DA Image
8 मई, 2021|12:04|IST

अगली स्टोरी

युवक के सिर में धंसी थी गोली, गिट्टी बताकर बांधी पट्टी

किसी के सिर में गोली लगी हो और अस्पताल का कंपाउंडर यह कहकर मरहम पट्टी कर दे कि सिर में गिट्टी धंसी है। यह सुनने और पढ़ने में हैरतअंगेज लगेगा, पर ऐसा एक मामला रामनगर में सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक चंदौली के चकिया निवासी संतोष यादव को 27 दिसंबर की रात कुछ लोगों ने सिर में गोली मारकर साहूपुरी इलाके में फेक दिया था। कुछ ग्रामीणों ने उसे देखा और अलीनगर पुलिस को फोन किया। पुलिस ने घायल संतोष को अलीनगर के राजकीय महिला अस्पताल पहुंचाया। वहां उस समय सिर्फ कंपाउंडर था। घायल को देखकर उसने बताया कि सिर में गिट्टी धंस गई है और दवा लगाने के बाद पट्टी बांध दी। इस बीच संतोष की हालत खराब होने लगी तो उसे बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। वहां सीटी स्कैन होने पर पता चला कि सिर में गोली धंसी है। यह सुनते ही परिवार के लोग सन्न रह गए।

संतोष की पत्नी गीता यादव ने इसके बाद रामनगर थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। गीता के मुताबिक संतोष मौजूदा समय में साहित्यनाका में रहता है। उसने जमालपुर में बच्चों को पढ़ाने के लिए कोचिंग खोली है। 27 दिसम्बर की रात आठ बजे कोचिंग बंद कर घर लौट रहा था, तभी चारपहिया वाहन सवारों ने उसे उठा लिया। इसके बाद यह घटना हुई। उधर संतोष का ट्रॉमा सेंटर में 12 जनवरी तक इलाज चला और फिर उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। संतोष का कहना है कि उसे जमीन के विवाद के चलते गोली मारी गई।

एक घटना में तीन थानों का चक्कर
संतोष की पत्नी गीता को न्याय के लिए तीन थानों का चक्कर काटना पड़ रहा है। बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती होने के दौरान गीता ने लंका थाने पर तहरीर दी। लंका पुलिस ने घटनास्थल अलीनगर थाना बताया। जब अलीनगर थाने गई तो वहां की पुलिस ने रामनगर का मामला बता दिया। अब रामनगर पुलिस इस घटना से इनकार कर रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bullet was in young man head doctors said stone injury bandage