ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशशामली में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, नेपाल से लाई गई सवा दो करोड़ की चरस पकड़ी, एक गिरफ्तार

शामली में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, नेपाल से लाई गई सवा दो करोड़ की चरस पकड़ी, एक गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में चलाए जा रहे चेकिंग अभियान के अंतर्गत गांव लांक स्थित चौकी से कोतवाली पुलिस ने एक कैंटर से 180 किलो चरस बरामद की। जिसकी कीमत सवा दो करोड़ रुपये बतायी जा रही है। पुलिस ने...

शामली में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, नेपाल से लाई गई सवा दो करोड़ की चरस पकड़ी, एक गिरफ्तार
शामली। वरिष्ठ संवाददाता Mon, 04 Jan 2021 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में चलाए जा रहे चेकिंग अभियान के अंतर्गत गांव लांक स्थित चौकी से कोतवाली पुलिस ने एक कैंटर से 180 किलो चरस बरामद की। जिसकी कीमत सवा दो करोड़ रुपये बतायी जा रही है। पुलिस ने मौके से कैंटर चालक तस्कर को भी गिरफ्तार कर लिया, जबकि कार में सवार चार अन्य तस्कर फरार हो गए। चरस नेपाल से लायी गई थी तथा उसे कांधला क्षेत्र के नाला गांव में पहुंचाया जाना था। पुलिस अधीक्षक ने टीम को 15 हजार का ईनाम दिए जाने की घोषणा की है। 

मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को शहर कोतवाली पुलिस क्षेत्र के मेरठ रोड स्थित लांक चौकी के निकट वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान मेरठ की ओर से आए कैंटर की तलाशी ली गई तो उसके केबिन से करीब 180 किलो चरस बरामद हुई। चरस को प्लास्टिक के कट्टों में भरकर छिपाया गया था। पुलिस ने केंटर चालक तस्कर को भी हिरासत में लिया। पकड़े गए तस्कर ने अपना नाम वाजिद पुत्र जरीफ निवासी टिब्बा रोड कंपनी बाग थाना टिब्बा जनपद लुधियाना पंजाब बताया। जबकि केंटर के साथ चल रही कार में सवार तस्कर भागने में कामयाब रहे।

पुलिस द्वारा पूछताछ में पता चला कि यह अन्तराष्ट्रीय ड्रग तस्करों का गिरोह है जो नेपाल से यह चरस लेकर आया था। यूपी के साथ-साथ दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व हिमाचल प्रदेश में भी इस गिरोह का पूरा जाल फैला हुआ है। पुलिस इस गिरोह के सारे नेटवर्क को खंगालते हुए फरार तस्करों की तलाश में भी जुटी हुई है।

नाला गांव के अरविंद को बताया मास्टरमाइंड
पकड़े गए तस्कर ने पुलिस को बताया कि ग्राम नाला थाना कांधला निवासी अरविंद के साथ चरस की तस्करी का कारोबार नेपाल से करते हैं। मादक पदार्थ को खरीदने के लिए अरविंद द्वारा ही धन उपलब्ध कराया जाता है। उस ने जानकारी दी कि नेपाल के बीरगंज से सुरेश व सुलेमान नाम के व्यक्ति से यी चरस की खेप खरीदी गई थी। उनके द्वारा इससे पूर्व भी सहारनपुर, पंजाब, हरियाणा में भी भारी मात्रा में अवैध चरस बेचे जाने की जानकारी दी गई है। बताया कि अल्टो कार अरविंद की पत्नी सुषमा के नाम है, जबकि कैंटर का मालिक रक्षपाल निवासी लुधियाना है।

दूसरे राज्यों से तस्करों के तार खंगालने में जुटी पुलिस
हरियाणा बॉर्डर से सटे जनपद शामली में नशीले जहर के कारोबार ने अपने पैर किस हद तक पसार लिए हैं, इसका अंदाजा लगा पाना शायद मुश्किल है। पुलिस द्वारा आये दिन चरस, गांजे और स्मैक के साथ छोटे सप्लायरों की गिरफ्तारी तो आम बात हो गई है, मगर इस बार पुलिस के हाथ इस कारोबार की बड़ी मछली हाथ लगी है। जिससे दूसरे राज्यों में इनकी सप्लाई और ड्रग कारोबार का खुलाया होने की उममीद है। बताया जाता है कि आरोपियों द्वारा 22/23 दिसम्बर को सहारनपुर में भी माल दिये जाने की जानकारी मिली है। जिस व्यक्ति को माल दिया गया है, उसको फोन से सम्पर्क कर माल सप्लाई करने के उपरान्त मोबाइल नंबर फोन से डिलीट किया जाना बताया गया है।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें