ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशछत्तीसगढ़, एमपी और तेलंगाना में नहीं खुला बसपा का खाता, राजस्थान में दो सीटों पर मिली जीत

छत्तीसगढ़, एमपी और तेलंगाना में नहीं खुला बसपा का खाता, राजस्थान में दो सीटों पर मिली जीत

चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में बसपा का प्रदर्शन निराशजनक है। पार्टी ने छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में खाता तक नहीं खोल पाई है। जबकि राजस्थान में सिर्फ 2 सीट जीतने में कामयाब हो पाई है।

छत्तीसगढ़, एमपी और तेलंगाना में नहीं खुला बसपा का खाता, राजस्थान में दो सीटों पर मिली जीत
Pawan Kumar Sharmaएचटी,लखनऊSun, 03 Dec 2023 09:38 PM
ऐप पर पढ़ें

चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम सामने आ चुके हैं। जिसमें से तीन राज्यों में बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जीत हासिल की है। जबकि एक राज्य में कांग्रेस ने अपना परचम लहराया है। दूसरी ओर चार राज्यों में बसपा की निराशजनक हार हुई है। मायावती की पार्टी छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में खाता भी नहीं खोल पाई। बस उसे राजस्थान के दो सीटों पर जीत मिली है।  

मायवाती की बसपा को इस बार छत्तीसगढ़ में 2.09%, राजस्थान में 1.82%, मध्य प्रदेश में 3.32% और तेलंगाना में 1.38% वोट मिले, जो कि 2018 की तुलना में बहुत खराब है। जबकि राजस्थान की सादुलपुर और बारी ऐसी सीट है जहां से बसपा को जीत मिली है। बता दें बसपा को 2018 में राजस्थान में 4.03% वोट मिले थे। वहीं छह विधानसभा की सीटें मिली थीं।  वहीं मध्य प्रदेश में  5.01% वोटों के साथ दो सीटें मिली थीं। इसके अलावा छत्तीसगढ़ में, उसे 2018 में 3.87% वोटों के साथ दो सीटों पर जीत मिली थी। 

2018 के तेलंगाना विधानसभा चुनाव में बसपा ने 106 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे। लेकिन तब वह एक भी सीट नहीं जीत पाई। वहीं 2014 के विधानसभा चुनाव में दो सीटों पर जीत हासिल की थी। जबकि उस समय राज्य में टीआरएस की लहर थी। 

एमपी और छत्तीसगढ़ में बसपा का जीजीपी के साथ गठबंधन

बसपा ने इस साल अकेले अपने बलबूते पर चुनाव लड़ने की बात की थी। लेकिन चुनाव आयोग की घोषणा के बाद मायावती ने मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया। लेकिन इसके बावजूद चुनाव परिणाम बसपा के पक्ष में नहीं गया है। पार्टी के राष्ट्रीय समन्वयक और अभियान का नेतृत्व करने वाले मायावती के भतीजे आकाश आनंद ने यहां तक कह दिया था कि राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में बसपा तीसरे मोर्चे के रूप में उभरेगी।

मोबाइल फोन से लेकर वॉशिंग मशीन देने का वादा

बसपा ने तेलंगाना के लिए अपना विधानसभा चुनाव घोषणापत्र जारी किया था। जिसमें युवाओं को नौकरी, गरीबों को जमीन, बेघरों को घर, महिलाओं को नौकरियों में आरक्षण के साथ-साथ फ्री वॉशिंग मशीन और स्मार्टफोन देने का वादा किया था। मायावती ने पार्टी उम्मीदवारों के समर्थन में राजस्थान और मध्य प्रदेश में आठ-आठ और छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में दो-दो रैलियों को संबोधित किया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें