ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के इस शहर में फिर चला बुलडोजर, जेसीबी ने दुकानों को तोड़कर ढहाया, अब मकानों की बारी?

यूपी के इस शहर में फिर चला बुलडोजर, जेसीबी ने दुकानों को तोड़कर ढहाया, अब मकानों की बारी?

यूपी के शाहजहांपुर जिले के खुदागंज में बुलडोजर एक्शन जारी है। तीसरे दिन भी यहां जेसीबी से दुकानों को तोड़कर उन्हें ढहा दिया गया। हालांकि अब कुछ मकानों को भी गिराया जाना हैं जो राष्ट्रीय राजमार्ग...

यूपी के इस शहर में फिर चला बुलडोजर, जेसीबी ने दुकानों को तोड़कर ढहाया, अब मकानों की बारी?
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान,शाहजहांपुर। खुदागंज। Sat, 17 Feb 2024 03:49 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के शाहजहांपुर जिले के खुदागंज में बुलडोजर एक्शन जारी है। तीसरे दिन भी यहां जेसीबी से दुकानों को तोड़कर उन्हें ढहा दिया गया। हालांकि अब कुछ मकानों को भी गिराया जाना हैं जो राष्ट्रीय राजमार्ग में के चौड़ीकरण में बाधक बने हैं, लेकिन भवन स्वामियों ने प्रशासन के सामने मुआवजे की मांग रख दी है। इन लोगों का कहना है कि जब तक उन्हें मुआवजा नहीं मिलता तब तक वह अपनी दुकान और मकानों को नहीं तोड़ेंगे और न ही तोड़ने देंगे। दरअसल मध्यप्रदेश के भिंड से लेकर पीलीभीत तक राष्ट्रीय राजमार्ग 730 का चौड़ीकरण होना है। इस कार्य में संस्कृत महाविद्यालय की कुछ दुकानें बाध बनी थीं, जिन्हें शुक्रवार को बुल्डोजर से तोड़ दिया गया। यह दुकानें 20 साल से विवादित थीं, अब ढहाने के बाद विवाद भी लगभग समाप्त हो गया। 

मध्य प्रदेश के भिंड से जलालाबाद, कटरा, खुदागंज होते हुए पीलीभीत तक राष्ट्रीय राजमार्ग 730 के चौड़ीकरण निर्माण कराया जाएगा। गुरुवार को तिलहर के नायब तहसीलदार मनु माथुर, एनएचएआई टीम एवं पुलिस बल मौके पर पहुंचे थे, विगत दो दिनों से लगातार संस्कृत महाविद्यालय में निर्मित दुकानों को जेसीबी द्वारा तोड़ा जा रहा है, जो लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को भी निरंतर जारी रहा, मार्ग चौड़ीकरण में बाधक दुकानों एवं मकानों के स्वामियों से पूर्व में ही अपनी अपनी बिल्डिंग हटा लेने को कहा गया था, जिसकी अंतिम तिथि 13 फरवरी बताई गई थी, यदि इस अवधि में कोई अपना मकान या दुकान स्वामी मार्ग में बाधा उत्पन्न करता है तो प्रशासन उसे स्वयं निपटेगा।

विगत सोमवार को व्यापार मंडल अध्यक्ष एवं कई भवन स्वामियों ने जिलाधिकारी से मुआवजा को लेकर मुलाकात की थी, मकान स्वामियों का कहना है कि यदि उन्हें मुआवजा नहीं मिला तो वह न्यायालय के शरण में जाकर मुआवजे की मांग करेंगे एवं मुआवजा से पूर्व वह दुकान एवं मकान नहीं हटाएंगे। वहीं कुछ व्यापारियों के द्वारा अपनी दुकान व मकान स्वयं तोड़े जाने लगे हैं।

गोरखपुर में भी चला बुलडोजर

गोरखपुर विकास प्राधिकरण की परियोजना खोराबार टाउनशिप एवं मेडिसिटी में शुक्रवार को अवैध निर्माण पर बुलडोजर चला। कड़ी सुरक्षा के बीच जंगल सीकरी उर्फ खोराबार एवं सुबा बाजार की अधिग्रहीत भूमि पर किए गए अवैध निर्माण तोड़े गए। इस दौरान ग्रामीणों ने प्रतिरोध भी किया, लेकिन भारी पुलिस बल के समक्ष उनकी एक नहीं चली। अभियान के दौरान डॉ. अश्वनी अग्रवाल की बाउण्ड्रीवाल, सत्यवीर यादव का सीमेंट गोदाम, अनुपम जायसवाल की पौधशाला की बाउण्ड्रीवाल एवं मुर्गी फार्म की बाउण्ड्रीवाल समेत 15 एकड़ से अतिक्रमण हटाकर भूमि को खाली कराया गया। तकरीबन 2.50 एकड़ में चल रहे मुर्गी फार्म की बाउण्ड्रीवाल तोड़ दी गई। इस दौरान लगभग 400 वर्ग मीटर मे बने मुर्गी शेड को दो दिन के अंदर खाली करने का वक्त दिया गया। शेड के अतिरिक्त समस्त भूमि से अतिक्रमण हटा दिया गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें