DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बसपा हवा-हवाई नेताओं को नहीं देगी टिकट, मायावती की ये हैं प्राथमिकताएं
उत्तर प्रदेश

बसपा हवा-हवाई नेताओं को नहीं देगी टिकट, मायावती की ये हैं प्राथमिकताएं

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Deep Pandey
Mon, 20 Sep 2021 07:49 AM
बसपा हवा-हवाई नेताओं को नहीं देगी टिकट, मायावती की ये हैं प्राथमिकताएं

बसपा सुप्रीमो मायावती इन दिनों मंडलीय बैठकें कर संगठन की समीक्षा कर रही हैं। बूथ स्तर तक बनने वाले संगठन में युवाओं के साथ महिलाओं को शामिल करने पर विशेष जोर देने को कहा है। इन दोनों वर्गों का एक ऐसा समूह तैयार करने का निर्देश दिया है जो विधानसभा चुनाव में बसपा को जीत दिलाने का काम करेंगे। बसपा सुप्रीमो ने 15 अक्तूबर तक हर हाल में संगठन के गठन का काम पूरा करने का निर्देश दिया है।

मायावती ने मंडलावर बैठकों के दौरान संगठन गठन के साथ के साथ ही उम्मीदवारों के नामों पर भी विचार-विर्मश कर रही हैं। इस बार उसे ही उम्मीदवार बनाया जाएगा जो दागी नहीं है। इसके साथ ही क्षेत्र में उनका रिकार्ड ठीक होगा। स्थानीय नेताओं को ही उम्मीदवार बनाए जाने में प्राथमिकता दी जाएगी। बसपा के एक नेता के मुताबिक इस बार हवा-हवाई नेताओं को टिकट न देने पर सहमति बनी है। बसपा सुप्रीमो ने सेक्टर प्रभारियों को साफ निर्देश दिया है कि बाहरी लोगों का नाम भेजने से परहेज किया जाए। स्थानीय नेताओं को टिकट देने से दो फायदा होगा। पहला स्थानीय स्तर पर उनकी पकड़ से वोट मिलेगा और दूसरा विपक्षी बाहरी होने का आरोप नहीं लगा पाएंगे।

लापरवाही करने वालों को संगठन से हटाएं

सूत्रों का कहना है कि मंडलीय बैठक के दौरान सेक्टर प्रभारियों को यह भी निर्देश दिया गया है कि संगठन में कर्मठ और ईमानदार लोगों को रखा जाए। लापरवाह और गैर जिम्मेदार लोगों को जिम्मेदारी देने से बचा जाए। बसपा कॉडर आधारित पार्टी है और इसके दम पर वह कई बार सत्ता में आ चुकी है। इसलिए इस बार ऐसे लोगों से दूरी बना कर चला जाए तो केवल अपना हित साधने के लिए जुड़ते हैं। पुराने लोगों को आगे बढ़ाया जाए। कॉडर के पुराने लोगों को सलाह मशविरा किया जाए, जिससे चुनाव के दौरान उनके अनुभवों का लाभ लिया जा सके।
 

संबंधित खबरें