DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र का दावा, ब्राह्मण जिसके साथ, उसको मिलती है यूपी की सत्ता 
उत्तर प्रदेश

बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र का दावा, ब्राह्मण जिसके साथ, उसको मिलती है यूपी की सत्ता 

अम्बेडकरनगर संवाददाताPublished By: Dinesh Rathour
Sun, 25 Jul 2021 11:02 PM
बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र का दावा, ब्राह्मण जिसके साथ, उसको मिलती है यूपी की सत्ता 

बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र दूसरे दिन भी जिले में मौजूद रहे। दलित-ब्राह्मण गठजोड़ के लिए प्रबुद्ध वर्ग की गोष्ठियों का दौर रविवार को जारी रखा। जिला मुख्यालय नगर अकबरपुर और आलापुर विधानसभा के बिशुनपुर बसजहां गांव में प्रबुद्ध गोष्ठियों को सम्बोधित किया। इस दौरान भाजपा और सपा को ब्राह्मण विरोधी बताते हुए दोनों दलों पर हमलावर रहे। अकबरपुर नगर के शिवाय लॉन में पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय की ओर से आयोजित प्रबुद्ध वर्ग के सम्मेलन में बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र ने पहले भगवान राम और परशुराम को और इसके बाद काशीराम व भीम को नमन किया। सतीश चंद्र मिश्र ने कहा कि कहा कि भाजपा के हाथ में सत्ता की चाबी है और उसका दुरुपयोग हो रहा है। कहा कि सत्ता का दुरुप्रयोग का दलितों और ब्राह्मणों का उत्पीड़न किया जा रहा है।

कहा कि सभी को सर्व समाज के साथ अपने समाज के बारे में सोचना चाहिए। यहीं हमारे साथ पूर्व मंत्री नकुल दूबे, सांसद रितेश पांडेय, पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय कर रहे है। इसके लिए सत्ता की चाबी हमारे हाथ में आनी चाहिए। सपा सरकार की तरह भाजपा सरकार में हो उत्पीड़न से निजात पाने के लिए विप्र समाज से बसपा के साथ आने का आह्वान किया। कहा कि इतिहास गवाह है कि प्रदेश में ब्राह्मण जिधर गया प्रदेश में उसी की सरकार बनी है। कहा कि 2007 में संगम नगरी से ब्राह्मण उठकर बसपा के साथ आया और बहन मायावती की अगुवाई में पूर्ण बहुमत की सरकार बनी। इसबार अयोध्या से बसपा के साथ खड़ा होने का ब्राह्मणों ने संकल्प लिया है और साल 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा का जाना तय है। 

चरण धोने पर भी माफ नहीं करेगा ब्राह्मण: नकुल

शिवाय लॉन में सतीश चन्द्र मिश्र का पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय ने तिलक लगाकर अगवानी और अंग वस्त्र ओढ़ाकर स्वागत किया। सतीश चन्द्र मिश्र के पहले पूर्व मंत्री नकुल दूबे ने कहा कि बसपा के हुंकार भरते ही सपा और भाजपा में खलबली मच गई है। नकुल दूबे ने कहा बसपा के अयोध्या से हुंकार भरते ही सपा और भाजपा दोनों दल ब्राह्मणों का चरण धोने लगे हैं लेकिन अब ब्राह्मण इन्हें किसी दशा में माफ नहीं करेगा। सम्मेलन को सांसद रितेश पांडेय, पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय, पूर्व सांसद घनश्याम चन्द्र खरवार ने सम्बोधित किया। संचालन डा. उमानाथ पांडेय ने किया। इसके पूर्व राज्यसभा सदस्य का तिलक लगाकर, अंग वस्त्रम ओढ़ाकर पूर्व विधायक पवन कुमार पांडेय ने स्वागत किया और कहा कि मै कभी चुनाव हारा नहीं हराया गया हूं।

बसपा की गठरी और अपने 35 हजार समर्थकों के बदौलत कही से भी बसपा के निष्कासित लोगों को हराने का दम भरा। हालांकि अपनों के बीच अकबरपुर में ही रहने की मंच से इच्छा प्रगट की। इस दौरान पवन कुमार पांडेय ने खरवार को का आभार ज्ञापित किया और कहा कि उन्होंने अकबरपुर की धरती को भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलाई। इस दौरान अपना दर्द भी बयां किया कि बसपा के कार्यालय जमीन देने के बाद भी हम पर आरोप लगाए जाते हैं। सम्मेलन में डा. आशुतोष शुक्ल, डा. अवधेश कुमार त्रिपाठी, विनोद दूबे, दिलीप कुमार विमल, बृजेन्द्र वीर सिंह गुड्डू, अजमल कुरैशी, कृष्ण कुमार पांडेय उर्फ कक्कू, डा. दयाराम राजभर, ब्राह्मण महासभा के राजेश कुमार त्रिपाठी व अन्य मौजूद रहे।  

पीड़ित परिजनों से की मुलाकात

देवरिया बाजार। बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने रविवार को गत कुछ माह पूर्व राजेसुलतानपुर थाना क्षेत्र में हुए दोहरे हत्याकांड के शिकार परिजनों से मुलाकात की। बता दें कि थाना क्षेत्र के मल्लूपुर मजगवां गांव में चुनावी रंजिश को लेकर दो सगे भाइयों प्रधान प्रतिनिधि रहे अनिल मिश्र एवं फौजी सुरेंद्र मिश्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बसपा महासचिव ने गांव पहुंचकर परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बधाया तथा हर संभव सहयोग का आश्वासन भी दिया।
 

संबंधित खबरें