DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दरोगा का गिरेबान पकड़कर उछाली टोपी, बोला- चुटकी बजाते ही उतरवा दूंगा वर्दी

लखनऊ के विभूतिखण्ड स्थित सेवी ग्रैंड होटल के सामने शनिवार देर रात कार सवार रईसजादे दरोगा से भिड़ गए।

दरोगा का गिरेबां पकड़कर उछाली टोपी, बोला- चुटकी बजाते ही उतरवा दूंगा वर्दी

लखनऊ के विभूतिखण्ड स्थित सेवी ग्रैंड होटल के सामने शनिवार देर रात कार सवार रईसजादे दरोगा से भिड़ गए। उसका कॉलर पकड़ वर्दी उतरवाने की धमकी देते हुए टोपी निकाल कर सड़क पर फेंक दी। शादी में शामिल होने आए युवकों को उत्पात मचाता देख अन्य पुलिस कर्मियों ने किसी तरह से साथी दरोगा को छुड़ाया। इस बीच कार सवार युवक भाग निकले। वहीं, डीजीपी के विभूतिखण्ड पहुंचने की सूचना पर पुलिस आनन-फानन में उपद्रवी युवकों की तलाश में जुट गई।

ये भी पढ़ें: योगी के खिलाफ इस्तेमाल सीडी में छेड़छाड़ पर परवेज परवाज पर केस दर्ज

कार खड़ी होने से लग गया था जाम: विभूतिखण्ड थाने में तैनात दरोगा शिवेन्द्र कुमार की शनिवार को सेवी ग्रैंड होटल के पास ड्यूटी लगी थी। वह साथी दरोगा राजेश के साथ ट्रैफिक को नियंत्रित कर रहे थे। इसी बीच सफेद रंग की कार (यूपी 32 ईटी 0082) में सवार युवक वहां आकर रुके। बीच सड़क पर गाड़ी खड़ी कर डांस कर रहे युवकों को देख शिवेन्द्र ने कार हटाने के लिए कहा। इस पर युवक आग बबूला हो उठे। वह शिवेन्द्र कुमार को अपशब्द कहने लगा। दरोगा ने गाली देने से युवक को रोका। तो वह हाथापाई पर उतारू हो गया। युवक ने शिवेन्द्र की वर्दी फाड़ने का प्रयास किया। सफल नहीं होने पर कॉलर पकड़ कर धमकाया कि तुम मेरा कुछ बिगाड़ नहीं सकते।

दरोगा राजेश कुमार ने बताया कि डीजीपी ओपी सिंह को शनिवार रात एक शादी में शामिल होने के लिए आना था। इसके चलते उनकी ड्यूटी ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए लगाई गई थी। इसी दौरान युवकों ने उनके साथी शिवेन्द्र से मारपीट की। 

ये भी पढ़ें: मृतक सुमित व जीतू फौजी के समर्थन में जाट और पूर्व सैनिकों की पंचायत

इंस्पेक्टर विभूतिखण्ड डीके उपाध्याय ने बताया कि कार नम्बर के आधार पर गाड़ी मालिक की तलाश की जा रही है। उनके मुताबिक संभवत: युवक किसी शादी में शामिल होने आए थे। इसलिए शादी समारोह में बन रहे वीडियो फुटेज हासिल किए गए हैं। साथ ही होटलों के सीसी कैमरे भी चेक किए जा रहे हैं।

दरोगा के साथ युवकों को अभद्रता करते देख भीड़ जुट गई। इस बीच एक राहगीर ने अपने मोबाइल पर घटना की वीडियो तैयार कर ली। उसने वीडियो को सोशल मीडिया पर डाल दिया। वॉयरल हुआ वीडियो देख कर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए। होटल के पास दरोगा से हाथापाई कर रहे रईसजादों को देख ड्यूटी पर तैनात दरोगा राजेश कुमार भी मौके पर पहुंच गए। 

उन्होंने साथी को छुड़ाने का प्रयास किया। इस बीच एक युवक ने शिवेन्द्र की टोपी उतार कर सड़क पर फेंक दी। इतने से भी मन नहीं भरा तो उसने चुटकी बजाते ही वर्दी उतरवाने की धमकी देने लगे। राजेश कुमार ने युवकों के खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी दी। राहगीर भी पुलिस की मदद के लिए पहुंच गए। जिसके चलते कार सवार रईसजादे भाग निकले। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:boy in lucknow misbehave with inspector in lucknow