्से में शामिल हो जाएगा। बुन्देलखण्ड के लोग चापलूस और साजिश नहीं बल्कि मेहनतकश हैं। बुन्देलखण्ड अलग राज्य के निर्माण पर उन्होंने कहा, सीमा रेखांकन में मध्य प्रदेश को आपत्ति है। यदि मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश के लोग सीमा रेखांकित कर लें तो बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण आयोग के गठन का प्रस्ताव मैं खुद पीएम के समक्ष रख दूं। जमसभा में बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जयसवाल, राज्य मंत्री मन्नूलाल कोरी, जालौन सांसद भानूप्रताप वर्मा, सदर विधायक रवि शर्मा, बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा, गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत, मऊरानीपुर विधायक बिहारी लाल आर्य, जिलाध्यक्ष संजय दुबे, महानगर अध्यक्ष प्रदीप सरावगी समेत कई भाजपा नेता मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bundelkhand will become the center of development for the country: Yogi