DA Image
1 अगस्त, 2020|11:30|IST

अगली स्टोरी

कानपुर लोको शेड का अविष्कार, ट्रेन की बोगियां जोड़ने में समय बचाएगा बैट्री से चलने वाला शंटिंग रेल इंजन 

battery-powered shunting rail engine made in kanpur

इलेक्ट्रिक लोको शेड फजलगंज ने एक ऐसा शंटिंग इंजन तैयार किया है जो बिजली के साथ ही बैटरी से भी चलेगा। इस ड्यूल मोड शंटिंग लोको (इंजन) से शेड में आने वाले इलेक्ट्रिक इंजनों को मरम्मत के लिए बिना इलेक्ट्रिक लाइन वाले ट्रैक पर ले जाया जा सकेगा। मंडल के पीआरओ केशव त्रिपाठी ने बताया कि इलेक्ट्रिक इंजनों की छत पर जाकर मरम्मत के लिए जरूरी होता है कि ऐसी रेलवे लाइन पर खड़ा किया जाए, जहां ओवरहेड इलेक्ट्रिक लाइन (ओएचई) न हो।

मरम्मत योग्य इंजन को बिना ओएचई लाइन वाले ट्रैक तक ले जाने के लिए एक साथ कई इलेक्ट्रिक इंजन या ट्रेन की बोगियां जोड़नी पड़ती थीं। इसमें काफी समय खर्च होता था। कई बार इसकी वजह से समय पर इलेक्ट्रिक इंजनों की मेंटीनेंस नहीं हो पाती थी। अब इसका हल विद्युत लोको शेड कानपुर ने निकाल लिया है। भारतीय रेलवे के इतिहास में पहली बार बिजली के साथ ही बैटरी से चलने वाला शंटिंग इंजन बनाया गया है। ड्यूल मोड शंटिंग लोको का ट्रायल भी सफल हो गया है। नए शंटिंग इंजन को वायर्ड सेक्शन यानी ओएचई वाले ट्रैक और अनवायर्ड सेक्शन यानी ओएचई रहित सेक्शन दोनों में प्रयोग किया जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:battery-powered shunting rail engine made in kanpur