ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या राम मंदिर निर्माण अपडेट, प्राण प्रतिष्ठा तक शिखर को छोड़कर तैयार हो जाएंगे 4 मंडप

अयोध्या राम मंदिर निर्माण अपडेट, प्राण प्रतिष्ठा तक शिखर को छोड़कर तैयार हो जाएंगे 4 मंडप

अयोध्या राम मंदिर में शीर्ष पर शिखर के अलावा पांच मंडपों का निर्माण होना है। इनमें नृत्य मंडप, रंग मंडप, गूढ़ी मंडप व कीर्तन और प्रार्थना मंडप शामिल हैं।

अयोध्या राम मंदिर निर्माण अपडेट, प्राण प्रतिष्ठा तक शिखर को छोड़कर तैयार हो जाएंगे 4 मंडप
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,अयोध्याThu, 23 Nov 2023 05:56 AM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या राम मंदिर में शीर्ष पर शिखर के अलावा पांच मंडपों का निर्माण होना है। इनमें नृत्य मंडप, रंग मंडप, गूढ़ी मंडप व कीर्तन और प्रार्थना मंडप शामिल हैं। इनमें नृत्य मंडप, रंग मंडप के साथ कीर्तन और प्रार्थना मंडप एक साथ तैयार हो जाएंगे। इसके अतिरिक्त गूढ़ी मंडप व शिखर का निर्माण चल रहा है लेकिन इसमें समय लग सकता है। ये जानकारी श्रीराजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के भवन निर्माण समिति की बैठक के दूसरे दिन सदस्य डा अनिल मिश्र ने मीडिया से साझा करते हुए कही। 

उन्होंने कहा कि सिंहद्वार के बाद अलग-अलग मंडपों की ऊंचाई क्रमशः बढ़ते हुए क्रम में है। पहले नृत्य मंडप फिर रंग मंडप व गूढ़ी मंडप और शिखर सबसे ऊंचा होगा जबकि कीर्तन व प्रार्थना मंडप की ऊंचाई समान होगी चूंकि यह मंदिर की भुजाओं की तरह गूढ़ी मंडप के उत्तर-दक्षिण में स्थित है।

इसके पहले रामलला के निर्माणाधीन दिव्य मंदिर की प्रगति समीक्षा के लिए हर पखवाड़े होने वाली भवन निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक के दूसरे दिन श्रीरामजन्म भूमि परिसर के बजाय सर्किट हाउस में बैठक की गई। इसके पहले भवन निर्माण समिति चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने तीर्थ क्षेत्र पुरम में चल रही प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियों का जायजा लिया। वहीं उन्होंने रामसेवकपुरम में अलग-अलग हो रहे रामलला के नवीन विग्रह निर्माण कार्य का भी अवलोकन किया और मूर्तिकारों से बातचीत कर उनकी हौसला अफजाई की। 

भूतल में गर्भगृह के बाहर फर्श के साथ चल रहा आंतरिक सज्जा व लाइटिंग का काम 
तीर्थ के न्यासी डा. मिश्र ने बताया कि राम मंदिर के भूतल में गर्भगृह का निर्माण पूरा हो चुका है। वहीं बाहर में फर्श व लाइटिंग के साथ आंतरिक सज्जा का काम भी तेज हो चुका है। उन्होंने बताया कि भवन निर्माण समिति की बैठक में सुनिश्चित किया गया है कि आठ जनवरी को मंदिर की आंतरिक लाइटिंग का ट्रायल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि परिसर में विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए पावर कारपोरेशन की ओर से विद्युत संयोजन का काम जल्द हो जाएगा। बताया गया कि समिति की बैठक में पावर कारपोरेशन के अफसरों ने भी हिस्सा लिया था। बताया गया कि भूमिगत लाइन विस्तार का काम हो रहा है। बताया गया कि परिसर में 33/11 केवी विद्युत सब स्टेशन का निर्माण भी अंतिम दौर में है। क्रासिंग-थ्री से भूमिगत लाइन इसी सब स्टेशन तक पहुंचा कर ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। इसके लिए तीर्थ क्षेत्र ने सामान की आपूर्ति करवा दी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें