DA Image
31 मई, 2020|3:00|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन: बीमार बुजुर्ग की दवा हो गई खत्म, लेने जाना था 130 KM दूर, जानें कैसे फरिश्ता बनी पुलिस

police beat up two young men coming to bareilly by fodder animals

कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन के दौरान परेशानियों और समस्याओं के बीच शहर से लेकर गांव तक पुलिसवाले लोगों का सहारा बने हुए हैं। चाहे वो पलायन कर रहे मजदूरों के लिए खाने-पीने की व्यवस्था की बात हो या दवा उपलब्ध कराने की, पुलिस वाले ईमानदारी से अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। दरअसल, उत्तर प्रदेश में एक बुजुर्ग की दवा लाने की एक फरियाद पर ही एक दिन बाद पुलिस ने उसकी दवा ला दी। उत्तर  प्रदेश के चित्रकूट जिले के बीमार एक बुजुर्ग की दवा लेने के लिए एक पुलिसकर्मी को रविवार को प्रयागराज भेजा गया।

मामला चित्रकूट जिले के पहाड़ी थाना के ओरा गांव से जुड़ा है। यहां के 70 साल के बुजुर्ग भूपत गर्ग लिवर की बीमारी और हैपेटाइटिस बी से पीड़ित हैं। लॉकडाउन में उनकी दवा खत्म हो गई और दवा चित्रकूट व बांदा में नहीं मिल रहा था, लिहाजा उमादत्त पांडेय नामक व्यक्ति ने शनिवार शाम अपने ट्विटर हैंडल से डीआईजी बांदा दीपक कुमार को टैग कर बुजुर्ग को दवा उपलब्ध कराने की फरियाद की, जिसपर डीआईजी ने दवा उपलब्ध कराने का भरोसा दिया।

उमादत्त पांडेय ने बीमारी, दवा का नाम और मोबाइल नंबर सब ट्वीट में लिखा, जिसके बाद डीआईजी दीपक कुमार ने कहा कि कल यद दवा आपके पास पहुंच जाएगी। 

रविवार को बीमार बुजुर्ग भूपत गर्ग ने फोन पर बताया कि डीआईजी के आदेश पर आज सुबह एक सिपाही उसके घर आया था और पास बनवाकर एक परिजन को अपने साथ दवा खरीदने के लिए प्रयागराज ले गया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि अब उसे दवा मिल जाएगी।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Banda DIG Deepak Kumar Help 70 Year old man providing him medicine From prayagraj