ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशसावधान! त्योहार पर साइबर क्राइम के शिकार हुए तो नहीं वापस होंगे रुपये, इस तरह की कॉल से बचें

सावधान! त्योहार पर साइबर क्राइम के शिकार हुए तो नहीं वापस होंगे रुपये, इस तरह की कॉल से बचें

त्योहार पर साइबर क्राइम के केस तेजी से बढ़ जाते हैं। त्योहारों पर खरीदारी में ऑफर देकर साइबर ठग लोगों को शिकार बना रहे हैं। लेकिन ऐसा हुआ तो वापस नहीं होंगे रुपये। जानें क्यों?

सावधान! त्योहार पर साइबर क्राइम के शिकार हुए तो नहीं वापस होंगे रुपये, इस तरह की कॉल से बचें
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजMon, 13 Nov 2023 06:19 AM
ऐप पर पढ़ें

त्योहार मनाने वाले जरा होशियार हो जाएं। साइबर ठगों से सावधान रहें। कोई ऑफर देकर कॉल करें या लिंक भेजे तो उसे खोले नहीं, क्योंकि इस त्योहार पर अगर साइबर ठगी के शिकार हुए तो आपके पूरे रुपये चले जाएंगे। पुलिस और साइबर सेल भी आपके रुपये वापस नहीं करा पाएगी। दरअसल, त्योहार पर बैंक बंद हैं। सोमवार को भी पुलिस को बैंक से मदद नहीं मिलेगी। इसलिए ठगी के शिकार हुए लोगों की रकम वापस नहीं मिल पाएगी। साइबर सेल ने बताया कि कोई साइबर ठगी का शिकार होता है तो बैंक से जानकारी लेकर साइबर ठग के बैंक खाते को फ्रीज कराया जाता है। इससे पीड़ित के रुपये वापस मिल जाते हैं। इसलिए इस पर्व पर सतर्क रहने की जरूरत है।

इस तरह के फ्रॉड से बचें
- त्योहार पर कोई कॉल करके ऑफर दे तो सतर्क हो जाएं। ये ऑफर फ्रॉड कंपनी के होते हैं। इनके जरिए लोगों के बैंक खाते खाली कर लिए जाते हैं। ऑफर का झांसा देकर उन्हें कुछ रकम चुकाने को कहा जाएगा और रकम मिलते ही फ्रॉड गायब हो जाएंगे।
- किसी कंपनी के नाम पर ऑफर का मैसेज आए तो उसे न खोलें। इसमें आए मैसेज के जरिए कई बार फोन हैक कर सारी जानकारी निकाल ली जाती है।
- बाहरी लिंक खोलने से बचें, अंजान कॉल पर बैंक की जानकारी न दें। लिंक के नाम कुछ लालच देने वाले होंगे। इन पर क्लिक करने से साइबर ठगों के पास बैंक खातों की जानकारी पहुंच जाती है।
- साइबर ठगी से बचने के लिए किसी को ओटीपी कभी शेयर न करें। किसी कुरियर का ओटीपी या अन्य कंपनी के ओटीपी के नाम पर साइबर ठग बैंक के ओटीपी पूछकर रकम निकाल लेते हैं।

ये भी पढ़ें: त्‍योहार पर मोबाइल खो जाए तो घबराएं नहीं, साइबर दोस्‍त की सुनें; यहां रजिस्‍ट्रेशन कराएं

रहें सतर्क
- घर के बुजुर्गों को साइबर ठगी के बारे में जानकारी दें कि सतर्क रहें।
- बैंककर्मी बनकर कॉल करने पर भी बैंक या एटीएम की जानकारी न दें।