ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसंयोग या साजिश? CM योगी के दौरे से पहले गोरखनाथ मंदिर में व्यापारी के बैग से मिला तमंचा, जांच में जुटी पुलिस

संयोग या साजिश? CM योगी के दौरे से पहले गोरखनाथ मंदिर में व्यापारी के बैग से मिला तमंचा, जांच में जुटी पुलिस

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शनिवार को गोरखपुर आने का कार्यक्रम संभावित है। उधर, गोरखनाथ मंदिर गेट पर शुक्रवार की शाम को पुलिस की चेकिंग में बिहार के एक शख्‍स पास तमंचा मिलने से सनसनी फैल गई।

संयोग या साजिश? CM योगी के दौरे से पहले गोरखनाथ मंदिर में व्यापारी के बैग से मिला तमंचा, जांच में जुटी पुलिस
Ajay Singhवरिष्ठ संवाददाता,गोरखपुरSat, 15 Jul 2023 07:16 AM
ऐप पर पढ़ें

Gorakhnath Temple Security: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का शनिवार को गोरखपुर आने का कार्यक्रम संभावित है। उधर, गोरखनाथ मंदिर गेट पर शुक्रवार की शाम को पुलिस की चेकिंग में बिहार के एक शख्‍स पास तमंचा मिलने से सनसनी फैल गई। वह अपने आप को बेतिया का व्यापारी बता रहा है। दस साल के बेटे के साथ वह मंदिर में दर्शन करने जा रहा था। उसका कहना है कि यह तमंचा कहां से आया उसे नहीं पता। व्यापारी का कहना है कि वह ट्रेन से गोरखपुर आया है। ट्रेन में ही किसी ने बैग में इसे रख दिया होगा। उधर, गोरखनाथ मंदिर में तमंचा संग व्यापारी के पकड़े जाने की सूचना से गोरखपुर से लखनऊ तक हड़कम्प मच गया। आईबी ने भी जांच शुरू कर दी। बिहार पुलिस से भी मदद ली जा रही है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक बिहार के पश्चिमी चम्पारण निवासी स्पयेर पार्ट्स का व्यापारी अपने दस साल के बेटे के साथ ट्रेन से गोरखपुर बाजार करने आया था। व्यापारी का कहना है कि वह बेटे के कहने पर गोरखनाथ मंदिर दर्शन करने जा रहा था। मंदिर गेट पर चेकिंग के दौरान उसके बैग से पुलिस ने एक तमंचा बरामद किया। पुलिस ने अफसरों को सूचना देने के साथ ही व्यापारी को गोरखनाथ थाने की पुलिस को सौंप दिया।

संयोग है या साजिश? 
गोरखनाथ मंदिर में तमंचे के साथ जा रहे एक व्यक्ति का पकड़ा जाना महज संयोग है या फिर इसके पीछे एक बड़ी साजिश है, इस सवाल ने हड़कम्प मचा दिया है। गोरखनाथ मंदिर गेट पर शुक्रवार शाम को पुलिस की चेकिंग में बिहार के एक व्यक्ति के पास से तमंचा मिला। खुद को बिहार के बेतिया का व्यापारी बताने वाला शख्स अपने दस साल के बेटे के साथ मंदिर में दर्शन करने पहुंचा था। गोरखनाथ मंदिर में तमंचे के साथ व्यापारी के पकड़े जाने की सूचना के बाद आईबी ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है। खुफिया एजेंसियां इस वजह से भी अलर्ट है कि कहीं मंदिर के अंदर तक तमंचा पहुंचाने का प्रयास तो नहीं था और बच्चे की आड़ में मंदिर में जाने की सोची समझी साजिश तो नहीं थी। यही वजह है कि सभी पहलू पर पुलिस के साथ खुफिया एजेंसिया भी जांच कर रही हैं। व्यापारी से किए जा रहे सवालों और उसके जवाब का सत्यापन कराया जा रहा है।

