DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाने में JDU नेता ने की आत्महत्या, एसओ सहित तीन पुलिसकर्मी हिरासत में

brawl after the suicide of jdu leader

जदयू महादलित प्रकोष्ठ के नगरनौसा प्रखंड अध्यक्ष गणेश रविदास ने थाना हाजत में गुरुवार की रात कथित आत्महत्या कर ली थी। घटना से गुस्साए परिजनों व सैकड़ों ग्रामीणों ने शुक्रवार की सुबह नगरनौसा थाने को घेर लिया। नेशनल हाईवे 431 पर जाम कर दिया। इसी बीच किसी ने पुलिस पर पथराव भी कर दिया। थानाध्यक्ष कमलेश कुमार व इंस्पेक्टर शेर सिंह यादव के सिर फूट गये। मामला बढ़ता देख डीआईजी राजेश कुमार खुद मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों की मांग और प्रथमदृष्ट्या दोषी पाते हुए थानाध्यक्ष समेत तीन लोगों को सस्पेंड कर दिया। तीनों को हिरासत में ले लिया गया है। 

इसके बाद काफी मान-मनौव्वल के बाद लोगों ने शव उठने दिया। पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में शव लाया गया। लेकिन, सांसद आरसीपी सिंह को बुलाने व थानाध्यक्ष समेत अन्य पर हत्या की एफआईआर कराने की मांग पर अड़े लोग लाश उठाने नहीं दे रहे हैं।

क्या है मामला

सैदपुरा गांव निवासी एवं जदयू महादलित प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष गणेश  रविदास को लड़की के अपहरण मामले में पूछताछ के लिए थाने लाया गया था। उन्होंने गुरुवार की रात में शौच के  बहाने हाजत के बगल वाले कमरे के निकट बने शौचालय में गये और खिड़की से फंदा  लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस सूत्रों ने बताया कि जदयू नेता पुलिस की कार्रवाई से काफी डरा हुए थे, क्योंकि पुलिस द्वारा गणेश रविदास को जेल भेजने की धमकी दी जा रही थी।

मृतक के सिर पर गहरे जख्म के निशान भी पाये गये हैं। पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता लगा रही है। शव पोस्टमार्टम के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल भेज दिया गया है। वहीं दूसरी ओर, परिजनों का आरोप है कि थर्ड डग्रिी टॉर्चर के कारण ही गणेश रविदास की मौत हुई है। थानाध्यक्ष समेत अन्य दोषियों पर हत्या का मामला चलाते हुए नौकरी से बर्खास्त किया जाये।

ये हुए सस्पेंड 

- कमलेश कुमार - उप निरीक्षक, थानाध्यक्ष
- बलिंद्र राय, एएसआई
- संजय पासवान, चौकीदार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:brawl over the JDU leader suicide case in nalanda bihar