ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअतीक अहमद आज ही साबरमती जेल रवाना किया जाएगा, सजा के खिलाफ वकील करेंगे ऊपरी अदालत में अपील

अतीक अहमद आज ही साबरमती जेल रवाना किया जाएगा, सजा के खिलाफ वकील करेंगे ऊपरी अदालत में अपील

उमेश पाल अपहरण केस में अतीक और उसके दो साथियों दिनेश पासी, खान सौलत हनीफ को दोषी ठहराए जाने और आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद अतीक-अशरफ के वकील हाईकोर्ट में अपील करने की तैयारी में जुट गए हैं।

अतीक अहमद आज ही साबरमती जेल रवाना किया जाएगा, सजा के खिलाफ वकील करेंगे ऊपरी अदालत में अपील
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान ,लखनऊTue, 28 Mar 2023 04:46 PM
ऐप पर पढ़ें

उमेश पाल अपहरण केस में अतीक और उसके दो साथियों दिनेश पासी, खान सौलत हनीफ को दोषी ठहराए जाने और आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद अतीक-अशरफ के वकील हाईकोर्ट में अपील करने की तैयारी में जुट गए हैं। सजा सुनाए जाने के बाद अतीक ने कोर्ट से कहा कि उसे साबरमती जेल ही भेज दिया जाए। वैसे, सजा का वारंट साबरमती जेल का बना है इसलिए अतीक को वहीं ले जाया जाएगा। बताया जा रहा है कि आज ही अतीक को रवाना कर दिया जाएगा। 30 मार्च के पहले-पहले साबरमती जेल में उसकी एंट्री करा दी जाएगी। अशरफ को बरेली जेल के लिए रवाना कर दिया गया है। हनीफ को भी चित्रकूट जेल भेजा जाएगा। 

अदालत से फैसला सुनाए जाने के बाद अतीक को नैनी जेल ले जाया जा रहा था लेकिन उसे जेल में अंदर नहीं ले जाया गया। उसे कैदी वाहन में ही बिठा कर रखा गया। ऐसा इसलिए क्‍योंकि उसे वापस साबरमती जेेल भेजे जाने को लेकर उच्‍चाधिकारियों की बैठक चल रही थी। बाद में तय हुआ कि उसे आज ही साबरमती जेल के लिए रवाना कर दिया जाएगा। 

कानूनी जानकारों के मुताबिक अतीक को साबरमती जेल भेजने के बाद यूपी पुलिस सुप्रीम कोर्ट में अपील कर सकती है कि उसे यूपी ही भेज दिया जाए। बता दें कि अतीक को कोर्ट के आदेश पर ही यूपी से दूर गुजरात की साबरमती जेल में शिफ्ट किया गया था। तब उस पर देवरिया जेल में रहते हुए लखनऊ के एक कारोबारी का अपहरण करवाने और उसे जेल में बुलाकर पिटाई कराने का आरोप लगा था। अब इस मामले में भी जल्‍द ही आरोप तय किए जा सकते हैं। सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने इस मामले में आरोपमुक्त किए जाने की अतीक और उमर की अर्जी खारिज कर दी है। अतीक जब साबरमती जेल से प्रयागराज लाया गया था तो वह विचाराधीन था लेकिन अब वह सजायाफ्ता हो चुुुका है। यानी साबरमती जेल में भी उसका स्‍टेटस अब बदल जाएगा।

बता दें कि उमेश पाल अपहरण कांड में 17 साल बाद मंगलवार को एमपी एमएलए कोर्ट ने अतीक और उसके दो साथियों को आजीवन कारावास की सजा सुना दी है। तीनों पर एक-एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगा है। बताया जा रहा है कि इस फैसले से निराश अतीक ने कहा कि यह सजा बहुत ज्‍यादा है। अतीक के वकीलों ने कहा है कि वे ऊपरी अदालत में अपील करेंगे। उधर, कोर्ट ने इस मामले में आरोपी अतीक के भाई अशरफ अहमद समेत सात आरोपियों को बरी कर दिया है। उमेश पाल के परिवार और विधायक राजू पाल की पत्‍नी पूजा पाल ने अशरफ के बरी हो जाने पर हैरानी जताई है। माना जा रहा है कि इसके खिलाफ भी हाईकोर्ट में अपील की जाएगी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें