DA Image
2 मार्च, 2021|3:15|IST

अगली स्टोरी

भारत बंद: पूर्वांचल में मिला-जुला असर, सपा और कांग्रेस नेताओं की बड़ी संख्या में गिरफ्तारी

भारत बंद का पूर्वांचल के जिलों में मिला-जुला असर दिखाई दिया। वाराणसी से लेकर बलिया तक और सोनभद्र से लेकर आजमगढ़ तक कहीं लोगों ने खुद दुकानें बंद रखीं तो कहीं पर बंद कराई गईं। नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन ने भारत बन्द को समर्थन दिया है। कैंट पर किसान बिल को लेकर यूनियन ने विरोध भी जताया। बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के नेताओं को गिरफ्तार किया गया है।

कई नेताओं को उनके घरों पर ही नजरबंद कर दिया गया है। सपा, कांग्रेस और किसान मजदूर सभा ने धरना-प्रदर्शन करने का प्रयास किया। पुलिस ने उन्हें तत्काल मौके से हिरासत में लेकर थाने में बैठा दिया है। वाराणसी में लंका, रोहनिया, सुंदरपुर, साकेत नगर और कचहरी पर पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं के बीच हल्की नोकझोंक भी हुई। 

सपा के पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह पटेल के साथ ही पूर्व विधायक, जिला अध्यक्ष और पार्षद सहित तमाम छोटे-बड़े नेताओं को उनके घरों में ही नजरबंद कर दिया गया है। सपा के वरिष्ठ नेता मनोज राय धूपचंडी को उनके घरों पर ही नजरबंद किया गया है। मैदागिन स्थित कम्पनी गार्डेन के सामने सड़क पर एकत्रित होकर जुलूस निकालने का प्रयास के रहे नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूर्वांचल की सबसे बड़ी मंडी विशेश्वरगंज किराना मंडी में बंद का असर नही दिखा। सभी दुकानें खुली हुई है। हालांकि बाहरी कस्टमर नहीं पहुंचे। सिर्फ लोकल कस्टमर समान की खरीदारी करते रहे। 

जौनपुर में दुकानें खुली रहीं। वाजितपुर तिराहे पर यातायात गतिविधियां भी सामान्य दिखाई दीं। शहर के प्रतिष्ठित होटल और रेस्टोरेंट भी खुले रहे। जिला प्रशासन ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष फैसल हसन तबरेज, यूथ कांग्रेस के सत्यवीर सिंह, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विजय प्रताप सिंह एडवोकेट,  यूथ कांग्रेस अध्यक्ष नीरज को हाउस अरेस्ट किया है। इसके अलावा  जिला अध्यक्ष सपा लोहिया वाहिनी, जिला अध्यक्ष मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड जिला अध्यक्ष,छात्र सभा प्रदेश उपाध्यक्ष, आम आदमी पार्टी के सुरेंद्र सिंह मुन्ना को पुलिस हिरासत में लेकर कोतवाली पहुँची।

गाजीपुर में कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन करने जा रहे सपाइयों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जाया गया।

मिर्जापुर में भाकियू के मंडल महामंत्री वीरेंद्र सिंह को अहरौरा में नजरबंद किया गया है। भाकियू के जिलाध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह को भी इमिलिया खुर्द स्थित उनके आवास पर नजरबंद किया गया है।

भदोही में बंद का आंशिक असर दिखा। प्रतिदिन की तरह शहर, ज्ञानपुर, गोपीगंज, सुरियावा, औराई समेत पूरे जनपद में दुकानें खुली रही।पूर्व विधायक जाहिद बेग समेत समेत आधा दर्जन को गिरफ्तार किया गया है। हलिया ब्लाक के गड़बड़ा पुल पर किसानों के साथ प्रदर्शन में स्थानीय दुकानदार भी शामिल रहे। 

चंदौली में बौरी गांव आवास पर पूर्व सांसद रामकिशुन समेत दर्जनों सपाइयों को पुलिस ने नजरबंद किया। पुलिस का घेरा तोड़ते हुए रामकिशुन यादव के नेतृत्व में सपाइयों ने जुलूस निकाला। चकिया में सपाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया। सकलडीहा में विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव व सपा जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर के नेतृत्व में जुलूस निकला तो पुलिस से धक्का-मुक्की हुई। पीडीडीयू रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा की दृष्टि से जीआरपी व आरपीएफ तैनात रही। 

आज़मगढ़ में पूर्व मंत्री सपा नेता बलराम यादव, दुर्गा यादव, संग्राम यादव, और जिलाध्यक्ष नज़रबन्द किये गए हैं। सभी को घर मे ही रहने का फरमान पहले ही सुनाया गया था। 

मऊ में समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष धर्मप्रकाश यादव व कांग्रेस के जिलाध्यक्ष इंतेखाब आलम को घर पर ही पुलिस ने नजरबंद कर दिया। चार दर्जन से अधिक सपा, कांग्रेस व वामपंथी दलों के नेताओं को जुलूस निकालने के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया। शहर से लेकर ग्रामीण अंचलों में बंदी का कोई भी असर नहीं दिखाई दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bharat Bandh: Mixed effect in Purvanchal SP and Congress leaders arrested in large numbers