ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशसीढ़ियां चढ़ रहे थे भाजपा प्रत्याशी, अचानक लगी ठोकर, सीएम योगी के सामने ही मंच पर गिरे सांसद जगदम्बिका पाल

सीढ़ियां चढ़ रहे थे भाजपा प्रत्याशी, अचानक लगी ठोकर, सीएम योगी के सामने ही मंच पर गिरे सांसद जगदम्बिका पाल

सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव के पांच चरण पूरे हो गए हैं। अब केवल दो चरण बाकी है। आखिरी के दो चरणों के लिए राजनीतिक दलों ने पूरी ताकत झोंक रखी है। जगह-जगह जनसभा और रैलियां हो रही है।

सीढ़ियां चढ़ रहे थे भाजपा प्रत्याशी, अचानक लगी ठोकर, सीएम योगी के सामने ही मंच पर गिरे सांसद जगदम्बिका पाल
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान टीम,डुमरियागंज। सिद्धार्थनगरTue, 21 May 2024 11:08 PM
ऐप पर पढ़ें

सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव के पांच चरण पूरे हो गए हैं। अब केवल दो चरण बाकी है। आखिरी के दो चरणों के लिए राजनीतिक दलों ने पूरी ताकत झोंक रखी है। जगह-जगह जनसभा और रैलियां हो रही है। यूपी के सिद्धार्थनगर जिले के डुमरियागंज में भी गुरुवार को भाजपा प्रत्याशी और सांसद जगदम्बिका पाल के समर्थन में जनसभा थी। जनसभा का आयोजन राजकीय कन्या इंटर कॉलेज डुमरियागंज में रखा गया था। जनसभा में शामिल होने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ डुमरियागंज पहुंचे थे। सीएम योगी मंच की तरफ बढ़ रहे थे, उनके आगे 73 साल के भाजपा प्रत्याशी जगदम्बिका पाल चल रहे थे। जैसे ही भाजपा प्रत्याशी सीढ़ियों से मंच पर चढ़े तो अचानक उन्हें ठोकर लग गई और वह लड़खड़ाकर सीएम योगी के सामने ही मंच पर गिर पड़े। सीएम योगी ने सांसद की तरफ हाथ बढ़ाया, लेकिन उससे पहले ही मंच पर मौजूद अन्य कार्यकर्ताओं ने जगदम्बिका पाल को उठा लिया। इस घटना का किसी ने वीडियो बनाया और फिर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। 

आतंकियों और माफियाओं की आका है सपा-कांग्रेस, सीएम का विपक्ष पर हमला

भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे सीएम योगी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा व कांग्रेस के लोग आतंकियों व माफियाओं के आका हैं। हर अपराधी व माफिया 2017 के पहले जनता का खून चूसता था, वसूली करता था, बेटी की सुरक्षा पर खतरा था। आज माफिया को उल्टा टांगने और राम नाम सत्य की यात्रा निकलने पर सपा को पीड़ा होती है। हमें माफिया के सहयोगी-सरपस्त, आतंकियों के आकाओं को सत्ता पर काबिज नहीं होने देना है। उन्होंने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस व प्रदेश में सपा सरकार थी तो अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि, काशी में संकट मोचन, अयोध्या, लखनऊ व वाराणसी की कचहरी में आतंकी हमला हुआ था।

मुख्यमंत्री बनते ही अखिलेश यादव ने आतंकियों पर दायर मुकदमों को वापस लेने का कार्य किया था। तब न्यायालय ने कहा था कि आतंकी छूटेंगे नहीं, सरकार को शर्म आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जनता जानती है कि सपा और माफिया का चोली-दामन का संबंध है। दोनों को अलग करके देखा ही नहीं जा सकता। प्रदेश का हर माफिया सपा से संबंध रखता है। सपा की संवेदना गांव, गरीब, दलित, समाज की बेटी-व्यापारी की सुरक्षा के लिए नहीं, बल्कि माफिया के साथ है। माफिया के प्रति इनकी संवेदना को देखते हुए जनता ने इन्हें 2014, 2017, 2019, 2022 में खारिज कर दिया। अबकी बार-400 पार के नारे को सुनकर सपा चारों खाने चित हो रही है। सपा कुल 63 सीट पर चुनाव लड़ रही। इन सभी सीटों पर इनकी जमानत जब्त हो रही है, इसलिए दो लड़कों (सपा व कांग्रेस) का इंडी गठबंधन षडयंत्र व गुमराह कर झूठ-अफवाह फैला रहा है।

इस आयु में भी जुझारूपन से कार्य करते हैं जगदंबिका पाल

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस आयु में भी सांसद जगदंबिका पाल जुझारूपन से कार्य करते हैं। 10 बजे से संसद सत्र में भाग लेते हैं, फिर चार बजे चलकर डुमरियागंज पहुंचते हैं। यह संसद सत्र के दौरान भी एक हजार किमी चलते हैं। इन्होंने न दिन देखा न रात देखी, सर्दी देखी न गर्मी, बरसात देखा न बाढ़। यह लगातार आपकी सेवा में समर्पित रहे। उन्हें फिर से मौका देना है।

जो राम का नहीं, हमारे किसी काम का नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा कि अवसर मिला तो हमने अयोध्या में रामलला को विराजमान कर दिया। सपा वाले रामभक्तों पर गोली चलाते थे। सपा महासचिव का बयान आया कि राम मंदिर बेकार बना है। राम जगत नियंता और परमपिता परमेश्वर हैं। राम के बिना हमारा कोई काम नहीं, जो राम का नहीं वो हमारे किसी काम का नहीं। सीएम ने सपा-कांग्रेस के घोषणा पत्र पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि यह पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान से घुसपैठियों के रूप में आए मुसलमानों को आपकी संपत्ति देंगे, लेकिन हम लोग विरासत टैक्स हिंदुस्तान में नहीं लगने देंगे।