bail application of accused Vikram and Sachin rejected in seeking extortion from Chinmayanand case - चिन्मयानंद केस : रंगदारी मांगने के आरोपी विक्रम और सचिन की जमानत अर्जी खारिज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिन्मयानंद केस : रंगदारी मांगने के आरोपी विक्रम और सचिन की जमानत अर्जी खारिज

supreme court to hear chinmayanand abuse case

स्वामी चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में जेल में बंद विक्रम और सचिन की जमानत अर्जी गुरूवार को जिला जज की अदालत से खारिज हो गई है जबकि संजय की जमानत अर्जी पर 15 अक्टूबर को सुनवाई होगी।

स्वामी चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह ने बताया कि जिला जज रामबाबू शर्मा की अदालत में विक्रम, सचिन और संजय के अधिवक्ता प्रमोद तिवारी ने जमानत अर्जी दाखिल की थी जिस पर सुनवाई से पूर्व ही उनके अधिवक्ता ने संजय सिंह की जमानत की अर्जी वापस ले ली। इस पर कोर्ट ने 15 अक्टूबर की तिथि सुनवाई के लिए लगाई है। उन्होंने बताया कि रंगदारी मांगने के आरोपी विक्रम और सचिन की जमानत अर्जी जिला जज रामबाबू शर्मा ने खारिज कर दी। रंगदारी मांगने के मामले को लेकर अदालत में ओम सिंह तथा जिला शासकीय अधिवक्ता अनुज सिंह ने जमानत का काफी विरोध किया। इसके बाद दोनों आरोपियों की जमानत निरस्त कर दी गई।

उल्लेखनीय है कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के व्हाट्सएप पर उक्त आरोपियों ने एक मैसेज भेज कर कहा था कि तुमने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद की है। तुम्हारी वीडियो हमारे पास है। पांच करोड़ रुपए दे दो नहीं तो वीडियो चैनल वालों को दे दिए जाएंगे। इसी मामले को लेकर स्वामी चिन्मयानंद के अधिवक्ता ने रंगदारी मांगने की रिपोर्ट शाहजहांपुर कोतवाली में दर्ज कराई थी। मामले की जांच एसआईटी ने की और जांच में संजय, विक्रम और सचिन के अलावा पीड़िता को भी आरोपी बनाया। इस वक्त रंगदारी मांगने के आरोप में चारों आरोपी जेल में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bail application of accused Vikram and Sachin rejected in seeking extortion from Chinmayanand case