Ayodhya verdict Ayodhya dispute timeline what was 1994 Ismail Farooqui case why said mosque is not connected to Islam - अयोध्या विवाद : क्या है 1994 का इस्माइल फारूकी केस, क्यों कहा गया मस्जिद इस्लाम से जुड़ा हुआ नहीं DA Image
18 नबम्बर, 2019|7:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अयोध्या विवाद : क्या है 1994 का इस्माइल फारूकी केस, क्यों कहा गया मस्जिद इस्लाम से जुड़ा हुआ नहीं

Program, day, muslim

अयोध्या मामले पर प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पांच न्यायधीशों की पीठ ने फैसला सुना दिया है। फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मस्जिद के लिए अयोध्या में उपयुक्त स्थान पर पांच एकड़ का प्लॉट देने का आदेश दिया है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि सरकार तीन महीने के भीतर ट्रस्ट बनाएगा और यह ट्रस्ट मंदिर का निर्माण करेगा।

मुख्य विवाद से अलग है यह मामला

1994 का यह मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मुख्य विवाद राम मंदिर बाबरी मस्जिद से अलग है लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से उससे जुड़ा भी है। इस्माइल फारूकी ने अयोध्या में भूमि अधिग्रहण को चुनौती दी थी जिस पर सुनवाई करते हुए शीर्ष न्यायालय ने कहा था कि नमाज पढ़ना मस्जिद का अनिवार्य हिस्सा नहीं है। मुस्लिम समुदाय इससे सहमत नहीं है और वह चाहता है कि सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले पर दोबारा से विचार करे। मुस्लिम समुदाय अभी तक यह चाहता आ रहा है कि मुख्य मामले से पहले 1994 के इस फैसले पर सुनवाई हो।

अयोध्या केसः सभी स्कूल कॉलेज 9 नवंबर से 11 नवंबर तक रहेंगे बंद

1885 में पहली बार जिला अदालत में पहुंचा था अयोध्या विवाद का मामला

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ayodhya verdict Ayodhya dispute timeline what was 1994 Ismail Farooqui case why said mosque is not connected to Islam