ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशभाजपा यूपी में करेगी एक लाख नुक्कड़ सभाएं, मिशन 2024 के लिए 15 हजार नेताओं की उतरी फौज

भाजपा यूपी में करेगी एक लाख नुक्कड़ सभाएं, मिशन 2024 के लिए 15 हजार नेताओं की उतरी फौज

भाजपा यूपी में एक लाख नुक्कड़ सभाएं करेगी। मिशन 2024 के लिए 15 हजार नेताओं की फौज मैदान उतारी गई। पहले व दूसरे चरण में शामिल लोकसभा क्षेत्रों में इनकी शुरुआत हो गई है।

भाजपा यूपी में करेगी एक लाख नुक्कड़ सभाएं, मिशन 2024 के लिए 15 हजार नेताओं की उतरी फौज
Deep Pandeyराजकुमार शर्मा,लखनऊWed, 03 Apr 2024 06:38 AM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय जनता पार्टी इस बार यूपी में चुनावी माहौल बनाने के लिए नुक्कड़ सभाओं का रिकार्ड बनाएगी। पार्टी ने प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान एक लाख नुक्कड़ सभाएं कराने का फैसला किया है। पहले व दूसरे चरण में शामिल लोकसभा क्षेत्रों में इनकी शुरुआत हो गई है। इन नुक्कड़ सभाओं के लिए प्रदेश के 15 हजार नेताओं को लगाया गया है। उन नेताओं को सभाओं में बोलने के लिए मुद्दे भी पार्टी की ओर से बताए जा रहे हैं।

भाजपा ने मोदी 3.0 के लिए चौतरफा चुनावी तैयारी शुरू कर दी है। गांव, गली, मोहल्ले, चौपालों पर माहौल बनाने को इस बार पार्टी ने प्रदेश में एक लाख नुक्कड़ सभाएं कराने का फैसला किया है। यह सभाएं प्रदेश के सभी 80 लोकसभा क्षेत्रों में कराई जाएंगी। यह 40-50 से लेकर 150-200 लोगों के बीच की जाएंगी। इन नुक्कड़ सभाओं के जरिए पार्टी का लक्ष्य छोटे-छोटे समूहों को साधना है। उनके बीच मोदी-योगी सरकार की उपलब्धियां पहुंचाई जाएंगी। राम मंदिर के निर्माण को संकल्प की सिद्धि के रूप में बताया जाएगा। इसके अलावा स्थानीय और इलाकाई मुद्दों को भी उभारा जाएगा। पूर्ववर्ती सरकारों की खामियां गिनाई जाएंगी।

पार्टी बता रही वक्ताओं को मुद्दे
नुक्कड़ सभाओं में पार्टी की ओर से प्रदेश, क्षेत्र और जिलों के पदाधिकारियों के अलावा विधायकों, मेयर, जिला पंचायत अध्यक्षों, नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों के चेयरमैन, पार्षद, जिला पंचायत सदस्य आदि की ड्यूटी लगाई गई है। यह लोग छोटे-छोटे समूहों में लोगों से संवाद करेंगे। इन वक्ताओं को कौन से मुद्दे उठाने हैं, यह पार्टी की ओर से बताया जा रहा है। खासतौर से नगर पालिका व नगर पंचायतों के चेयरमैन, पार्षदों व जिला पंचायत सदस्यों को इसके लिए प्रशिक्षित किया गया है। प्रदेश महामंत्री संगठन धर्मपाल सिंह और चुनाव संचालन समिति के अध्यक्ष व कैबिनेट मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने इसे लेकर गत दिवस सहारनपुर में बैठक भी की। ऐसी बैठकें अन्य क्षेत्रों में भी करके इलाकेवार मुद्दे समझाए जा रहे हैं। भाजपा का यह प्रयोग कितना कारगर होगा, यह तो चुनावी नतीजे ही बताएंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें