ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के इस शहर में कई जगहों पर मांस की बिक्री पर रोक, नगर निगम कार्यकारिणी का फैसला

यूपी के इस शहर में कई जगहों पर मांस की बिक्री पर रोक, नगर निगम कार्यकारिणी का फैसला

Ban on sale of meat: बरेली नगर निगम कार्यकारिणी ने नाथ कॉरिडोर वाले मार्गों समेत अन्य धार्मिक स्थल वाले रोड के अगल-बगल मांस की बिक्री, मीट परोसने वाले ठेले, फड़ को बैन करने का प्रस्ताव पारित किया।

यूपी के इस शहर में कई जगहों पर मांस की बिक्री पर रोक, नगर निगम कार्यकारिणी का फैसला
Ajay Singhकार्यालय संवाददाता,बरेलीWed, 21 Feb 2024 06:48 AM
ऐप पर पढ़ें

Ban on sale of meat: नगर निगम कार्यकारिणी ने नाथ कॉरिडोर वाले मार्गों समेत अन्य धार्मिक स्थल वाले रोड के अगल-बगल मांस की बिक्री, मीट परोसने वाले ठेले, फड़ को प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव पारित किया। मंगलवार को कार्यकारिणी की बैठक में फ्लाईओवर का नामकरण करते हुए महादेव सेतु को भी स्वीकृति दी गई। निर्माण कार्य, सफाई व्यवस्था और अफसरों की कार्यशैली से लेकर बाबू, अतिक्रमण दस्ता प्रभारी पर भ्रष्टाचार, अवैध वसूली जैसे आरोप लगाए गए।

बैठक में विकास कार्यों की धीमा चाल और रुके हुए कामों से लेकर विभागीय उदासीनता और जनता से जुड़े मुद्दे हावी रहे। मेयर डॉ. उमेश गौतम की अध्यक्षता में चली बैठक में उपसभापति सर्वेश रस्तोगी और सदस्य नीरज कुमार ने कहा कि नाथ मोहत्सव करीब है। शहर नाथनगरी के नाम से प्रसिद्व है। नाथ कॉरिडोर तैयार किया जा रहा है। इसलिए शहर की सड़कों से खुले में मीट मछली बेच रहे दुकानदारों पर कार्रवाई की जाए। मेयर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि नाथ कॉरिडोर वाले मार्गों पर मांस, मछली परोसन वाले ठेले, काउंटरों को तुरंत हटाया जाए। बैठक में रखे गए प्रस्ताव को सर्वसम्मति से सहमति दी।

फ्लाईओवर का नामकरण, महादेव सेतु को कार्यकारिणी की स्वीकृति फ्लाईओवर को नामकरण महादेव सेतु हो गया है। मंगलवार को नगर निगम की कार्यकारिणी की बैठक में 91(2) के प्रस्ताव पर चर्चा की गई तो मेंबरों ने बिना आपत्ति लगाए उसको स्वीकृति दे दी। प्रस्ताव के प्रस्तावक मेयर डॉ. उमेश गौतम और अनुमोदक करने वाले मेंबर सलीम पटवारी रहे। सदस्यों ने सर्वसम्मति से इस प्रस्ताव को पास कर दिया। प्रस्ताव पर सहमित देने वालों में सदस्य सर्वेश रस्तोगी, अलीम खां, सलीम अहमद, गरिमा कमांडो, निधि सक्सेना, रामपाल, सागर मौर्या, सौरभ कुमार, नीरज कुमार, मीरा देवी रही।

