ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश2024 के लिए नए सिर से रणनीति तैयार कर रही बसपा, आरक्षित सीटों को फतेह करने के लिए चलेगी कॉडर कार्ड की चाल

2024 के लिए नए सिर से रणनीति तैयार कर रही बसपा, आरक्षित सीटों को फतेह करने के लिए चलेगी कॉडर कार्ड की चाल

बसपा लोकसभा चुनाव-2024 में बेहतर प्रदर्शन के लिए नए सिरे से रणनीति तैयार कर रही है। इस बार उसकी नजर आरक्षित वर्ग की 17 सीटों पर है। बसपा ने पिछली बार नगीना व लालगंज दो सीटें जीती थी।

2024 के लिए नए सिर से रणनीति तैयार कर रही बसपा, आरक्षित सीटों को फतेह करने के लिए चलेगी कॉडर कार्ड की चाल
Dinesh Rathourविशेष संवाददाता,लखनऊSun, 19 Nov 2023 07:39 PM
ऐप पर पढ़ें

बसपा लोकसभा चुनाव-2024 में बेहतर प्रदर्शन के लिए नए सिरे से रणनीति तैयार कर रही है। इस बार उसकी नजर आरक्षित वर्ग की 17 सीटों पर है। बसपा ने पिछली बार नगीना व लालगंज दो सीटें जीती थी और अधिकतर सीटों पर कम अंतर से हारी थी। इसीलिए इस बार कॉडर के अंदर से उम्मीदवारों की तलाश की जा रही है। यूपी में लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं। इनमें से 17 सीटें आरक्षित हैं। यह माना जाता है कि बसपा के पास दलितों का अच्छा-खासा वोट बैंक है। बसपा वर्ष 2019 में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर 38 सीटों पर चुनाव लड़ी थी। इसमें से 10 सीटें जीती थी। बसपा पिछले चुनाव की अपेक्षा इस बार बेहतर प्रदर्शन की रणनीति तैयार कर रही है। उसका मानना है कि कॉडर वोट बैंक के साथ मुस्लिमों और पिछड़ों ने साथ दिया था तो परिणाम उसके पक्ष में आएंगे।

मायावती मौजूदा समय देश के पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव में व्यस्त हैं। इसके बाद भी खाली समय में मंडलवार बैठकें कर रही हैं। इन बैठकों में वह लोकसभा चुनाव की तैयारियों की लागतार समीक्षा कर रही है। उन्होंने मंडल प्रभारियों को उम्मीदवारों के चयन का निर्देश दे दिया है। आरक्षित सीटों पर मंडल प्रभारियों को लगातार कैंप करने का निर्देश दिया गया है। इन सीटों के लिए कॉडर के पुराने नेताओं की उम्मीदवारी तय करने को कहा गया है। इसके आधार पर ही पैनल तैयार करने को कहा गया है।

आरक्षित सीटों की स्थिति वर्ष 2019

नगीना बसपा गिरीश चंद्रा, बुलंदशहर भाजपा भोला सिंह, हाथरस भाजपा राजवीर, आगरा भाजपा सत्यपाल सिंह बघेल, शाहजहांपुर भाजपा अरुण कुमार सागर, हरदोई भाजपा जय प्रकाश चुनाव जीते थे। मिश्रिख भाजपा अशोक कुमार रावत जीते। इसके पहले वह बसपा के टिकट पर 2004 व 2009 में भी जीत चुके हैं। बसपा इस सीट पर तीन बार 1998, 2004 व 2009 में जीत चुकी है। मोहनलालगंज भाजपा के कौशल किशोर, इटावा डा. रमाशंकर कठेरिया, बसपा 1991 में यह जीत चुकी है। जालौन भानु प्रताप सिंह वर्मा बसपा यहां 1999 में चुनाव जीत चुकी है।

कौशांबी भाजपा विद्या सागर सोनकर, बाराबंकी भाजपा उपेंद्र सिंह रावत, बसपा यहां पर 2004 में चुनाव जीत चुकी है, बहराइच भाजपा अक्ष्यवर लाल बसपा 1998 में जीत चुकी है, बासगांव भाजपा कमलेश पासवान जीते। लालगंज बसपा संगीता आजाद जीती। इसके पहले 1996, 1999 और 2009 में चुनाव जीत चुकी है। मछलीशहर भाजपा बीपी सरोज बसपा 2004 में चुनाव जीत चुकी है। राबर्ट्सगंज अपना दल 2019 में जीती। बसपा 2004 में जीत चुकी है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें