DA Image
Thursday, December 9, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशNEET 2021: साॅल्वर गैंग के मुखिया PK का चेहरा बेनकाब, सूचना देने के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी

NEET 2021: साॅल्वर गैंग के मुखिया PK का चेहरा बेनकाब, सूचना देने के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी

कार्यालय संवाददाता ,वाराणसी Amit Gupta
Sun, 19 Sep 2021 11:41 AM
NEET 2021: साॅल्वर गैंग के मुखिया PK का चेहरा बेनकाब, सूचना देने के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी

नीट की परीक्षा में साल्वर बैठाकर देश भर में फर्जी डॉक्टर तैयार करने वाले गिरोह के सरगना बिहार के छपरा के सेंधवा निवासी पीके उर्फ नीलेश कुमार का चेहरा भी बेनकाब हो चुका है। वह पटना के पाटलीपुत्र स्थित बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने परिवार के साथ रहता था। आशंका है कि प्रदेश छोड़कर फरार हो चुका है। पुलिस अब त्रिपुरा, कोलकाता, बंगलुरु समेत देश भर के अन्य संभावित ठिकानों पर उसका टोह ले रही है। पीके पहली बार पुलिस के रडार पर आया है। दावा है कि जल्द ही उसकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। क्राइम ब्रांच ने त्रिपुरा पुलिस से संपर्क साधा है।

सॉल्वर गैंग के दो और सदस्यों को शनिवार को वाराणसी पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया था। इसमें एक बिहार के खगड़िया के सिमरी निवासी विकास कुमार महतो और दूसरा फोटोशॉप के जरिये एडमिट कार्ड की तस्वीर एडिट करने वाला बिहार के जहानाबाद के काकू थाने के चंदवारा निवासी राजू कुमार था। शातिर विकास कुमार महतो दूसरे साल्वर गैंग का सरगना है। वह इस पूरे सिंडिकेट के सरगना पीके को कैंडिडेट उपलब्ध कराता था। पुलिस को उसके जरिये ही मास्टर माइंड पीके की तस्वीर हाथ लगी। उसकी तस्वीर प्रदेश के अलावा संभावित प्रदेशों की पुलिस को मुहैया कराया गया है। ताकि उसे जल्द गिरफ्तार किया जा सके।

सूचना देने के लिए नंबर जारी

वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि सरगना की तस्वीर हाथ लगी है। वह कहीं भी छिपा हो सकता है। अगर उसके बारे में कोई भी जानकारी मिलती है तो 9454401645  पर संपर्क कर जानकारी दी जा सकती है।

आलीशान जीवन जीने का शौकीन है पीके, खुद को बताता था डॉक्टर

पीके उर्फ नीलेश कुमार पाटलीपुत्र स्थित बीएसएनल टेलिफोन एक्सचेंज के सामने परिवार के साथ रहता था। वह कॉलोनी में सभी से खुद को डॉक्टर बताता था। शनिवार को वहां से लौटी क्राइम ब्रांच की टीम ने कॉलोनी के लोगों से उसके बारे में पूछताछ की थी। लोगों ने बताया कि वह अक्सर लग्जरी कार से आता था। यहां कॉलोनी के अलावा होटलों में पार्टियां भी करता था। वह महंगी कार और आलीशान जीवन जीने का शौकीन है।

पटना में चार मंजिला मकान समेत कई जगह संपत्ति

पीके ने साल्वर गैंग बनाकर फर्जी डॉक्टरी के छात्र तैयार कराने के एवज में 25-25 लाख रुपये तक वसूलता था। इस तरह से उसने अकूत संपत्ति बना ली है। पटना जैसे बड़े शहर में ही उसका चार मंजिला आलीशान मकान है। महंगी कारें हैं। इसके अलावा देश भर के अन्य कई जगहों पर उसकी संपत्ति मिलने की बात सामने आ रही है।

पीके ने देश भर में कई फर्जी डॉक्टर तैयार करा दिए 

पीके ने देश भर में फर्जी डॉक्टरों की लाइन लगा रखी है। फर्जी तरीके से प्रवेश कराकर उसने देश के कई केंद्रों से ऐसे ही जालसाजी कर छात्रों को परीक्षा पास करा दिया। इसके बाद मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश मिल गया। कई ऐसे हैं, जो अब डाक्टरी के पेशे में हैं। लोगों के जीवन से खेल रहे हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें