ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या राम मंदिर में नई व्यवस्था, अब रामलला का दर्शन बिना लाइन कर सकेंगे, मुफ्त मिलेगा पास

अयोध्या राम मंदिर में नई व्यवस्था, अब रामलला का दर्शन बिना लाइन कर सकेंगे, मुफ्त मिलेगा पास

अयोध्या में रामलला के दर्शन की दो नई व्यवस्थाएं शनिवार से लागू होंगी। सुगम व विशिष्ट दर्शन लिए दो-दो घंटे के छह स्लाट तय हुए हैं। इसके लिए निशुल्क ऑन लाइन और ऑफ लाइन पास दिया जाएगा।

अयोध्या राम मंदिर में नई व्यवस्था, अब रामलला का दर्शन बिना लाइन कर सकेंगे, मुफ्त मिलेगा पास
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,अयोध्याFri, 16 Feb 2024 11:48 PM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या में श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ने शुक्रवार को दर्शनार्थी श्रद्धालुओं की सहूलियत के लिए बड़ा फैसला किया है जिससे श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के बावजूद सरलता से रामलला का दर्शन सुलभ हो सकेगा। तीर्थ क्षेत्र ने इसके लिए सुगम दर्शन व विशिष्ट दर्शन की दो नई श्रेणी तय की है। इस श्रेणी में दर्शन की सुविधा सुबह सात बजे से रात नौ बजे के मध्य दो-दो घंटे की छह अलग-अलग स्लाट में मिलेगी। इस श्रेणी में 'पास' निर्गत कराने वाले श्रद्धालुओं के लिए बुकिंग स्लाट के निर्धारित समय में पहुंचने की अनिवार्यता रहेगी अन्यथा 'पास' निरस्त माना जाएगा। यह व्यवस्था शनिवार से लागू हो जाएगी।

सुगम दर्शन के लिए तीन सौ व विशिष्ट दर्शन में डेढ़ सौ पास होंगे निर्गत
सुगम दर्शन के लिए तीन सौ श्रद्धालुओं को 'पास' निर्गत किए जाएंगे जिनमें 150 'पास' की बुकिंग आनलाइन श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र की वेबसाइट के माध्यम से होगी। इसके अलावा 150 'पास' रेफरल होंगे जो तीर्थ क्षेत्र की कार्यकारिणी के सदस्यों व शासन -प्रशासन के उच्चाधिकारियों की संस्तुति पर निर्गत किए जाएंगे। इस तरह से विशिष्ट दर्शन की व्यवस्था भी सुबह सात बजे से रात्रि नौ बजे के मध्य निर्धारित दो-दो घंटे के छह स्लाट में ही होगी। विशिष्ट दर्शन के लिए 150 श्रद्धालुओं को भेजने का निर्णय है। इसके साथ यह व्यवस्था पूरी तरह रेफरल है और इसकी आनलाइन बुकिंग फिलहाल नहीं होगी।

रामलला की शृंगार आरती दर्शन का भी बनेगा पास:
श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ने मंगला व शयन आरती के बाद अब श्रृंगार आरती दर्शन का भी 'पास' निर्गत करने का निर्णय लिया है। तीर्थ क्षेत्र के पदाधिकारियों व व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों की हुई संयुक्त बैठक में तय किया गया कि रामलला की श्रृंगार आरती सुबह सवा छह बजे होगी। इसके पहले 'पास' के जरिए श्रद्धालुओं का प्रवेश पौने छह बजे से होगा। तीर्थ क्षेत्र के न्यासी डा. अनिल मिश्र ने बताया कि आरती दर्शन के लिए एक सौ श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्था रहेगी जिसमें 20 पास की आनलाइन बुकिंग होगी जबकि 80 पास रेफरल होंगे जो ट्रस्ट पदाधिकारियों की संस्तुति पर ही निर्गत की जाएगी।

मध्याह्न भोग आरती के बाद अपराह्न एक बजे तक बंद रहेगा राम मंदिर का पट:
श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ने यह भी निर्णय लिया है कि सुबह सात बजे से रात दस बजे तक हो रहे दर्शन के बीच रामलला को करीब 45 मिनट का विश्राम दिया जाएगा। इसके लिए मध्याह्न 12 बजे रामलला की भोग आरती होगी। इस दौरान मंदिर परिसर में पहुंचे श्रद्धालुओं को आरती दर्शन स्वत: मिल जाएगा लेकिन आरती के तत्काल बाद रामलला का पट बंद कर दिया जाएगा और उन्हें विश्राम दिया जाएगा। तीर्थ क्षेत्र के न्यासी डा. मिश्र ने बताया कि अपराह्न एक बजे के बाद दोबारा मंदिर का पट खुलेगा और पुनः रात्रि दस बजे शयन आरती तक दर्शन चलता रहेगा।

सुगम दर्शन के लिए निर्धारित स्लाट: 
सुबह 7 बजे से 9 बजे तक
सुबह 9 बजे से पूर्वाह्न 11 बजे तक 
अपराह्न 1 बजे से 3 बजे तक
अपराह्न 3 बजे से सायं 5 बजे तक 
 सायं 5 बजे से सायं 7 बजे तक
 सायं 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें