ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशछात्रा से यौन शोषण के आरोपी असिस्‍टेंट प्रोफेसर सस्‍पेंड, डीडीयूू में आंतरिक जांच शुरू

छात्रा से यौन शोषण के आरोपी असिस्‍टेंट प्रोफेसर सस्‍पेंड, डीडीयूू में आंतरिक जांच शुरू

डीडीयू में छात्रा को टॉप करने के लिए खुश कर देने की सलाह देने वाले यौन शोषण के आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर को निलंबित कर दिया गया है। कुलपति प्रो. पूनम टंडन ने निलंबन का आदेश दिया है।

छात्रा से यौन शोषण के आरोपी असिस्‍टेंट प्रोफेसर सस्‍पेंड, डीडीयूू में आंतरिक जांच शुरू
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान,गोरखपुरSat, 10 Feb 2024 07:33 AM
ऐप पर पढ़ें

DDU Assistant Professor Accused of sexual exploitation: दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय (डीडीयू) में छात्रा को टॉप करने के लिए खुश कर देने की सलाह देने वाले यौन शोषण के आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर को निलंबित कर दिया गया है। मामले की संवेदनशीलता और गंभीरता को देखते हुए कुलपति प्रो. पूनम टंडन ने निलंबन का आदेश दिया है। आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) का भी पुनर्गठन कर दिया गया है। आईसीसी ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें: 'मुझे खुश कर दो, टॉप कर सकती हो तुम', DDU में असिस्टेंट प्रोफेसर पर छात्रा का सनसनीखेज आरोप

कुलसचिव प्रो. शांतनु रस्तोगी ने इस सम्बंध में जारी आदेश में कहा है कि विश्वविद्यालय परिनियमावली के परिनियम संख्या 16.04 एवं उसके उपबन्ध (ई) के प्रावधान के अन्तर्गत अध्यनरत छात्रा द्वारा लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोप की जांच के लिए अगले आदेश तक तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। निलंबन अवधि में असिस्टेंट प्रोफेसर का शैक्षणिक परिसर में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। निलंबन की अवधि के दौरान वे कुलसचिव कार्यालय से सम्बद्ध रहेंगे।

छात्राओं और आरोपी के बयान दर्ज नई समिति के गठन के साथ ही जांच की प्रक्रिया भी तेज कर दी गई है। शुक्रवार को अपराह्न करीब दो घंटे तक समिति ने बैठक की। सूत्रों के मुताबिक इस दौरान आरोपी असिस्टेंट प्रोफेसर को भी बुलाया गया था। आरोपी का बयान दर्ज कर लिया गया है। आरोप लगाने वाली छात्रा को भी बुलाकर बयान दर्ज किया गया है। समिति छात्राओं और आरोपी के बयान के आधार पर अपनी रिपोर्ट विश्वविद्यालय प्रशासन को सौंपेगी। सूत्रों के मुताबिक छात्रा ने समिति और विश्वविद्यालय पर भरोसा जताया कि उसके साथ न्याय होगा।

ये हैं आईसीसी में
प्राचीन इतिहास विभाग की प्रो. प्रज्ञा चतुर्वेदी को आईसीसी का अध्यक्ष बनाया गया है। अंग्रेजी विभाग के प्रो. अवनीश राय, मनोविज्ञान की डॉ रश्मि रानी, विधि विभाग की डॉ समुनलता चौधरी, लेखा विभाग से मीनावती कनौजिया, भौतिक विज्ञान विभाग के पुनीत भारती सदस्य बनाए गए हैं। मानव सेवा संस्थान के निदेशक राजेश मणि बाहरी सदस्य के रूप में नामित किए गए हैं।

यह है मामला
डीडीयू के स्नातक की छात्रा ने विज्ञान संकाय के एक असिस्टेंट प्रोफेसर पर फेवर मांगने का सनसनीखेज आरोप लगाया है। कुलाधिपति, महिला आयोग, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा और डीडीयू प्रशासन से किए गए दो पन्ने की शिकायत में उसने दावा किया है कि उसके पास शिक्षक का 23 मिनट के फोन काल की रिकॉर्डिंग है। शिक्षक द्वारा छात्रा और उसकी सहेल के साथ बैडटच का भी आरोप लगाया है।

मीडिया सेल के जरिए ही भेजें खबरें
इस मामले के लगातार मीडिया की सुर्खियां बनने के कारण डीडीयू प्रशासन भी गंभीर है। विद्यार्थियों, शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए गाइडलाइन जारी किया है। कुलसचिव प्रो. शांतनु रस्तोगी द्वारा जारी आदेश के मुताबिक शैक्षणिक, शोध तथा व्यक्तिगत उपलब्धि से सम्बंधित खबरों को मीडिया सेल को प्रेषित करें। कुलसचिव ने सभी से इसे सुनिश्चित करने के लिए कहा है।

डीडीयू मेन गेट बंद कर प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन
इस मामले को लेकर लगातार दूसरे दिन डीडीय में माहौल तनावपूर्ण रहा। आक्रोशित छात्र-छात्राओं ने अलग-अलग धरना प्रदर्शन कर अपनी मांगों को लेकर कुलपति को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कार्रवाई की मांग की।

छात्रों के समूह ने दोपहर करीब 12 बजे डीडीयू के मुख्य द्वार पर गेट बंद कर विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों के प्रदर्शन के कारण आधे घंटे तक आवागमन प्रभावित रहा। बाद में कुलपति को ज्ञापन सौंप कर कार्रवाई की मांग की। छात्र नेता सुशांत शर्मा और अंकित वर्मा ने कहा कि यह बेहद शर्मनाक घटना है। छात्र नेता योगेश प्रताप सिंह ने कहा कि इस बार लड़ाई आर-पार की होगी। इस दौरान रवि पांडेय, सत्यम यादव, अजय राव, आनंद वर्मा, अमन त्रिपाठी, शुभम शर्मा, आशीष पांडेय आदि मौजूद रहे।

कुलपति कार्यालय पर प्रदर्शन 
छात्र नेता प्रतीक त्रिपाठी के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने कुलपति कार्यालय पहुंच कर प्रदर्शन किया और कुलपति को ज्ञापन सौंपा। छात्र नेता नारायण दत्त पाठक और सत्यम गोस्वामी ने कहा कि छात्रा को न्याय मिलने तक्र आंदोलन जारी रहेगा।

एनएसयूआई ने कुलपति को सौंपा ज्ञापन
एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर कुलपति को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। इस दौरान शिवम त्रिपाठी, अंकित ओझा, ऋषिकेश त्रिपाठी, राजवीर सिंह, रिशु दुबे, कुलदीप कुमार आदि मौजूद रहे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें