ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या राम मंदिर के तीन मंडपों का निर्माण लगभग पूरा, प्रार्थना मंडप व शिखर का निर्माण जारी

अयोध्या राम मंदिर के तीन मंडपों का निर्माण लगभग पूरा, प्रार्थना मंडप व शिखर का निर्माण जारी

राम मंदिर का निर्माण नवम्बर 2024 में पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है। प्राण-प्रतिष्ठा के बाद रामलला का दर्शन जारी है लेकिन साथ ही मंदिर निर्माण निर्धारित लक्ष्य की गति से ही चल रहा है।

अयोध्या राम मंदिर के तीन मंडपों का निर्माण लगभग पूरा, प्रार्थना मंडप व शिखर का निर्माण जारी
Srishti Kunjकमलाकान्त सुन्दरम,अयोध्याThu, 09 May 2024 06:17 AM
ऐप पर पढ़ें

राम मंदिर का निर्माण नवम्बर 2024 में पूरा करने का लक्ष्य यूं ही नहीं तय किया गया है। प्राण-प्रतिष्ठा के बाद रामलला का दर्शन बदस्तूर जारी है लेकिन इसके साथ मंदिर निर्माण की प्रगति भी निर्धारित लक्ष्य की गति से ही चल रही है। प्रचंड गर्मी और दर्शनार्थियों के कारण दिन में आने वाले व्यवधान के लिए रात्रिकालीन निर्माण की रणनीति पर अमल किया जा रहा है। इसके चलते राम मंदिर के पांच मंडपों में से तीन मंडपों सिंहद्वार के अलावा रंग मंडप व नृत्य मंडप का निर्माण करीब-करीब पूरा हो गया है। यही नहीं गूढ़ी मंडप के समानांतर प्रार्थना व कीर्तन मंडप का निर्माण भी आकार ले चुका है।

यही कारण है कि भवन निर्माण समिति चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने यह दावा किया कि राम मंदिर समेत सात मंदिरों का निर्माण नवम्बर 2024 में पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य की सबसे बड़ी चुनौती परकोटा है। फिर भी उम्मीद है कि इसका भी निर्माण निर्धारित समय में हो जाएगा। यदि कोई अवरोध आएगा तो तीन माह के अतिरिक्त समय में निर्माण को हर हाल में पूरा कर लिया जाएगा।

परकोटा निर्माण के साथ राम मंदिर व अवशेष कामों को पूरा करने के लिए श्रमिकों व कारीगरों की संख्या पहले ही बढ़ाई गयी थी। प्राण-प्रतिष्ठा के समय और उसके बाद श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़ के कारण कार्य में आए व्यवधान के बाद भी संविदा पर कार्यरत श्रमिकों व कारीगरों को यथावत रोक रखा गया था। काम की गति बढ़ाने के लिए इन सभी को वापस काम पर लगा दिया गया है और योजना बद्ध ढंग से काम चल रहा है।

बांके बिहारी के चरण दर्शन के लिए एडवाइजरी जारी, साल में एक बार इस दिन होता है आयोजन

यात्री सुविधा केंद्र में मिनी आईसीयू शुरू
श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की ओर से राम मंदिर परिसर में बनवाए गए तीर्थ यात्री सुविधा केंद्र में दस बेड के अस्पताल के साथ मिनी आईसीयू की भी व्यवस्था कर दी गई है जिससे आकस्मिक स्थिति में पीड़ित दर्शनार्थी को तात्कालिक उपचार उपलब्ध कराया जा सके। तीर्थ क्षेत्र के न्यासी डा अनिल मिश्र ने बताया कि परिसर के अंदर की व्यवस्था यात्री सुविधा केंद्र के रूप में विकसित की गई है जबकि परिसर के बाहर जन्मभूमि पथ के प्रवेश द्वार पर यात्री सेवा केन्द्र विकसित किया गया है। उन्होंने बताया कि यात्री सेवा केन्द्र में भी ओपीडी चल रही है । यहां एलोपैथी, होम्योपैथी व आयुर्वेद तीन प्रणाली का उपचार सुलभ है। यह सेवा महज यात्रियों के लिए ही नहीं बल्कि स्थानीय नागरिकों के लिए भी है।

सेवा केंद्र में यात्रियों के बड़े बैग रखने की सुविधा
तीर्थ क्षेत्र के न्यासी डा अनिल मिश्र कहते हैं कि परिसर में स्थित यात्री सुविधा केंद्र में लॉकर उपलब्ध है लेकिन यहां हैंडबैग व अन्य सामान के रखने की सुविधा है लेकिन इन लॉकरों में बड़े बैग व सूटकेस नहीं रखें जा सकते हैं। इसीलिए प्रवेशद्वार पर स्थित सेवा केन्द्र में बड़े बैग रखवाने का प्रबंध कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सेवा केन्द्र में मंदिर सम्बन्धित सभी जानकारियों के लिए स्वागत कक्ष व पूछताछ काउंटर है। यहां शीघ्र ही रेलवे आरक्षण की सुविधा के साथ रेलवे समय सारिणी की भी उपलब्धता सुनिश्चित कर दी जाएगी।