ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में राहुल गांधी की यात्रा शुरू होते ही प्रियंका गांधी भी होंगी शामिल, पूर्वांचल से बुंदेलखंड पूरे रास्ते रहेंगी साथ

यूपी में राहुल गांधी की यात्रा शुरू होते ही प्रियंका गांधी भी होंगी शामिल, पूर्वांचल से बुंदेलखंड पूरे रास्ते रहेंगी साथ

यूपी में राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान पूरे रास्ते प्रियंका गांधी भी उनके साथ मौजूद रहेंगी। राहुल की यात्रा 16 फरवरी को पूर्वांचल से प्रवेश करेगी और 21 फरवरी को बुंदेलखंड पहुंचेगी।

यूपी में राहुल गांधी की यात्रा शुरू होते ही प्रियंका गांधी भी होंगी शामिल, पूर्वांचल से बुंदेलखंड पूरे रास्ते रहेंगी साथ
Yogesh Yadavभाषा,लखनऊMon, 12 Feb 2024 07:07 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' अगले हफ्ते यूपी में प्रवेश करेगी। यात्रा के यूपी में प्रवेश करते ही कांग्रेस की महासचिव और राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी भी इस यात्रा में शामिल हो जाएंगी। राहुल की यात्रा पूर्वांचल के रास्ते यूपी में प्रवेश करेगी और बुंदेलखंड के रास्ते एमपी चली जाएगी। इस दौरान यूपी में पूरे रास्ते प्रियंका गांधी भी मौजूद रहेंगी। राहुल की यूपी में यात्रा का रूट हालांकि अब बदलकर काफी छोटा कर दिया गया है। पहले इसे पूर्वी यूपी से पश्चिमी यूपी तक जाना था। लेकिन अब पू्र्वी यूपी से लखनऊ और वहां से कानपुर होते हुए झांसी के रास्ते एमपी में प्रवेश कर जाएगी। कांग्रेस के इसके पीछे यूपी बोर्ड परीक्षा को कारण बताया है। हालांकि इस रालोद के नए कदम से जोड़ा जा रहा है। रालोद का खासतौर पर पश्चिमी यूपी में वर्चस्व है। 

कांग्रेस नेताओं के अनुसार अब यह यात्रा 11 दिन के बजाय छह दिन ही उत्तर प्रदेश में रहेगी। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने सोमवार को यहां जारी एक बयान में बताया कि राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षाओं और छात्र-छात्राओं के हितों को देखते हुए राज्य में अपनी भारत जोड़ो न्याय यात्रा का समय घटा दिया है। वहीं, यूपी कांग्रेस अध्‍यक्ष अजय राय ने पीटीआई-भाषा को बताया कि उत्‍तर प्रदेश में पूरी यात्रा के दौरान राहुल गांधी के साथ उनकी बहन प्रियंका गांधी वाद्रा भी रहेंगी।

अजय राय ने पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में प्रभावशाली माने जाने वाले राष्‍ट्रीय लोकदल (रालोद) के एनडीए का हिस्सा होने से यात्रा के पश्चिमी यूपी में जाने का कार्यक्रम रद्द किये जाने सम्‍बन्‍धी अटकलों को गलत बताते हुए कहा कि रालोद के मामले से इसका कोई लेना-देना नहीं है। यात्रा के रूट और अवधि में बदलाव सिर्फ उप्र बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए किया गया है।

भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा की वेबसाइट पर दी गई सूचना के मुताबिक यात्रा को पहले लखनऊ से पश्चिमी जिला बरेली पहुंचना था। इसके बाद उसे अलीगढ़ और आगरा होते हुए राजस्‍थान कूच करना था। कांग्रेस प्रवक्‍ता अंशु अवस्‍थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में पहले यह यात्रा 16 फरवरी से 26 फरवरी तक होनी थी लेकिन आगामी 22 फरवरी को शुरू हो रही उत्तर प्रदेश बोर्ड की परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए अब यह 21 फरवरी तक ही इस राज्य में रहेगी।

उन्होंने कहा कि संवेदनशीलता की मिसाल पेश करते हुए राहुल गांधी ने कई मौकों पर जनहित को प्राथमिकता पर रखा। वह इससे पहले भी कोरोना काल में लोगों की परवाह करते हुए बंगाल में अपनी रैलियां निरस्त कर चुके हैं। 

अवस्थी ने बताया कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा आगामी 16 फरवरी को वाराणसी से उत्तर प्रदेश में प्रवेश करेगी और भदोही, प्रयागराज तथा प्रतापगढ़ के रास्ते 19 फरवरी को अमेठी पहुंचेगी। राहुल अमेठी लोकसभा क्षेत्र के गौरीगंज में जनसभा को संबोधित करेंगें। उन्होंने बताया कि यात्रा 20 फरवरी को रायबरेली और लखनऊ पंहुचेगी। लखनऊ में रात्रि विश्राम होगा। अगले दिन यह यात्रा उन्नाव पहुंचेगी और उन्नाव शहर एवं शुक्लागंज होते हुए कानपुर में प्रवेश करेगी।

कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि यात्रा कानपुर से हमीरपुर होते हुए झांसी पहुंचकर उसी दिन मध्यप्रदेश में दाखिल हो जाएगी। यह पूछे जाने पर कि समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव यात्रा में कब शामिल होंगे, अवस्थी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव के 20 फरवरी को रायबरेली जिले में भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होने और एक रोड शो में भाग लेने की संभावना है। 

छह फरवरी को अखिलेश को यात्रा में शामिल होने का निमंत्रण मिला। अखिलेश ने कहा था कि वह या तो अमेठी या रायबरेली में यात्रा में शामिल होंगे। सपा ने एक बयान में कहा कि अखिलेश यादव को 16 फरवरी को उप्र में प्रवेश करने वाली राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होने के लिए (कांग्रेस अध्यक्ष) मल्लिकार्जुन खरगे का निमंत्रण मिला है। यादव ने अमेठी या रायबरेली में यात्रा में शामिल होने की सहमति दे दी है। 

अखिलेश ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यात्रा राज्य में प्रवेश करते समय सपा की पीडीए (पिछड़ा, दलित, अल्पसंख्यक) रणनीति में शामिल होगी और सामाजिक न्याय और आपसी सद्भाव के लिए अपने आंदोलन को आगे बढ़ाएगी।