ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या में राम मंदिर की छत नहीं टपक रही, पानी आने की दूसरी वजह, नृपेंद्र मिश्र ने बताया पूरा माजरा

अयोध्या में राम मंदिर की छत नहीं टपक रही, पानी आने की दूसरी वजह, नृपेंद्र मिश्र ने बताया पूरा माजरा

अयोध्या में पहली ही बारिश में राम मंदिर की छत से पानी टपकने की बातों से निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र ने इनकार किया है। उन्होंने राम मंदिर के अंदर पानी आने की दूसरी वजह बताई है।

अयोध्या में राम मंदिर की छत नहीं टपक रही, पानी आने की दूसरी वजह, नृपेंद्र मिश्र ने बताया पूरा माजरा
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,अयोध्याMon, 24 Jun 2024 11:34 PM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या में पहली ही बारिश में राम मंदिर की छत से पानी टपकने की बातों से निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र ने इनकार किया है। उन्होंने मंदिर के अंदर पानी आने की दूसरी वजह बताई है। इससे पहले राम मंदिर के मुख्य पुजारी सत्येंद्र मिश्र ने छत से पानी टपकने और मंदिर के अंदर भी पानी चार इंच तक भरने की बात कही थी। नृपेंद्र मिश्र ने स्पष्ट किया कि राम मंदिर की पहली मंजिल से बारिश का पानी टपक रहा है क्योंकि मंदिर की दूसरी मंजिल पूरी तरह से खुली पड़ी है। नृपेंद्र मिश्र इस समय राम मंदिर के चल रहे निर्माण कार्य की समीक्षा करने के लिए अयोध्या में ही हैं। 

एएनआई से बातचीत में नृपेंद्र मिश्र ने कहा कि मैं इस समय अयोध्या में हूं। मैंने मंदिर की पहली मंजिल से बारिश का पानी टपकते देखा है। हम इसकी उम्मीद कर रहे थे क्योंकि मंदिर की दूसरी मंजिल पूरी तरह से खुली हुई है। कहा कि मंदिर की पहली मंजिल का निर्माण कार्य अगले महीने के अंत तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद दूसरी मंजिल का काम शुरू होगा जो इस साल के अंत तक पूरा हो जाएगा। मंदिर की पहली मंजिल पर निर्माण कार्य चल रहा है, इसलिए मंदिर के गर्भगृह में नाली बंद कर दी गई है। मंदिर के गर्भगृह से पानी मैन्युअल रूप से निकाला जा रहा है। पानी का इस तरह इकट्ठा होना या नीचे आने का मंदिर के डिजाइन से कोई लेना-देना नहीं है। खुले फर्श से बारिश का पानी नीचे गिर ही सकता है।

अयोध्या का राम पथ थोड़ी सी बारिश नहीं झेल सका, जगह-जगह हो गए गड्ढे

नृपेंद्र मिश्र का स्पष्टीकरण ऐसे समय आया है जब राम मंदिर के मुख्य पुजारी सत्येंद्र मिश्र ने सोमवार की सुबह छतों से पानी टपकने की बातें कहीं। मुख्य पुजारी यह भी कहा कि गर्भगृह में जहां रामलला विराजमान हैं, वहां भी पानी भर गया। अगर एक-दो दिन में इंतजाम नहीं हुए, तो दर्शन और पूजन की व्यवस्था बंद करनी पड़ेगी। 

अयोध्या में शनिवार-रविवार की रात करीब 67 एमएम बारिश हुई है। इससे राम पथ पर भी कई जगहों पर गड्ढे हो गए हैं। पूरे शहर में जगह-जगह पानी भर गया। कई सड़कें धंस गई हैं। कुछ महीने पहले बने अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन की करीब 20 मीटर लंबी चहारदीवारी भी ढह गई है।