ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश‘राम‘ जीते पर रामनगरी हार गई भाजपा, जहां राममंदिर बना वहां गंवा दीं 5 सीटें; समीकरण कैसे बदले

‘राम‘ जीते पर रामनगरी हार गई भाजपा, जहां राममंदिर बना वहां गंवा दीं 5 सीटें; समीकरण कैसे बदले

2024 के महासमर में रामायण सीरियल के भगवान राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल तो जीत गए परन्तु रामनगरी मसलन अयोध्या मण्डल के अन्तर्गत आने वाली लोकसभा सीटों पर BJP बुरी तरह हार गई।

‘राम‘ जीते पर रामनगरी हार गई भाजपा, जहां राममंदिर बना वहां गंवा दीं 5 सीटें; समीकरण कैसे बदले
Ajay Singhअजीत कुमार,लखनऊWed, 05 Jun 2024 10:30 AM
ऐप पर पढ़ें

BJP lost 5 Seats in Faizabad Division: 2024 के महासमर में रामायण सीरियल के भगवान राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल तो जीत गए परन्तु रामनगरी मसलन अयोध्या मण्डल के अन्तर्गत आने वाली लोकसभा सीटों पर भाजपा बुरी तरह हार गई। भाजपा के लिए यह बड़ा झटका है क्योंकि पार्टी ने भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या को पुरानी पहचान दिलाने के लिए कई दशकों तक अयोध्या और उसके आसपास के क्षेत्रों में न सिर्फ कड़ा संघर्ष किया है बल्कि पूरे अयोध्या मंडल को राष्ट्रीय-अन्तराष्ट्रीय पटल पर लाने के लिए भरपूर प्रयास भी किया है। 

श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मन्दिर निर्माण के साथ-साथ अयोध्या में नया हवाई अड्डा और खूबसूरत रेलवे स्टेशन के अलावा धर्मनगरी अयोध्या या यूं कहें कि अवध क्षेत्र को धार्मिक अनुष्ठानों से जोड़कर रोजगार तक प्रदान कराने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। उसी भाजपा को अवध के ही लोगों ने किनारे कर दिया। अवध में पड़ने वाली 17 लोकसभा सीटों में से भाजपा केवल सात सीटों पर ही जीत दर्ज कर सकी है। वहीं इंडिया गठबंधन में सपा को छह और कांग्रेस को चार सीटें मिल गईं।

बीते वर्ष 2019 के चुनाव में भाजपा को इन 17 सीटों में से 15 सीटें मिली थीं, जबकि शेष बची दो सीटों में से एक-एक सीट बसपा और कांग्रेस के पाले में गई थी।  2024 के चुनाव में भाजपा को मात्र सात सीटें मिली, जिनमें लखनऊ, हरदोई, उन्नाव, मिश्रिख, बहराइच, कैसरगंज तथा गोण्डा शामिल हैं। इसी प्रकार इंडिया गठबंधन में शामिल कांग्रेस ने तीन तो सपा ने भाजपा से पांच सीटें छीन ली है। गौर करने वाली बात यह है कि सिर्फ अयोध्या ही नहीं बल्कि अयोध्या मंडल के की पांचों जिलों  अयोध्या, अम्बेडकरनगर, सुल्तानपुर, अमेठी तथा बाराबंकी में भी भाजपा हार गई है।