सवा साल पहले सुरक्षाकर्मियों पर हुआ था हमला
गोरखनाथ मंदिर में ही मुख्यमंत्री आदित्यनाथ का आवास होने के नाते यहां की सुरक्षा को लेकर पहले से ही पुलिस अलर्ट रहती है। मंदिर को बम से उड़ाने और मुख्यमंत्री पर हमले की कई बार धमकी भी मिल चुकी है, ऐसे में खुफिया एजेंसियां भी अलर्ट रहती हैं। इस बीच मंदिर गेट पर चेकिंग में तमंचा पकड़े जाने से पुलिस के साथ खुफिया एजेंसियों के भी कान खड़े हो गए हैं।

दरअसल, गोरखनाथ मंदिर और मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ पहले से निशाने पर रहे हैं। यही वजह है कि यहां की सुरक्षा पहले से ही रही है लेकिन योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से उनकी सुरक्षा को और पुख्ता की गई है। हालांकि एक साल पहले जब मंदिर परिसर में घुसकर मुर्तजा अब्बासी ने पुलिस कर्मियों पर हमला किया था उसके बाद इसे और ज्यादा बढ़ा दी गई थी। यही वजह है कि मंदिर परिसर में घुसने वाले प्रत्येक व्यक्ति की अब चेकिंग की जाती है और इसी चेकिंग का ही नतीजा रहा है कि शुक्रवार को एक व्यक्ति तमंचे के साथ पकड़ लिया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हर व्यक्ति को चेकिंग के बाद ही मंदिर के अंदर प्रवेश मिलता है।

तारिक के पकड़े जाने के बाद से भी अलर्ट थी पुलिस गुजरात एटीएस के इनपुट पर पिछले दिनो यूपी एटीएस ने गोरखपुर के तारिक अतहर को भी पकड़ा था। तारिक को आईएसआईएस से प्रभावित बताया गया है। गुजरात एटीएस के हत्थे चढ़ी सुमैरा ने उसे जाल में फंसाया था। तारिक के पकड़े जाने के बाद से भी अन्य लोगों की तलाश की बात कही जा रही थी इन सब के बीच अब मंदिर गेट पर तमंचा के साथ एक व्यक्ति को पकड़े जाने को लेकर पुलिस अफसर इसे हल्के में नहीं ले रहे हैं यही वजह है कि हर पहलू की जांच चल रही है।

मुर्तजा ने बांकी से किया था पुलिसकर्मियों पर हमला
सिविल लाइंस क्षेत्र के रहने वाले मुर्तजा अब्बासी ने एक साल पहले मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षा कर्मियों पर हमला कर सनसनी फैला दी थी। मुर्तजा ने बांकी से हमला किया था उसके पास अगर असलहा होता तो काफी नुकसान पहुंचाता हालांकि पुलिसवालों ने उसे पकड़ लिया और वह वर्तमान में जेल में बंद है। मुर्तजा की घटना के बाद से मंदिर परिसर की सुरक्षा और जांच का दायरा बढ़ा दिया गया था।

पुलिस टीम बेतिया रवाना
पुलिस अफसरों के साथ ही खुफिया एजेंसी ने व्यापारी से पूछताछ शुरू कर दी है। व्यापारी का कहना है कि तमंचा उसका होता तो वह उसे लेकर बेटे के साथ मंदिर क्यों आता? उसे आशंका है कि ट्रेन में किसी ने उसके बैग में तमंचा रख दिया। फिलहाल व्यापारी से पूछताछ के अधार पर गोरखपुर पुलिस ने बिहार के पश्चिमी चम्पारण पुलिस से उसका सत्यापन कराना शुरू कर दिया है। एक टीम बेतिया के लिए रवाना हो गई है।

एसपी सिटी बोले
एसपी सिटी कृष्‍ण कुमार बिश्‍नोई ने बताया कि तमंचे के साथ एक व्यक्ति को गोरखनाथ मंदिर गेट पर पकड़ा गया है। पूछताछ की जा रही है। जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें