DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आबकारी टीम पर दबिश के दौरान हमला, पथराव और फायरिंग

मवाना के खेड़ी मनिहार गांव में शराब तस्कर के घर दबिश के दौरान आबकारी टीम पर भीड़ ने हमला बोल दिया। पथराव करते हुए सरकारी वाहनों में तोड़फोड़ कर दी और आग लगाने का प्रयास किया। फायरिंग भी की गई। एक महिला कांस्टेबल और दो अन्य को बंधक बनाकर पीटा और घायल कर दिया। सूचना पर थाना पुलिस समेत पीआरवी की कई गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंची, जिसके बाद टीम के सदस्यों को बंधनमुक्त कराया जा सका। पुलिस से आरोपियों में शामिल शराब तस्कर की मां को गिरफ्तार किया है। 

आबकारी टीम को सूचना मिली थी कि खेड़ी मनिहार गांव निवासी शराब तस्कर जीतू के यहां शराब का जखीरा आया है। सूचना पर आबकारी टीम ने सोमवार शाम खेड़ी मनिहार में टीम के साथ दबिश दी। जैसे ही जीतू को पकड़ा, गांव का माहौल उग्र हो गया। दर्जनों लोगों ने आबकारी टीम पर हमला बोल दिया। परिजनों ने टीम पर पथराव कर दिया और आरोपी को अभिरक्षा से छुड़ा लिया। 

आबकारी टीम ने विरोध किया तो एक युवक ने फायरिंग कर दी। सरकारी वाहनों में तोड़फोड़ कर दी और जीप में आग लगाने का प्रयास किया। टीम में शामिल कुछ सदस्य वहां से भाग निकले, जबकि भीड़ ने एक महिला कांस्टेबल सुमन और दो अन्य को पकड़ लिया। सभी को बंधक बना लिया और पीटा गया। 

आबकारी टीम पर हमले की सूचना पर पुलिस टीम और यूपी 100 की गाड़ियां दौड़ीं। आरोपी के घर दबिश दी गई। महिला कांस्टेबल सुमन, बुद्धेश और पंकज को बंधन मुक्त कराया गया। 

महिला कांस्टेबल को छोड़ भागी टीम
खेड़ी मनिहार गांव में सोमवार को बड़ी वारदात हो सकती थी। जिस तरह शराब तस्कर को टीम पर हमला कर छुड़ाया गया और पथराव किया गया, उसी समय आबकारी टीम के कुछ सदस्य भाग निकले। महिला कांस्टेबल को भी वहीं छोड़ दिया गया और बचाने का प्रयास तक नहीं किया। ऐसे में महिला कांस्टेबल को बंधक बना लिया गया। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:attack on police team in meerut