DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुलंदशहर हिंसा: फौजी जीतू को स्याना लेकर पहुंची STF, इंस्पेक्टर की हत्या में माना जा रहा अहम

बुलंदशहर हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या में सबसे अहम माने जा रहे फौजी जितेंद्र उर्फ जीतू को लेकर रविवार की सुबह एसटीएफ की टीम स्याना कोतवाली पहुंची।

Army soldier Jeetu and Inspector Subodh Kumar

बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (Subodh Kumar Singh) की हत्या में सबसे अहम माने जा रहे फौजी जितेंद्र उर्फ जीतू को लेकर रविवार की सुबह एसटीएफ की टीम स्याना कोतवाली पहुंची। 

3 दिसंबर को स्याना कोतवाली के गांव महाव में गोकशी के बाद हिंसा हो गई थी, जिसमें स्याना पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और चिंगरावठी गांव के युवक सुमितकी गोली लगने से मौत हुई थी। इस मामले में एसआई सुभाष चंद्र ने थाना कोतवाली में 27 नामजद और 50- 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। 

ये भी पढ़ें: बुलंदशहर हिंसा: फौजी जीतू पर इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारने का शक, गिरफ्तार

नामजदों में बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज और जीतू फौजी निवासी गांव महाव भी शामिल है। जीतू फौजी जम्मू कश्मीर में कारगिल में तैनात बताया गया था और हिंसा के समय छुट्टी पर गांव आया हुआ था। हिंसा के बाद जीतू फौजी 3 दिसंबर को अपनी ड्यूटी पर चला गया था। परिजनों ने बताया था कि उसे 4 दिसंबर ड्यूटी ज्वाइन करनी थी। 

हिंसा की एक वीडियो को देखकर पुलिस का कहना था कि जो युवक इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के पास नजर आ रहा है वह जीतू फौजी है। इसलिए पुलिस का शक यह गहराया कि सुबोध कुमार सिंह की हत्या में जीतू फौजी का हाथ हो सकता । इसको लेकर एसटीएफ और पुलिस टीम जीतू फौजी को हिरासत में लेने के लिए जम्मू कश्मीर गई हुई थी। 

ये भी पढ़ें: बुलंदशहर हिंसा: पहले इंस्पेक्टर सुबोध को मारी गई गाली या सुमित को, सवाल कायम

रविवार की सुबह जीतू फौजी को लेकर एसटीएफ और पुलिस की टीम स्याना कोतवाली पहुंची हैं, जहां पर जीतू फौजी से एसटीएफ, एसआईटी और क्राइम ब्रांच की पुलिस टीमें अलग अलग सघन पूछताछ करेंगी। जीतू फौजी से पूछताछ के बाद ही इस मामले में अहम खुलासा होने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि, उधर जीतू फौजी का भाई धर्मेंद्र फौजी, उसकी पत्नी प्रियंका और मां रतन कौर ने जीतू फौजी को झूठा फंसाए जाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्हें उम्मीद है मुख्यमंत्री और सेनाध्यक्ष जीतू फौजी को फंसने नहीं देंगे। जीतू फौजी पूरी तरह से निर्दोष है। अभी पुलिस अधिकारी इस बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bulandshahr violence update soldier jeetu reached syana by stf