ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में आठवीं तक के बच्चों को मिलने जा रही बड़ी राहत, स्कूलों की छुट्टी बढ़ाने की तैयारी

यूपी में आठवीं तक के बच्चों को मिलने जा रही बड़ी राहत, स्कूलों की छुट्टी बढ़ाने की तैयारी

प्रचंड गर्मी को देखते हुए प्राइमरी स्कूलों का ग्रीष्मावकाश बढ़ाया जा सकता है। गर्मी और धूप के तेवरों को देखते हुए सरकार स्कूलों की गर्मी की छुट्टी बढ़ाने के लिए गम्भीरता से विचार कर रही है।

यूपी में आठवीं तक के बच्चों को मिलने जा रही बड़ी राहत, स्कूलों की छुट्टी बढ़ाने की तैयारी
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊThu, 13 Jun 2024 10:27 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रचंड गर्मी और लू को देखते हुए प्राइमरी स्कूलों का ग्रीष्मावकाश एक सप्ताह और बढ़ाया जा सकता है। झुलसा देने वाली धूप के तेवरों को देखते हुए सरकार स्कूलों की गर्मी की छुट्टी बढ़ाने के लिए गम्भीरता से विचार कर रही है। पिछले साल अधिक गर्मी के कारण गर्मियों की छुट्टी को 15 दिन बढ़ाकर 30 जून तक कर दिया गया था। दूसरी तरफ शिक्षक संगठनों एवं अभिभावकों की ओर से भीषण गर्मी को देखते हुए ग्रीष्मावकाश की तिथि बढ़ाने की लगातार की जा रही मांगों के कारण भी विभाग दबाव में है। ऐसे में सरकार के निर्देश पर शिक्षा विभाग ने मौसम विभाग को पत्र भेजकर अगले 15 दिनों का गर्मी से जुड़े पूर्वानुमान एवं संभावित अधिकतम तापमान का चार्ट उपलब्ध कराने को कहा है ताकि स्कूलों के खोलने या बन्द रखने को लेकर कोई निर्णय किया जा सके। आगामी 15 जून को प्रदेश के प्राइमरी स्कूलों में ग्रीष्मावकाश समाप्त होने जा रहा हैं और 18 जून से स्कूल खुलने जा रहे हैं। 

सरकार पर है ग्रीष्मावकाश बढ़ाने का दबाव
पिछले कुछ दिनों से शिक्षक संगठनों के साथ-साथ तमाम माता-पिता और अभिभावकों की ओर से भी सरकार पर यह दबाव बनाया जा रहा है कि ग्रीष्मावकाश को एक सप्ताह और आगे बढ़ा दिया जाए। तर्क यह दिया जा रहा है कि पूरे प्रदेश में दिन का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जा रहा है, ऐसे में स्कूल खुलने पर बच्चों को हीट-स्ट्रोक या लू लगने की आशंका है। शिक्षक संगठनों ने तो जिम्मेदारों को पत्र भेजना शुरू कर दिया है।

उत्तर प्रदेश बीटीसी शिक्षक संघ के अध्यक्ष अनिल यादव ने प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा को लिखा है कि प्रदेश में वर्तमान समय में भीषण गर्मी पड़ रही है और गर्म हवाएं चल रही है। जिसको लेकर मौसम विभाग ने दर्जनों जिलों में हाई एलर्ट जोन घोषित किया है। ऐसे में अत्यधिक गर्मी के कारण विद्यालयों में बैठ पाना मुशिकल होगा तथा नन्हे मुन्ने बच्चों को लू लगने व गर्मी के कारण बीमार पड़ने की आशंका रहेगी। लिहाजा भीषण गर्मीं को देखते हुए प्रदेश के परिपदीय विद्यालयों का ग्रीष्मकालीन अवकाश 30 जून बढ़ाया जाए।

शिक्षक संगठन यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन (यूटा) के प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राठौर ने भी महानिदेशक स्कूल शिक्षा को पत्र भेजकर ग्रीष्मावकाश 30 जून तक बढाने की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि ज्यादातर जिलों में दिन का तापमान 45-48 डिग्री रहता है। मौसम विभाग भी लू से बचाव करने एवं बिना आवश्यक कार्य के दिन में घर से बाहर न निकलने की चेतावनी के संदेश जन सामान्य में लगातार प्रसारित कर रहा है।

ऐसे में स्कूलों को खोलना पूर्णतः अव्यवहारिक तथा छात्रों के स्वास्थ्य के लिए अहितकर होगा। राज्य में काफी संख्या में ऐसे विद्यालय हैं, जहां विद्युत कनेक्शन नहीं हैं और जिनमें विद्युत कनेक्शन हैं, वहां कूलर इत्यादि की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में कक्षा एक से 8 तक के स्कूलों में गर्मी की छुट्टी आगामी 30 जून तक बढ़ाया जाना बेहद जरूरी है। दूसरी तरफ बेसिक शिक्षा विभछाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मौसम का अगर यही तेवर रहा तो गत वर्ष की तरह इस बार भी गर्मी की छुट्टी को बढ़ाना ही पड़ेगा। विभाग में इस पर कवायद शुरू हो गई है।