निर्माण, सफाई और मंडियों के टेंडर, अतिक्रमण पर नोकझोंक कार्यकरणी सदस्यों ने अधिकारियों की शिकायत के साथ रुके पड़े कार्य शुरू करने की मांग की। वार्डों की समस्या गिनाई। मेंबर अलीम खां ने स्वाले नगर क्षेत्र में दो साल से निर्माण कार्य न होने पर नाराजगी जताई। मेयर ने मुख्य अभियंता से कहा कि दो दिन में काम शुरू न करने वाली फर्म को ब्लैक लिस्ट करके रिपोर्ट दें। सबसे ज्यादा अतिक्रमण का मुद्दा उठा। वही कुछ मेंबरों ने यह भी कहा कि नगर निगम के कर्मचारी कब्जा करने के लिए ठेले वालों से पैसे भी वसूलते हैं। बॉल पेंटिंग, साफ सफाई, मंडियों के ठेके अन्य कामों के बारे में बताया गया। वहीं वार्डों के कार्य के लिए 30, 30 लाख रुपए की और धनराशि की मांग की गई। मंडियों के ठेके न होने पर मेयर ने अफसरों से सवाल करते हुए टेंडर नहीं हुआ तो राजस्व का नुकसान कौन अधिकारी होगा।

बाबू और अतिक्रमण दस्ता प्रभारी पर वसूली के आरोप
उपसभापति सर्वेश रस्तोगी, सलीम पटवारी, नीरज कुमार, सागर मौर्य, सौरभ कुमार, अलीम खां ने कहा कि हेल्थ विभाग में बाबु कई साल से तैनात हैं और उनपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, जांच हो रही हैं। बाबु सरवर हुसैन, अमनदीप सक्सेना एक पटल पर मनमानी कर रहे हैं। मेंबर बोले- अतिक्रमण दस्ता प्रभारी अवैध वसूली में संलिप्त है। इस पर मेयर, नगरायुक्त ने सबूत पेश करने को कहा तो मेंबरों ने कहा कि कार्यकारिणी से सबूत मांगे जा रहे हैं। जांच कराए तो सच सामने आ जाएगा।

मेयर बोले- सबसे ज्यादा नाकारा हेल्थ व निर्माण विभाग
सदस्य नीरज ने प्रदेश सरकार के दर्पण डैशबोर्ड पर हर माह जिलों की विकास रैंकिंग पर बरेली को दूसरा स्थान मिलने की तारीफ की तो वहीं नगर निगम का निर्माण, हेल्थ और अन्य विभागों की कार्यशैली पर सवाल उठ गए। उन्होंने कहा कि हमारे क्षेत्र की जेई आठ माह में दो बार आती है। ज्यादातर अवकाश पर रहने के कारण क्षेत्र में विकास कार्यों की गति धीमी होती जा रही है। मेयर ने मुख्य अभियंता को एक सप्ताह में प्रकरण की जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए। हेल्थ विभाग की बारी आई तो मेयर बरस पड़े। बोले- हेल्थ विभाग सबसे ज्यादा नाकारा है। बरेली आए सीएम के निर्देश के बाद भी सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं है। हेल्थ विभाग में जो काम हो रहे हैं उनके बारे में हमसे पूछा नहीं जा रहा है। नगर स्वास्थ्य अधिकारी मुझे मजबूर न करें, वरना कक्ष कमेटी बनाकर जांच करा सकता हूं। नगर निगम अधिनियम में मुझे कक्ष कमेटी बनाने का अधिकार है। नगर स्वास्थ्य अधिकारी को 10 दिन का अल्टीमेटम दिया जाता है। कार्यशैली में सुधार करें।

ये प्रस्ताव मंजूर
एक ही पटल पर तीन साल से अधिक टिके लिपिक हटाएं
अतिक्रमण हटाने को चलेगा अभियान
मिशन नाला मार्केट पर बनी दुकानों विधिक पहल
सरकारी संपत्तियों से अतिक्रमण हटाने
साप्ताहिक बाजार हटाने
जलकल में पंप ऑपरेक्टर को मूल पद पर भेजने की मांग
ठेके पर लगे सफाई कर्मचारियों को अवकाश दिलाने की मांग
वॉल पेंटिंग का ठेका की जांच होगी
 तंग गलियों में सीवर लाइन सफाई के लिए छोटी मशीन की मांग

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें