ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबिस्तर पर सो रही ननद के पास पहुंची भाभी, आधी रात को कर दी अजीब हरकत, आंख खुली तो महिला के हाथ में मिली कैंची

बिस्तर पर सो रही ननद के पास पहुंची भाभी, आधी रात को कर दी अजीब हरकत, आंख खुली तो महिला के हाथ में मिली कैंची

यूपी के रामपुर में अंधविश्वास से जुड़े एक मामले ने हैरान कर दिया। यहां भाभी ने अपनी ननद के साथ कुछ ऐसा कर डाला जो चर्चा का विषय बन गया। बात पुलिस तक पहुंच गई।

बिस्तर पर सो रही ननद के पास पहुंची भाभी, आधी रात को कर दी अजीब हरकत, आंख खुली तो महिला के हाथ में मिली कैंची
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान,अमरोहाFri, 24 May 2024 04:00 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के रामपुर में अंधविश्वास से जुड़े एक मामले ने हैरान कर दिया। यहां भाभी ने अपनी ननद के साथ कुछ ऐसा कर डाला जो चर्चा का विषय बन गया। बात पुलिस तक पहुंच गई। दरअसल रात के अंधेरे में तहेरी भाभी कैंची लेकर अपनी नाबालिग ननद के पास पहुंच गई। यहां उसने ननद की चोट काट ली। ननद की आंख खुली तो उसने भाभी की इस हरकत का विरोध किया। मामला खुलने पर गांव में पंचायत हुई और कुछ रकम देने के वादे पर समझौता हो गया। वादा पूरा न होने पर भाभी ने कोतवाली में अवैध वसूली का आरोप में तहरीर दे दी।

कोतवाली क्षेत्र के करींगा गांव में शनिवार की रात घर में सो रही नाबालिग की चोटी उसकी तहेरी भाभी ने अंधविश्वास के चलते काट ली। चोटी को काटते समय नाबालिग की आंख खुल गई और उसने विरोध किया। लेकिन भाभी ने चोटी काट ली और चोटी काटकर घर के दरवाजे पर रख दी। घटना के दूसरे दिन पता चलने पर नाबालिग के परिजनों ने भाभी और उसके पति को पंचायत में बुलाया। पंचायत ने चोटी काटने की एवज में पीड़ित नाबालिग को 20 हजार रुपए का मुआवजा देने पर समझोता हो गया। पैसे देने की डेट आने पर वह मुकर गई और कोतवाली पहुंच गई और उसने नाबालिग के परिवार वालों के खिलाफ अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दे दी।

गुरुवार को पुलिस ने दोनों पक्षों को कोतवाली बुलवाया। नाबालिग ने आरोप लगाया कि अंधविश्वास के चलते उसकी तहेरी भाभी ने सोते समय उसकी चोटी काट ली और दरवाजे पर रख दी थी।भाभी ने आरोप लगाया कि चोटी काटने की एवज में उससे 20 हजार रुपए की मांग की जा रही है। कोतवाल धनंजय सिंह ने बताया कि दोनों पक्षों का समझौता हो गया है। दोनों ही पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ कार्रवाई करने से इंकार कर दिया है।